News Nation Logo
Banner
Banner

दक्षिण कोरिया और उत्तर कोरिया के बीच कड़वाहट हुई कम, बहाल हुईं हॉटलाइन सेवाएं 

उत्तर कोरिया और दक्षिण कोरिया के बीच बीते लंबे अंतराल से तनावपूर्ण रिश्ते देखे गए,  मगर अब बर्फ पिघलती दिखाई दे रही है. सियोल की ओर से सोमवार को सूचना दी गई है कि उत्तर और दक्षिण कोरिया ने अपनी हॉटलाइन सेवाएं बहाल कर दी हैं.

News Nation Bureau | Edited By : Vijay Shankar | Updated on: 04 Oct 2021, 07:12:30 PM

highlights

  • लंबे समय से चल रहा उत्तर कोरिया और दक्षिण कोरिया में रिश्ते तनावपूर्ण
  • अगस्त महीने में हॉटलाइन सेवाओं को बंद कर दिया गया था
  • दक्षिण कोरिया के मंत्रालय ने बेहतर संबंध की उम्मीद जताई

 

सियोल:

उत्तर कोरिया और दक्षिण कोरिया के बीच बीते लंबे अंतराल से तनावपूर्ण रिश्ते देखे गए,  मगर अब बर्फ पिघलती दिखाई दे रही है. सियोल की ओर से सोमवार को सूचना दी गई है कि उत्तर और दक्षिण कोरिया ने अपनी हॉटलाइन सेवाएं बहाल कर दी हैं. अगस्त में हॉटलाइन सेवाओं को बंद करने के बाद सोमवार को पहली बार फोन कॉल का आदान-प्रदान किया गया. दक्षिण कोरिया के मंत्रालय द्वारा जारी वीडियो के अनुसार, सियोल के अधिकारी ने एक चैनल पर अपने उत्तर कोरियाई समकक्ष के साथ फोन पर बातचीत के दौरान कहा कि लंबे समय से कोई बातचीत नहीं हुई थी. हम खुश हैं कि हमारे संचार चैनल इस तरह बहाल हुए. हम उम्मीद करते हैं कि दक्षिण और उत्तर कोरिया के बीच संबंध नए स्तर पर विकसित होंगे. 

यह भी पढ़ें : अमेरिका से तनाव के बीच उत्तर कोरिया ने किया लंबी दूरी की क्रूज मिसाइल का परीक्षण

जानकारियों का आदान-प्रदान किया गया

इस दौरान वीडियो में उत्तर कोरिया की ओर से कोई वक्तव्य जारी नहीं करा गया. सियोल के रक्षा मंत्रालय के अनुसार एक अलग सैन्य चैनल पर, दोनों कोरियाई देशों ने अपनी विवादित पश्चिमी समुद्री सीमा के पास मछली पकड़ने की गतिविधियों के बारे में जानकारी का आदान-प्रदान किया, जहां बीते वर्षों में कई अंतर-कोरियाई हिंसक नौसैनिक युद्ध हुए हैं. इन गतिविधियों को रोकने के लिए जानकारियों का आदान-प्रदान किया गया. 

छोड़ने होंगे दोहरे मापदंड

दक्षिण कोरिया ने रविवार को पड़ोसी देश की ओर से आए बयान का स्वागत किया है. इस बयान में कहा गया था कि वो वार्ता शुरू करने का राजी है. किम जोंग का बयान उस समय आया है कि जब उत्तर कोरिया ने अमरीका और दक्षिण कोरिया से अपील की थी कि दोनों देश अपनी दुश्‍मनी की नीति को पूरी तरह से खत्म कर दें. किम ने कहा था कि अगर 1950-53 से जारी कोरियाई युद्ध को खत्म करने के लिए औपचारिक वार्ता का आयोजन होता है तो अमरीका और दक्षिण कोरिया को उनके देश के लिए दोहरे मापदंडों को पूरी तरह से त्यागना होगा. 

संबंधों में स्थिरता आएगी

उत्तर कोरिया लगातार परमाणु हथियारों का परीक्षण करता रहा है. इस कारण उपमहाद्वीप पर तनाव का दौर जारी है. किम जोंग की बहन किम यो जोंग की ओर से इस पर टिप्‍पणी की गई थी. उन्होंने कहा था कि एक सही रवैया और अपक्षपाती व्यवहार ही उत्तर कोरिया और दक्षिण कोरिया के रिश्‍तों को मजबूत कर सकता है. किम जोंग उन ने अमरीका की तरफ से की गई चर्चा की पेशकश मात्र दिखावा बताया है. मगर किम का मानना है कि हॉटलाइन बहाल होने पर दक्षिण कोरिया के साथ संबंधों में स्थिरता आएगी. 

First Published : 04 Oct 2021, 05:41:56 PM

For all the Latest World News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो