News Nation Logo

अमेरिका ने भी भारत को शक्तिशाली माना, साथ काम करने को उत्सुक

अमेरिका (America) क्षेत्रीय और वैश्विक शक्ति के रूप में उभरते भारत का स्वागत करता है. अमेरिका के विदेश मंत्रालय की ओर से नयी दिल्ली में 2+2 मंत्रीस्तरीय बैठक से पहले यह कहा गया.

News Nation Bureau | Edited By : Nihar Saxena | Updated on: 26 Oct 2020, 09:33:43 AM
Modi Trump

अमेरिका भारत के साथ प्रत्येक क्षेत्र में मिलकर करेगा काम. (Photo Credit: न्यूज नेशन)

नई दिल्ली:

अमेरिका (America) क्षेत्रीय और वैश्विक शक्ति के रूप में उभरते भारत का स्वागत करता है. अमेरिका के विदेश मंत्रालय की ओर से नयी दिल्ली में 2+2 मंत्रीस्तरीय बैठक से पहले यह कहा गया. उसने यह भी कहा कि भारत के एक जनवरी 2021 से शुरू हो रहे यूएनएससी के कार्यकाल के दौरान अमेरिका उसके साथ काम करने को लेकर भी उत्सुक है. अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पॉम्पिओ (Mike Pompeo) 2 + 2 की बैठक का हिस्सा लेने के लिए भारत के लिए रवाना हो चुके हैं. ये बैठक चीन के बढ़ते वैश्विक प्रभाव का मुकाबला करने पर काफी हद तक ध्यान केंद्रित किया जाएगा.

अमेरिका ने जारी की फैक्ट शीट
भारत और अमेरिका के बीच नयी दिल्ली में होने जा रही तीसरी 2+2 मंत्रीस्तरीय बैठक से पहले विदेश मंत्रालय की ओर से एक फैक्ट शीट में कहा गया, ‘भारत के एक क्षेत्रीय और वैश्विक शक्ति बनकर उभरने का अमेरिका स्वागत करता है. अमेरिका संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में भारत के आगामी कार्यकाल के दौरान उसके साथ निकटता से काम करने को भी उत्सुक है.’ बातचीत के लिए अमेरिकी रक्षा मंत्री मार्क टी एस्पर भी पॉम्पिओ के साथ आ रहे हैं. पॉम्पिओ की यात्रा से पहले विदेश विभाग ने कहा कि केवल दो वर्षों में तीसरी यूएस-भारत 2 + 2 मंत्रिस्तरीय वार्ता का आयोजन दोनों देशों द्वारा साझा राजनयिक और सुरक्षा उद्देश्यों के लिए दी गई उच्च-स्तरीय प्रतिबद्धता को दर्शाता है.  

यह भी पढ़ेंः चीन से तनाव के बीच अमेरिकी विदेश मंत्री रक्षा मंत्री आज आ रहे भारत

आज आ रहे हैं अमेरिकी विदेश और रक्षा मंत्री
अमेरिका के रक्षा मंत्री मार्क एस्पर और विदेश मंत्री माइक पॉम्पिओ अपने भारतीय समकक्षों क्रमश: राजनाथ सिंह तथा एस. जयशंकर के साथ 2+2 मंत्रीस्तरीय बैठक करेंगे. अमेरिकी विदेश विभाग ने बताया कि एस्पर और पॉम्पिओ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से भी मुलाकात करेंगे और अमेरिका-भारत व्यापक वैश्विक रणनीतिक साझेदारी को आगे बढ़ाने के बारे में सरकारी और कारोबारी जगत के अगुआओं से भी बात करेंगे. फैक्ट शीट में विदेश मंत्रालय ने कहा कि दोनों देशों के बीच साझा मूल्यों और स्वतंत्र एवं मुक्त हिंद-प्रशांत के लिए प्रतिबद्धता पर निर्मित मजबूत तथा बढ़ते द्विपक्षीय संबंध हैं.

यह भी पढ़ेंः छोटी सी ट्रेडिंग फर्म को Samsung ब्रांड बनाने वाले ली कुन-ही नहीं रहे

आज भारत पहुंचेंगे अमेरिकी विदेश मंत्री
भारत दौरे से पहले पॉम्पियो ने ट्विटर पर कहा, भारत, श्रीलंका, मालदीव और इंडोनेशिया की मेरी यात्रा के लिए तैयार. 'स्वतंत्र और मजबूत, और समृद्ध राष्ट्रों से बने स्वतंत्र और खुले  Indo Pacific के लिए एक साझा दृष्टिकोण को बढ़ावा देने के लिए हमारे भागीदारों के साथ जुड़ने के अवसर के लिए आभारी.'

LIVE TV NN

NS

NS

First Published : 26 Oct 2020, 09:33:43 AM

For all the Latest World News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.