News Nation Logo

ह्यू्स्टन में पाकिस्तान के बलूच, सिंधी और पश्तो समूह का भी जमावड़ा, मोदी-ट्रंप से मांगेंगे मदद

पाकिस्तान के अत्याचार से त्रस्त सिंधी, बलूच और पश्तो समुदायों का प्रतिनिधित्व करने वालों की नजरें भी हाउडी मोदी शो पर टिकी हैं. यह सभी पाकिस्तान से अपनी आजादी की मांग लंबे समय से कर रहे हैं.

By : Nihar Saxena | Updated on: 22 Sep 2019, 08:49:43 AM
पाकिस्तान से आजादी की मांग कर रहे पाकिस्तान के बलूच, पश्तो और सिंधी.

पाकिस्तान से आजादी की मांग कर रहे पाकिस्तान के बलूच, पश्तो और सिंधी.

highlights

  • ह्यूस्टन में पाकिस्तान के बलूच, सिंधी और पश्तो समुदाय के लोग पहुंचे.
  • मोदी और ट्रंप से पाकिस्तान से आजादी दिलाने में मदद का मांगेगे समर्थन.
  • ईशनिंदा और जबरन धर्मांतरण के साथ पाक सेना के अत्याचारों से त्रस्त हैं.

ह्यूस्टन:

रविवार को ह्यूस्टन में पीएम नरेंद्र मोदी और अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की साझा मौजूदगी वाले हाउडी मोदी कार्यक्रम की तरफ सिर्फ भारतीयों या अमेरिकी भारतीय समुदाय की ही निगाहें नहीं लगी हैं. इस भव्य कार्यक्रम पर पाकिस्तान के अत्याचार से त्रस्त सिंधी, बलूच और पश्तो समुदायों का प्रतिनिधित्व करने वालों की नजरें भी टिकी हैं. यह सभी पाकिस्तान से अपनी आजादी की मांग लंबे समय से कर रहे हैं और ह्यूस्टन में मोदी और ट्रंप से इस मामले पर मदद मांगने की कोशिश करेंगे. इसके लिए ये एनआरजी स्टेडियम के सामने हाथों में पोस्टर-बैनर लेकर तैनात हो गए हैं.

यह भी पढ़ेंः पोप के बाद पीएम मोदी के लिए जुटेगी सबसे बड़ी भीड़, ह्यूस्टन है जोश में; भव्‍य होगा Howdy Modi

पाकिस्तान हुक्मरानों के अत्याचार से त्रस्त हैं अल्पसंख्यक
ह्यूस्टन से पहले जेनेवा, न्यूयॉर्क और संयुक्त राष्ट्र में पाकिस्तान के अल्पसंख्यक समुदाय के प्रतिनिधि ईशनिंदा कानून के दुरुपयोग समेत जबरन धर्मांतरण और पाकिस्तान सेना के बलात अपहरण से जुड़ी ज्यादितियों पर अपनी आवाज बुलंद कर चुके हैं. ह्यूस्टन में भी बलूच अमेरिकी, सिंधी अमेरिकी और पश्तो अमेरिकी समुदायों के हजारों सदस्य सामूहिक रूप से मोदी और ट्रंप से आग्रह करेंगे कि वह उन्हें पाकिस्तान से आजादी दिलाने में मदद करें.

यह भी पढ़ेंः अमेरिका के ह्यूस्टन पहुंचे पीएम नरेंद्र मोदी, आज NRG स्टेडियम में गूंजेगा नमो-नमो

पाकिस्तान से आजादी की मांग है मुख्य मुद्दा
बलूच नेशनल मूवमेंट के अमेरिकी प्रतिनिधि नबी बक्शा बलूच ने कहा, 'हमें पाकिस्तान से आजादी चाहिए. भारत और अमेरिका को हमारी उसी तरह से मदद करनी चाहिए, जैसे 1971 में भारत ने बांग्लादेश के लोगों की मदद की थी.' उन्होंने कहा कि हम यहां प्रधानमंत्री मोदी और राष्ट्रपति ट्रंप से अनुरोध करेंगे कि वे हमारा समर्थन करें. पाकिस्तानी सरकार द्वारा बलूच लोगों के खिलाफ मानवाधिकारों का घोर उल्लंघन किया गया है.

For all the Latest World News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

First Published : 22 Sep 2019, 08:47:16 AM