News Nation Logo

चीन की फिर गीदड़भभकी, कहा-युद्ध होने पर भारत की होगी हार

एक बार फिर से चीन ने भारत को युद्ध की धमकी दी है. पूर्वी लद्दाख में सीमा विवाद को लेकर लंबित मुद्दों पर हुई 13वें दौर की बात का जब सकारात्मक नतीजा नहीं निकला तो चीन ने युद्ध की बात करनी शुरू कर दी है.

News Nation Bureau | Edited By : Vijay Shankar | Updated on: 11 Oct 2021, 11:49:07 PM
china president

china president (Photo Credit: File Photo)

highlights

  • चीन ने वेबसाइट ग्लोबल टाइम्स में एक लेख के जरिये दी धमकी
  • चीन ने 13वें दौर की बैठक की असफलता का ठीकरा भारत पर फोड़ा
  • लेख के जरिये भारत के खिलाफ चीन की बौखलाहट साफ नजर आ रही है

 

बीजिंग:

चीन (China) लगातार अपने गीदड़भभकी से भारत (India) पर दबाव बनाने की कोशिश करता रहता है. एक बार फिर से चीन ने भारत को युद्ध (War) की धमकी (Threat) दी है. पूर्वी लद्दाख में सीमा विवाद को लेकर लंबित मुद्दों पर हुई 13वें दौर की बात का जब सकारात्मक नतीजा नहीं निकला तो चीन ने युद्ध की बात करनी शुरू कर दी है. अपनी प्रोपेगेंडा वेबसाइट ग्लोबल टाइम्स (Global Times) के जरिये बातचीत सफल नहीं होने के लिए भारत को जिम्मेदार ठहरा रहा है. चीन ने इस वेबसाइट के जरिये कहा है कि सीमा विवाद की वजह से अगर दोनों देशों के बीच युद्ध छिड़ता है तो भारत की हार होगी.

यह भी पढ़ें : जिनपिंग को मुंहतोड़ जवाब, ताइवान ने कहा- नहीं झुकेंगे चीन के सामने 

ग्लोबल टाइम्स पर एक लेख लिखा है जिसमें उसने लद्दाख में सीमा विवाद को लेकर हुई 13वें दौर की बैठक की असफलता का ठीकरा पूरी तरह से भारत पर फोड़ दिया है. इस लेख में चीन ने कहा है कि भारत सीमा पर जिस तरह की स्थिति चाहता है वह कभी नहीं होगा और इस विवाद की वजह से अगर युद्ध होता है तो भारत की हार होगी. ग्लोबल टाइम्स ने वार्ता में भारतीय रवैये को 'अवसरवादी' करार दिया है. दोनों देशों के बीच 13वें दौर की बातचीत पूर्वी लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) पर चूशुल-मोल्दो सीमा क्षेत्र में चीन की तरफ रविवार को हुई थी.14वीं कॉर्प्स कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल पीजीके मेनन और साउथ शिनजियांग मिलिट्री डिस्ट्रिक चीफ मेजर जनरल लियु लिन की अगुआई में दोनों देशों के बीच करीब साढ़े आठ घंटे तक बातचीत हुई थी. इस लेख से साफ पता चलता है कि चीन का भारत के खिलाफ क्या रुख है और वह क्या चाहता है. चीन की बौखलाहट साफ नजर आ रही है.
इस लेख में इस बात का भी जिक्र किया गया है कि अमेरिका तथा चीन के बीच बिगड़े रिश्तों का फायदा भारत उठाना चाहता है. हालांकि अपने लेख में चीन ने यह भी लिखा है कि चीन के लोग भारत को एक महाशक्ति के तौर पर देखते हैं और यह मानते हैं कि भारत के पास सीमा विवाद को लंबा खींचने की भरपूर क्षमता है. लेख में चीन ने यह भी लिखा है कि अगर चीन को सीमा विवाद की बात लंबा खींचने की जरूरत पड़ी तो वह इसे अंत तक खींचता रहेगा.  

First Published : 11 Oct 2021, 11:47:54 PM

For all the Latest World News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.