News Nation Logo
शरद पवार के साथ मुलाकात के बाद ममता ने UPA केअस्तित्व पर उठाया सवाल ममता बनर्जी आज शाहरुख़ खान से कर सकती हैं मुलाकात 'सहायक प्रजनन प्रौद्योगिकी (विनियमन) विधेयक, 2020' लोकसभा में पारित राजस्थान में कोरोना ने पकड़ी स्पीड, 17 जिलों में 365 नए मरीज 75 चित्रकार यहां 3 दिन तक महाभारत से जुड़ी पेंटिंग बनाएंगे: हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर अंतरराष्ट्रीय गीता महोत्सव (कुरुक्षेत्र) पर देश, विदेश के 3,700 कलाकार यहां आएंगे: मनोहर लाल खट्टर देश को एक मज़बूत वैकल्पिक फोर्स की जरूरत है: ममता बनर्जी मैं महाराष्ट्र में उद्धव ठाकरे और शरद पवार से मुलाक़ात करने के लिए आईं थीं: ममता बनर्जी कोविड के दोनों डोज लगे हैं, तो बिना RT-PCR के महाराष्ट्र में यात्रा करने की अनुमति अक्टूबर 2020 से अक्टूबर 2021 तक 32 जवान शहीद, गृह मंत्रालय ने संसद में दी जानकारी जम्मू-कश्मीर में आतंकी गतिविधियां कम हुईं दिल्ली कैबिनेट का बड़ा फैसला, दिल्ली में पेट्रोल 8 रुपए सस्ता आईआरएस अधिकारी विवेक जौहरी ने CBIC के अध्यक्ष के रूप में कार्यभार संभाला निलंबित 12 विपक्षी सदस्य (राज्यसभा) निलंबन के विरोध में संसद में गांधी प्रतिमा के सामने धरने पर बैठे प्रश्नकाल के दौरान कांग्रेस और द्रमुक सांसदों ने लोकसभा से वाक आउट किया दिसंबर के पहले दिन ही महंगाई की मार, महंगा हो गया कॉमर्श‍ियल LPG सिलेंडर कोरोना के नए वेरिएंट ओमिक्रॉन पर आज लोकसभा में होगी चर्चा UPTET पेपर लीक मामले में परीक्षा नियामक प्राधिकारी संजय उपाध्याय गिरफ्तार संसद भवन के कमरा नंबर 59 में लगी आग, बुझाने की कोशिश जारी पुलवामा एनकाउंटर में दो आतंकी ढेर, सर्च ऑपरेशन जारी

चीन का उइगर मुसलमानों पर अत्याचार का पर्दाफाश, कंसन्ट्रेशन कैंप में क्रूरता का सबूत आया सामने

चीन के खिलाफ ताजा और पुख्ता सबूत सामने आए हैं जो उइगरों पर कड़ी निगरानी, ​​धमकी और उत्पीड़न को साफ दर्शाता है. एक कार्यकर्ता गुआन द्वारा शूट किया गया लगभग 20 मिनट लंबा एक वीडियो है जिसमें चीन की क्रूर वास्तविकता को कैद किया गया है.

News Nation Bureau | Edited By : Vijay Shankar | Updated on: 21 Nov 2021, 11:15:25 AM
uighur muslims camp

uighur muslims camp (Photo Credit: Dailymail )

highlights

  • इस क्रूर सलूक को लेकर अब चीन फिर से सुर्खियों में है
  • जान की बाजी लगाकर एक बहादुर कार्यकर्ता ने किया फिल्म शूट
  • कंसन्ट्रेशन कैंप में उइगर मुसलमानों पर किया जा रहा क्रूरतापूर्वक सलूक

बीजिंग:

