News Nation Logo
Banner

ईरान के शीर्ष कमांडर को मार अपने ही घर में घिरे ट्रंप, कई शहरों में युद्ध-विरोधी रैली

अमेरिकी राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप के फैसले के खिलाफ अमेरिका के तीन शहरों में जिस तरह से प्रदर्शन हुआ उससे रिपब्लिकन पार्टी की चिंता बढ़ गई है.

By : Nihar Saxena | Updated on: 05 Jan 2020, 12:59:13 PM
ट्रंप के खिलाफ विरोध-प्रदर्शन की आग अमेरिकी सड़कों से उठी.

ट्रंप के खिलाफ विरोध-प्रदर्शन की आग अमेरिकी सड़कों से उठी. (Photo Credit: न्यूज स्टेट)

highlights

  • ईरान कमांडर के मारे जाने वाले ट्रंप के फैसले के खिलाफ अमेरिका के तीन शहरों में प्रदर्शन.
  • युद्ध विरोधी प्रदर्शन से साफ है कि आमजनता को ट्रंप का रोमांच रास नहीं आया है.
  • न्यूयॉर्क शहर में प्रमुख स्थानों पर सुरक्षा बढ़ा दी गई है. लोगों की तलाशी भी संभव.

नई दिल्ली:

ईरानी सेना के कमांडर कासिम सुलेमानी की हत्‍या की आग अब अमेरिकी सड़कों पर पहुंचने लगी है. अमेरिकी राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप के फैसले के खिलाफ अमेरिका के तीन शहरों में जिस तरह से प्रदर्शन हुआ उससे रिपब्लिकन पार्टी की चिंता बढ़ गई है. उनकी यह चिंता लाजमी भी है, क्योंकि अमेरिका में 2020 में राष्‍ट्रपति चुनाव होना है. ऐसे में डेमोक्रेट्स की नजर भी इस विरोध पर टिकी है. न्यूयॉर्क, ब्रुकलिन और कुछ अन्य शहरों में हुए युद्ध विरोधी प्रदर्शन से साफ है कि आमजनता को ट्रंप का रोमांच रास नहीं आया है.

यह भी पढ़ेंः अमेरिका ने अब इजरायल को साधा, ट्रंप ने ईरान को दी 52 जगह हमले की चेतावनी

युद्ध विरोधी प्रदर्शन
अमेरिका द्वारा बगदाद अंतर्राष्ट्रीय हवाईअड्डे के निकट किए गए हवाई हमले के बाद न्यूयॉर्क में टाइम स्क्वेयर पर सैकड़ों की संख्या में युद्ध विरोधी प्रदर्शनकारी जमा हुए. अमेरिकी हमले में ईरान के कमांडर की मौत हो गई थी और ईरान ने अब जवाबी कार्रवाई का प्रण लिया है. प्रदर्शनकारियों के हाथों में तख्तियां थीं, जिनपर लिखा था, 'रोजगार, स्वास्थ्य, शिक्षा, आवास, मानवीय जरूरतें, न कि अंतहीन युद्ध और ईरान के खिलाफ कोई युद्ध/प्रतिबंध नहीं.'

यह भी पढ़ेंः ननकाना मामले की जांच के लिए पाकिस्तान जाएगी SGPC की टीम

शिकागो में जेन फोंडा भी शामिल
राष्‍ट्रपति ट्रंप के एयर स्‍ट्राइक के फैसले के खिलाफ प्रदर्शनकारियों ने वॉशिंगटन में सड़कों पर प्रदर्शन किया. ट्रंप के इस फैसलों के खिलाफ शिकागों में भी प्रदर्शन हुए. अमेरिकी इराक में 3000 हजार से अधिक अमेरिकी सैनिकों को भेजने का विरोध कर रहे हैं. प्रदर्शनकारी अपने हाथों में पोस्‍टर लिए थे जिसमें लिखा था कि अमेरिका किसी तरह के युद्ध के खिलाफ हैं. उन्‍होंने दुनिया में शांति का संदेश दिया. इस विरोध प्रदर्शन में हॉलीवुड अभिनेत्री जेन फोंडा शामिल थीं. जेन फोंडा पिछले साल अमेरिका में जलवायु परिवर्तन के विरोध में लेकर सुर्खियों में रहीं. इस मामले में उनको गिरफ्तार भी किया गया था.

यह भी पढ़ेंः पीएम मोदी से 'राष्ट्रवाद' की सीख ले अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप ने शुरू की चुनावी तैयारी

सीनेटर के घर के बाहर प्रदर्शन
समाचार एजेंसी सिन्हुआ के अनुसार, प्रदर्शनकारी नारेबाजी कर रहे थे, 'न्याय नहीं, शांति नहीं. अमेरिका मध्य पूर्व से जाओ और ईरान से युद्ध नहीं.' ब्रुकलिन में शुक्रवार रात अमेरिकी सीनेटर चुक शमर के अपार्टमेंट के बाहर एक रैली होने के कुछ ही घंटों बाद यह प्रदर्शन शुरू हो गया. कई युद्ध विरोधी संगठनों ने ईरान के इस्लामिक रिवोल्यूशन गार्ड्स कॉर्प्स के कुद्स फोर्स के कमांडर मेजर जनरल कासिम सुलेमानी की हत्या की निंदा करने के लिए रैली आयोजित करने में मदद की.

यह भी पढ़ेंः ईरान मसले पर भी पाकिस्तान का दोमुंहापन आया सामने, स्वार्थवश दिया अमेरिका को समर्थन

न्यूयॉर्क शहर की सुरक्षा कड़ी
सुलेमानी की हत्या के बाद न्यूयॉर्क शहर में प्रमुख स्थानों पर सुरक्षा बढ़ा दी गई है. न्यूयॉर्क पुलिस विभाग के आयुक्त डर्मोट शिया ने शुक्रवार सुबह एक संवाददाता सम्मेलन में कहा, 'कुछ संवेदनशील और नाजुक स्थानों की सुरक्षा बढ़ाने के लिए अधिकारियों को तैनात कर दिया गया है. इनमें कई के पास लंबी बंदूकें हैं.' उन्होंने न्यूयॉर्क वासियों से सतर्क रहने का आग्रह किया. इसबीच न्यूयॉर्क शहर के मेयर ने एक संवाददाता सम्मेलन में कहा कि छोटे रास्तों, कार स्टॉप्स, पुलों और सुरंगों में लोगों की तलाशी ली जा सकती है.

First Published : 05 Jan 2020, 12:59:13 PM

For all the Latest World News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

×