News Nation Logo
Banner

जी-20 विशेष शिखर सम्मेलन के प्रस्तावों पर अमल करेगा चीन

चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता कंग श्वांग ने शुक्रवार को पेइचिंग में कहा कि कोरोना वायरस के मुकाबले में जी-20 विशेष शिखर सम्मेलन का गुरुवार (26 मार्च)को सफलतापूर्ण आयोजन किया गया.

IANS | Updated on: 28 Mar 2020, 11:54:15 PM
corona

प्रतीकात्मक फोटो। (Photo Credit: फाइल फोटो)

बीजिंग:

चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता कंग श्वांग ने शुक्रवार को पेइचिंग में कहा कि कोरोना वायरस के मुकाबले में जी-20 विशेष शिखर सम्मेलन का गुरुवार (26 मार्च)को सफलतापूर्ण आयोजन किया गया. शिखर सम्मेलन ने जी-20 के सदस्य देशों द्वारा एकजुट होकर महामारी की चुनौती का निपटारा करने और विश्व आर्थिक स्थिरता की रक्षा करने का सक्रिय सिग्नल दिया. चीन अंतर्राष्ट्रीय समुदाय के साथ जी-20 शिखर सम्मेलन की उपलब्धियों का अच्छी तरह अंजाम देगा.

यह भी पढ़ें- टाटा ट्रस्ट, टाटा संस ने कोविड-19 से लड़ने 1500 करोड़ रुपये घोषित किए

जी-20 के सम्मेलन में 50 खरब अमेरिकी डॉलर की योजना को पारित कर वैश्विक आर्थिक विकास को बढ़ावा देने की घोषणा की गई. कंग श्वांग ने कहा कि कोरोना वायरस के प्रकोप से चीन सरकार ने आर्थिक स्थिरता के लिए सिलसिलेवार वित्तीय नीतियां पेश की हैं.

शिखर सम्मेलन में पारित घोषणा विभिन्न देशों द्वारा अपनायी गयी नीतियों या अपनाने वाली नीतियों का संग्रह है. चीन के संबंधित कदम वैश्विक महामारी मुकाबला और आर्थिक स्थिरता के अहम भाग हैं.

यह भी पढ़ें- कोरोना का टीका भारत में बनकर होगा तैयार! वैज्ञानिकों ने बढ़ाया कदम 

कंग श्वांग ने कहा कि इने गिने देश ने संयुक्त राष्ट्र संघ के ढांचे के बाहर एकतरफा दौर पर पाबंदी लगायी और संयुक्त राष्ट्र चार्टर और अंतर्राष्ट्रीय कानून के बुनियादी नियमों का उल्लंघन किया है. चीन इस का दृढ़ विरोध करता है. पाबंदी लगाने से संबंधित देश और अंतरराष्ट्रीय समुदाय के महामारी से मुकाबले पर गंभीर असर पड़ता है, जो मानवीय भावना का उल्लंघन करता है. चीन संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंटोनियो गुटरेस की अपील का समर्थन करता है और संबंधित देश के खिलाफ एकतरफा तौर पर पाबंदी को उठाने की अपील करता है.

First Published : 28 Mar 2020, 11:54:15 PM

For all the Latest World News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

×