चीन में उइगर मुसलमानों पर अत्याचार को लेकर एक बड़ा खुलासा हुआ है. सामने आए वीडियो में देखा जा रहा है कि कंसन्ट्रेशन कैंप में उइगर मुसलमानों पर किस तरह क्रूरता किया जा रहा है. जान की बाजी लगाकर एक बहादुर कार्यकर्ता द्वारा गुप्त रूप से फिल्माए गए वीडियो में इस खतरनाक दृश्य को देखा जा सकता है. पूरे विश्व में कोरोनो वायरस महामारी फैलने और ताइवान के साथ बढ़ते तनाव के बाद अब चीन फिर से सुर्खियों में है. यहां के शिनजियांग प्रांत के एक कंसन्ट्रेशन कैंप में अल्पसंख्यक उइगर मुसलमानों पर क्रूरतापूर्वक सलूक किया जा रहा है. चीन के खिलाफ ताजा और पुख्ता सबूत सामने आए हैं जो उइगरों पर कड़ी निगरानी, ​​धमकी और उत्पीड़न को साफ दर्शाता है. एक कार्यकर्ता गुआन द्वारा शूट किया गया लगभग 20 मिनट लंबा एक वीडियो है जिसमें चीन की क्रूर वास्तविकता को कैद किया गया है. इस वीडियो में देखा जा सकता है कि कैसे शी जिनपिंग के नेतृत्व वाली सरकार उइगरों पर क्रूर अत्याचार कर रही है.

YouTube पर अपलोड किया गया था वीडियो

यह वीडियो अक्टूबर की शुरुआत में YouTube पर अपलोड किया गया था. गुआन ने कहा, चीनी सरकार के प्रतिबंधों के कारण विदेशी पत्रकार साक्षात्कार के लिए शिनजियांग तक मुश्किल से पहुंच पाते हैं. रेडियो फ्री एशिया की एक रिपोर्ट के अनुसार, वीडियो की शुरुआत में उन्होंने कहा कि चीनी सरकार ने झिंजियांग प्रांत में कंसन्ट्रेशन कैंप स्थापित किए हैं, जहां स्थानीय अल्पसंख्यकों और असंतुष्टों को बिना किसी मुकदमे के कैद किया जाता है. डेली मेल की एक रिपोर्ट के अनुसार, शिनजियांग की अपनी यात्रा के दौरान, गुआन ने कुल आठ शहरों की यात्रा की और 18 ऐसे कंसन्ट्रेशन कैंप की खोज की.

जान जोखिम में डालकर किया गया फिल्म शूट

रिपोर्ट में कहा गया है कि इन शिविरों में से कई के नक्शे पर अचिह्नित होने के बावजूद कार्यकर्ता जेल की दीवारों के अंदर कांटेदार तारों, निगरानी के अंदर बने टावरों, सैन्य वाहनों और पैदल रास्तों को फिल्माने में किसी तरफ सफल हुआ. पूर्वी झिंजियांग के हामी में गुआन ने हामी कंपल्सरी आइसोलेटेड ड्रग रिहैबिलिटेशन सेंटर की यात्रा की, जिस पर उन्हें संदेह है कि यह एक कंसन्ट्रेशन कैंप है. रेडियो फ्री एशिया की रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि दूसरी ओर उरुमकी में वह एक सड़क पर आया, जिसमें कई इमारतें थीं, जिनमें वॉचटावर और ऊंची बाड़ थी, जिसके ऊपर कांटेदार तार लगे थे.

उइगर मुसलमानों पर अत्याचार को लेकर चीन करता रहा है इनकार

वर्षों से चीन ने उइगर समुदाय के खिलाफ किसी भी गलत काम करने को लेकर इनकार किया है और कहा है कि शिनजियांग में इस्लामी उग्रवाद के खिलाफ लड़ने के लिए कंसन्ट्रेशन कैंप जिसे सरकार पुनर्शिक्षा शिविर कहती है, स्थापित किए गए हैं. हालांकि, कई मानवाधिकार समूहों ने दावा किया है कि चीन उइगरों को सामूहिक निरोध शिविरों में भेज रहा है और उनकी धार्मिक प्रथाओं में हस्तक्षेप कर रहा है. साथ ही समुदाय की महिलाओं की नसबंदी कर रहा है.

First Published : 21 Nov 2021, 11:13:09 AM

For all the Latest World News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो