News Nation Logo
Banner

बगदादी का उत्‍तराधिकारी भी मारा गया, डोनाल्‍ड ट्रंप ने किया दावा

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने इस बात का दावा किया है कि अबू बक्र अल बगदादी के नंबर एक उत्‍तराधिकारी को भी अमेरिकी सैनिकों ने ढेर कर दिया है.

By : Drigraj Madheshia | Updated on: 29 Oct 2019, 07:33:40 PM
डोनाल्‍ड ट्रंप

डोनाल्‍ड ट्रंप (Photo Credit: फाइल)

नई दिल्‍ली:

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने इस बात का दावा किया है कि  अबू बक्र अल बगदादी के नंबर एक उत्‍तराधिकारी को भी अमेरिकी सैनिकों ने ढेर कर दिया है. ट्रंप ने रविवार को घोषणा की थी कि इस्लामिक स्टेट (आईएसआईएस) सरगना अबू बकर अल बगदादी शनिवार को उत्तर-पश्चिमी सीरिया में अमेरिका के विशेष बलों की कार्रवाई में मारा गया. राष्ट्रपति ट्रंप ने बगदादी के मारे जाने की घोषणा के बाद पत्रकारों से कहा. 'हम उसके उत्तराधिकारियों के बारे में जानते हैं और उन पर हमारी नजर है.'

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, ऐसा माना जा रहा था कि सद्दाम हुसैन की सेना के पूर्व अधिकारी अब्दुल्ला करदश को अब IS का नया प्रमुख बनाया जाएगा. हालांकि सद्दाम के दाहिने हाथ कहे जाने वाले करदश के बारे में अभी ज्यादा जानकारी मौजूद नहीं है. माना जाता है कि हाजी अब्दुल्ला अल अफारी या प्रोफेसर के नाम से मशहूर करदश को बगदादी ने आईएसआईएस के कथित 'मुस्लिम मामलों' का विभाग चलाने के लिए खुद चुना था. बता दें कि न्यूज़ वीक की खबर के मुताबिक, बगदादी की मौत के बाद प्रोफेसर को आईएसआईएस की कमान मिली है. अब ट्रंप के दावे की बात करें तो अमेरिकी सेना ने इसे भी ढेर कर दिया है.

बता दें आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट (IS) का सरगना अबू बक्र अल बगदादी शनिवार को अपने तीन बेटों के साथ मारा गया. बगदादी को मारने के लिए अमेरिका ने एक सैन्य अभियान चलाया जिसके बाद उसे यह बड़ी कामयाबी हाथ लगी. न्यूज एजेंसी रॉयटर्स की एक रिपोर्ट में इराकी रक्षा अधिकारियों ने बताया कि, 'इराकी खुफिया एजेंसियों को लंबे समय से बगदादी की तलाश थी. इन एजेंसियों को फरवरी 2018 में बगदादी के एक सहयोगी से उसके ठिकानों और आवाजाही से संबंधित बड़ी जानकारी हासिल कर ली थी.' तुर्की ने इस्माल अल -इथावी नाम के बगदादी के इस सहयोगी को गिरफ्तार करके इराक को सौंपा था. 

एक इराकी रक्षा अधिकारी ने मीडिया से बात चीत में बताया कि, ’इथावी ने अहम जानकारी दी थी, जिससे इराकी मल्टी-सिक्योरिटी एजेंसीज टीम को बगदादी की आवाजाही और उसके छिपने के ठिकानों से जुड़ी पहेली सुलझाने में मदद मिली थी.’  अधिकारी ने आगे बताया कि, 'इथावी ने हमें खुद को मिलाकर उन 5 लोगों के बारे में जानकारी दी जो सीरिया में बगदादी से मिल रहे थे, उसने इन लोगों द्वारा इस्तेमाल की गई जगहों के बारे में भी बताया था.' इथावी ने अधिकारियों को बताया था कि बगदादी पकड़े जाने से बचने के लिए सब्जियों से भरी मिनी बस का प्रयोग अपने लड़ाकों के साथ करता था.'

यह भी पढ़ें-अमेजन के संस्थापक बेजोस फिर बने दुनिया के सबसे अमीर व्यक्ति

आपको बता दें कि इथावी इस्लामिक साइंस में PHD था और एजेंसियां बगदादी के 5 बड़े सहयोगियों में से इथावी को एक मानती थीं. इराकी रक्षा अधिकारियों ने बताया कि, इथावी साल 2006 में अलकायदा में शामिल हुआ था, साल 2008 में अमेरिकी फौजों ने इथावली को गिरफ्तार किया था और उसे 4 साल के लिए जेल भेज दिया था. बगदादी ने इथावी को ‘धार्मिक निर्देश’ देने और इस्लामिक स्टेट कमांडरों के चयन जैसी बड़ी जिम्मेदारियां सौंपी थीं. साल 2017 में जब इस आतंकी संगठन का बड़ा हिस्सा बिखर गया, तो इथावी अपनी सीरियाई पत्नी के साथ सीरिया भाग गया.

यह भी पढ़ें-पाक के पूर्व पीएम नवाज शरीफ को दूसरे भ्रष्टाचार मामले में 29 अक्टूबर तक जमानत मिली

इस अधिकारी ने आगे बताया कि, साल 2019 के बीच में उन्हें इस बात का पता चला था कि बगदादी सीरिया (इदलिब) के गांवों में अपने परिवार और 3 करीबी सहयोगियों के साथ आवाजाही कर रहा था. इसके बाद इथावी की मदद से उस घर का पता लगाया गया जहां बगदादी ठहरा हुआ था. अधिकारियों ने यह जानकारी CIA को दे दी, जिसने पिछले 5 महीनों में एक सेटेलाइट और ड्रोन के जरिए उस लोकेशन की निगरानी की. हाल में ही बगदादी अपने परिवार के साथ सब्जियों वाली मिनी बस में सवार होकर एक गांव पहुंचा और वहीं पर वो अपने तीन बेटों के साथ अमेरिकी फौजों के हाथों मारा गया. 

First Published : 29 Oct 2019, 07:23:11 PM

For all the Latest World News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो