News Nation Logo
Banner

पाकिस्‍तान की एक और ना'पाक' चाल, लांच पैड से 60 आतंकी भारत में घुसने की फिराक में

बताया जा रहा है कि सीमा पार लांच पैड पर आतंकियों का करीब 6 ग्रुप मौजूद है, जिसमें 60 आतंकियों की मौजूदगी की बात कही जा रही है.

By : Sunil Mishra | Updated on: 19 Sep 2019, 08:38:48 AM
पाकिस्‍तान की एक और ना'पाक' चाल, 60 आतंकी घुसपैठ की फिराक में

पाकिस्‍तान की एक और ना'पाक' चाल, 60 आतंकी घुसपैठ की फिराक में

नई दिल्‍ली:

जम्‍मू-कश्‍मीर में भारत सरकार द्वारा किए गए बदलाव के चलते बौखलाया पाकिस्‍तान अब नित नई नापाक कोशिशें कर रहा है. पहले तो उसने अंतरराष्‍ट्रीय स्‍तर पर शोर मचाने की कोशिश की, लेकिन जब किसी देश ने उसकी एक न सुनी तो वह एलओसी के पार से आतंकवादियों को भारत में घुसपैठ कराने की फिराक में है. ताजा खुफिया जानकारी यह है कि गुरेज सेक्‍टर की ओर से पाकिस्‍तान आतंकवादियों की फौज को सीमा पार कराने की तैयारी में है. बताया जा रहा है कि सीमा पार लांच पैड पर आतंकियों का करीब 6 ग्रुप मौजूद है, जिसमें 60 आतंकियों की मौजूदगी की बात कही जा रही है.

यह भी पढ़ें : बौखलाया पाकिस्तान अब Howdy Modi में करेगा ये घटिया हरकत

बताया जा रहा है कि आतंकियो की यह नई खेप मूलतः अफगानी है, लेकिन उनके चेहरे कश्मीरियों की तरह मिलते-जुलते हैं. दरअसल पाकिस्‍तानी सेना ने ऐसे आतंकियो का विशेष रूप से चुनाव किया है, ताकि ये घुसपैठ के बाद आसानी से आम आवाम में घुल मिल जाएं. लांच पैड पर कवर फायर और घुसपैठ को अंजाम देने के लिए पाक सेना की टुकड़ी और बैट के कमांडो भी मौजूद हैं.

यह भी पढ़ें : IIFA Awards 2019: राजी सर्वश्रेष्‍ठ फिल्‍म, रणवीर सिंह को बेस्‍ट हीरो और आलिया भट्ट को बेस्‍ट अभिनेत्री का अवार्ड

यह भी सूचना है कि बैकअप के लिए SSG के यहां 22 कमांडो भी मौजूद हैं. आतंकी साजिशों को भलीभांति अंजाम देने के लिए पाकिस्तान ने अपने हिस्से में मोबाइल सिग्नल स्ट्रेंथ में भारी कमी की है. पाकिस्तान को डर है कि उसका सिग्नल स्ट्रेंथ ज्यादा है जिसे भारतीय सेना इंटरसेप्ट कर रही है जिससे उसकी साजिशें लगातार फेल हो रही है. बताया जा रहा है कि सर्दियों से पहले भारतीय हिस्से में घुसपैठ की यह अबतक की सबसे बड़ी तैयारी है, जिसके बारे में पता चला है.

First Published : 19 Sep 2019, 08:38:48 AM

For all the Latest World News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

×