News Nation Logo
Banner

शेख मोहम्मद बिन जायद संयुक्त अरब अमीरात के नए राष्ट्रपति बने (लीड-1)

शेख मोहम्मद बिन जायद संयुक्त अरब अमीरात के नए राष्ट्रपति बने (लीड-1)

IANS | Edited By : IANS | Updated on: 14 May 2022, 11:05:01 PM
ABU DHABI,

(source : IANS) (Photo Credit: (source : IANS))

अबू धाबी:   फेडरल सुप्रीम काउंसिल ने शनिवार को सर्वसम्मति से अबू धाबी के क्राउन प्रिंस शेख मोहम्मद बिन जायद अल नाहयान को संयुक्त अरब अमीरात का राष्ट्रपति चुना।

राष्ट्रपति खलीफा बिन जायद अल नाहयान का शुक्रवार को 73 वर्ष की आयु में निधन के बाद यह कदम उठाया गया है।

परिषद ने अबू धाबी में एक बैठक की, जिसकी अध्यक्षता दुबई के उपराष्ट्रपति, प्रधानमंत्री और शासक शेख मोहम्मद बिन राशिद अल मकतूम ने की। बैठक में संयुक्त अरब अमीरात के अन्य सभी अमीरात के शासकों ने भाग लिया।

राष्ट्रपति के मामलों के मंत्रालय द्वारा जारी एक बयान में कहा गया है कि संविधान के अनुच्छेद 51 के अनुसार, शेख मोहम्मद बिन जायद को सर्वसम्मति से संयुक्त अरब अमीरात के राष्ट्रपति के रूप में दिवंगत शेख खलीफा बिन जायद अल नाहयान के उत्तराधिकारी के रूप में चुना गया है।

सुप्रीम काउंसिल के सदस्यों और अमीरात के शासकों ने संस्थापक पिता, मरहूम शेख जायद बिन सुल्तान अल नाहयान के बाद मरहूम शेख खलीफा द्वारा निर्धारित प्रामाणिक मूल्यों और सिद्धांतों को लागू करने के लिए अपनी उत्सुकता की पुष्टि की है। इनसे क्षेत्रीय और वैश्विक दोनों स्तरों पर संयुक्त अरब अमीरात की स्थिति मजबूत हुई है।

शेख मोहम्मद बिन जायद ने अपने भाइयों, सर्वोच्च परिषद के सदस्यों और अमीरात के शासकों द्वारा उन पर रखे गए अनमोल भरोसे के लिए अपनी प्रशंसा व्यक्त की, सर्वशक्तिमान से प्रार्थना की कि वह इस महान ट्रस्ट की जिम्मेदारी को निभाने और इसके कार्यो को पूरा करने में मदद करें। अपने देश और लोगों की सेवा करने के लिए।

11 मार्च, 1961 को जन्मे शेख मोहम्मद बिन जायद संयुक्त अरब अमीरात के तीसरे राष्ट्रपति, अबू धाबी के शासक और संयुक्त अरब अमीरात सशस्त्र बलों के सर्वोच्च कमांडर हैं।

न्यूयॉर्क टाइम्स ने उन्हें सबसे शक्तिशाली अरब शासक के रूप में नामित किया था। टाइम पत्रिका द्वारा उन्हें 2019 के 100 सबसे प्रभावशाली लोगों में भी नामित किया गया था।

वह संयुक्त अरब अमीरात के पहले राष्ट्रपति और अबू धाबी के शासक जायद बिन सुल्तान अल नाहयान के तीसरे बेटे हैं। उन्होंने 10 साल की उम्र तक रबात में रॉयल अकादमी में शिक्षा प्राप्त की थी। उनके पिता शेख जायद ने उन्हें एक अनुशासन अनुभव के लिए मोरक्को भेज दिया।

शेख मोहम्मद बिन जायद ने अल ऐन, अबू धाबी के स्कूलों में आगे की शिक्षा प्राप्त की और 18 साल की उम्र तक गॉर्डनस्टोन में गर्मियों में बिताया।

उन्होंने अप्रैल 1979 में रॉयल मिल्रिटी अकादमी सैंडहस्र्ट से स्नातक की उपाधि प्राप्त की। शेख मोहम्मद बिन जायद फिर शारजाह में अधिकारियों के प्रशिक्षण पाठ्यक्रम में शामिल होने के लिए संयुक्त अरब अमीरात लौट आए। उन्होंने यूएई की सेना में अमीरी गार्ड में एक अधिकारी से लेकर यूएई वायुसेना में एक पायलट तक कई भूमिकाएं निभाई हैं।

उन्होंने मानव तस्करी से लड़ने के लिए संयुक्त राष्ट्र की वैश्विक पहल को 5.5 करोड़ एईडी का उपहार दिया है, रीचिंग द लास्ट माइल फंड के लिए 1 अरब डॉलर जुटाने के लिए प्रतिबद्ध है, अफगानिस्तान और पाकिस्तान में बच्चों के टीके के प्रयासों के लिए 5 करोड़ डॉलर का वादा किया है, और रोल बैक मलेरिया के लिए 30 करोड़ डॉलर का योगदान दिया है।

कैंसर अनुसंधान में वैज्ञानिक और चिकित्सा ज्ञान के लिए टेक्सास विश्वविद्यालय के चेयर का नाम अल-नाहयान के नाम पर रखा गया है और उन्होंने एमडी एंडरसन कैंसर केंद्र को अनुदान दिया है।

शेख मोहम्मद बिन जायद कला संग्रहालयों की स्थापना में भी शामिल रहे हैं, जैसे लौवर अबू धाबी और गुगेनहेम अबू धाबी, साथ ही कसर अल होसन जैसे सांस्कृतिक विरासत स्थल को भी उन्होंने संवारा है।

डिस्क्लेमरः यह आईएएनएस न्यूज फीड से सीधे पब्लिश हुई खबर है. इसके साथ न्यूज नेशन टीम ने किसी तरह की कोई एडिटिंग नहीं की है. ऐसे में संबंधित खबर को लेकर कोई भी जिम्मेदारी न्यूज एजेंसी की ही होगी.

First Published : 14 May 2022, 11:05:01 PM

For all the Latest World News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.