News Nation Logo

काबुल में ग‌र्ल्स स्कूल के बाहर विस्फोट, अब तक 55 की मौत

लड़कियों के एक स्कूल के नजदीक देर शाम हुए बम विस्फोट में अबतक 55 लोगों की मौत हो गई है. मारे गए लोगों में ज्यादातर 11 से 15 साल के बच्चे हैं.

News Nation Bureau | Edited By : Nihar Saxena | Updated on: 09 May 2021, 11:03:38 AM
Kabul

राष्ट्रपति अशरफ गनी ने तालिबान को ठहराया जिम्मेदार. (Photo Credit: न्यूज नेशन)

highlights

  • मृतकों में ज्यादातर 11 से 15 साल के बच्चे
  • घटना में 50 से ज्यादा लोग घायल हुए
  • अशरफ गनी ने तालिबान को ठहराया जिम्मेवार

काबुल:

अफगानिस्तान (Afghanistan) की राजधानी काबुल के पश्चिमी इलाके में स्थित लड़कियों के एक स्कूल के नजदीक देर शाम हुए बम विस्फोट में अबतक 55 लोगों की मौत हो गई है. मारे गए लोगों में ज्यादातर 11 से 15 साल के बच्चे हैं, जिनमें बड़ी संख्या ग‌र्ल्स स्कूल की छात्राओं की है. घटना में 50 से ज्यादा लोग घायल हुए हैं. राष्ट्रपति अशरफ गनी (Ashraf Ghani) ने हमले के लिए तालिबान (Taliban) के एक धड़े को जिम्मेदार ठहराया है जबकि तालिबान ने इस हमले की निंदा की है और इसमें अपना हाथ होने से इन्कार किया है. गृह मंत्रालय के प्रवक्ता तारिक आरियन के अनुसार घटना की जांच शुरू हो गई है. मरने वालों की तादाद बढ़ सकती है. जिस इलाके में यह विस्फोट हुआ है उसमें बड़ी संख्या में शिया मुसलमान रहते हैं. इस लिहाज से शक आतंकी संगठन आईएस पर भी जा रहा है.

आईएस पर भी शक की सुई
अफगानिस्तान में पैर जमाने के लिए आईएस ने हाल के वर्षो में इस तरह की कई सनसनीखेज वारदात की हैं. जिस स्कूल के नजदीक विस्फोट हुआ है उसका नाम सैयद अल-शाहदा स्कूल है. इस स्कूल की इमारत को भी विस्फोट से नुकसान हुआ है. नजदीक रहने वाले नासर रहीमी के अनुसार एक के बाद एक, तीन विस्फोटों की आवाज सुनी गईं और उसके बाद इलाके में चीख-पुकार मच गई. धूल का गुबार छंटने पर जब लोग मौके पर पहुंचे तो वहां लाशें और अंग बिखरे पड़े थे. जहां-तहां पड़े घायल मदद के लिए चिल्ला रहे थे. इसके बाद उपलब्ध साधनों और एंबुलेंस से घायलों को नजदीक के अस्पतालों में ले जाया गया.

यह भी पढ़ेंः नया वेरिएंट, लापरवाही, सुस्त टीकाकरण... WHO ने बताए कोरोना कहर के कारण

एक सुन्नी धड़े ने भी युद्ध छेड़ने की बात की थी
हाल ही में अफगानिस्तान के सुन्नी मुस्लिमों के एक कट्टरपंथी समूह ने देश में शिया मुस्लिमों के खिलाफ युद्ध छेड़ने का ऐलान किया था. शक उस पर भी किया जा रहा है, लेकिन अमेरिका इस तरह के हमले के लिए पूर्व में आईएस की ओर उंगली उठा चुका है. इस धमाके की असल वजह का अभी पता नहीं चल पाया है लेकिन कुछ स्थानीय मीडिया के अनुसार यह धमाका रॉकेट की वजह से हुआ, जबकि अन्य रिपोर्ट के मुताबिक यह विस्फोट कार बम के कारण हुआ. टेलीविजन पर आ रही तस्वीरों में यहां-वहां पड़े स्कूल बैग और जली हुई गाड़ियां और खून से सनी हुई स्कूली किताबें और लोग अपने रिश्तेदारों को ढूंढते नजर आ रहे हैं.

LIVE TV NN

NS

NS

First Published : 09 May 2021, 10:56:27 AM

For all the Latest World News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.