News Nation Logo

एशियाई लोगों के खिलाफ हिंसा रोकने के लिए US में राष्ट्रपति को भेजा गया विधेयक

अमेरिकी सदन ने मंगलवार को देश में एशियाई मूल के लोगों के खिलाफ दुर्भावनापूर्ण अपराधों को रोकने के लिए भारी बहुमत के साथ एक विधेयक पारित कर दिया. इस विधेयक को हस्ताक्षर के लिए राष्ट्रपति जो बाइडन के पास भेजा गया है.

News Nation Bureau | Edited By : Ravindra Singh | Updated on: 19 May 2021, 06:18:02 PM
joe biden

जो बाइडेन (Photo Credit: आईएएनएस)

highlights

  • US में एशियाई लोगों के खिलाफ अपराध रोकने का प्रस्ताव पारित
  • अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडेन के पास भेजा गया प्रस्ताव
  • अमेरिकी सीनेट ने पिछले महीने 94-1 वोट से बिल को दी थी मंजूरी

नई दिल्ली:

अमेरिकी सदन ने मंगलवार को देश में एशियाई मूल के लोगों के खिलाफ दुर्भावनापूर्ण अपराधों को रोकने के लिए भारी बहुमत के साथ एक विधेयक पारित कर दिया. इस विधेयक को हस्ताक्षर के लिए राष्ट्रपति जो बाइडन के पास भेजा गया है. सिन्हुआ की रिपोर्ट के अनुसार, कोविड हेट क्राइम एक्ट सदन में 364-62 वोटों में पारित हुआ, जिसमें रिपब्लिकन से कोई वोट नहीं आया. सीनेट ने पिछले महीने 94-1 वोट से बिल को मंजूरी दी थी, जिसमें मिसौरी के जीओपी सीनेटर जोश हॉले ने अकेले वोट नहीं डाला था. उम्मीद की जा रही है कि बाइडन गुरुवार को विधेयक पर हस्ताक्षर कर देंगे.

जूडी चू, कैलिफोर्निया से डेमोक्रेटिक कांग्रेस की महिला और कांग्रेस के एशियाई प्रशांत अमेरिकी कॉकस के अध्यक्ष ने मतदान से पहले संवाददाताओं से कहा,एशियाई अमेरिकी समुदाय के खिलाफ होने वाले अपराधों को रोकने के लिए एक साल बाद, आज कांग्रेस लंबे समय से लंबित घृणा अपराध कानून पारित करने के लिए ऐतिहासिक कार्रवाई कर रही है और राष्ट्रपति बाइडन की मेज पर विधेयक भेज रही है. 

यह भी पढ़ेंःPM मोदी और US प्रेसिडेंट बाइडेन के बीच कोरोना को लेकर टेलीफोन पर हुई बात

डेमोक्रेटिक सीनेटर माजी हिरोनो के साथ कानून बनाने वाली डेमोक्रेटिक कांग्रेस की महिला ग्रेस मेंग ने मंगलवार को संवाददाता सम्मेलन में कहा, पिछले डेढ़ साल में एशियाई-अमेरिकी समुदाय के खिलाफ घृणा और हिंसा के घृणित कृत्यों द्वारा चिह्न्ति दर्द और संघर्ष में से एक रहा है. मेंग ने कहा, कोविड -19 के प्रकोप के लिए एशियाई मूल के लोगों को दोषी ठहरा कर बलि का बकरा बनाया गया और एशियाई अमेरिकियों को पीटा, मारा गया, उन पर थूक दिया गया और यहां तक कि आग लगा दी गई और उन्हें मार दिया गया.

यह भी पढ़ेंःपीएम मोदी ने अमेरिकी राष्ट्रपति बाइडेन का निमंत्रण किया स्वीकार, Climate Summit में होंगे शामिल

कानून कोविड-19 से संबंधित घृणा अपराधों की समीक्षा में तेजी लाने के लिए न्याय विभाग में एक स्थिति पैदा करेगा; घृणा अपराधों की रिपोर्ट करने और घृणा अपराधों को रोकने और पहचानने के उद्देश्य से कानून प्रवर्तन प्रशिक्षण के लिए हॉटलाइन बनाने के लिए राज्यों को अनुदान प्रदान करना; और महामारी के दौरान घृणा अपराधों के बारे में जागरूकता बढ़ाने में मदद करने के लिए सामुदायिक संगठनों के साथ काम करने के लिए संघीय एजेंसियों को निर्देशित करेंगा.

हाउस स्पीकर नैन्सी पेलोसी ने मंगलवार को कहा, कोविड-19 हेट क्राइम एक्ट, विरोधी-एएहीआई हिंसा को रोकने और मुकाबला करने के लिए हमारे बचाव को मजबूत करेगा और राष्ट्रपति बाइडन द्वारा पहले से उठाए गए कदमों का निर्माण करेगा. साथ ही इन कार्यों से न केवल अमेरिका में घृणा अपराधों को संबोधित करने में महामरी के दौरान ही जरूरी बदलाव नहीं आएगा बल्कि आगे आने वाले सालों में भी बदलाव आएगा. कैलिफोर्निया स्टेट यूनिवर्सिटी सैन बर्नार्डिनो में सेंटर फॉर द स्टडी ऑफ हेट एंड एक्सट्रीमिज्म द्वारा हाल ही में किए गए एक अध्ययन से पता चला है कि देश के 16 सबसे बड़े शहरों और काउंटियों में एशियाई अमेरिकियों के खिलाफ घृणा अपराधों में पिछले साल से 164 प्रतिशत की बढ़ोतरी हुई है.

LIVE TV NN

NS

NS

First Published : 19 May 2021, 06:14:07 PM

For all the Latest World News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.