News Nation Logo
Banner
Banner

5,000 लापता दक्षिण सूडानी परिवारों से मिले: आईसीआरसी

5,000 लापता दक्षिण सूडानी परिवारों से मिले: आईसीआरसी

IANS | Edited By : IANS | Updated on: 02 Oct 2021, 04:55:01 PM
5,000 miing

(source : IANS) (Photo Credit: (source : IANS))

जुबा: उत्तरी अफ्रीकी देश में संघर्ष के परिणामस्वरूप विस्थापित हुए 5,000 से अधिक लापता दक्षिण सूडानी नागरिकों का पता लगाया गया है और 2018 के बाद से उनके परिवारों के साथ फिर से जुड़ गए हैं। रेड क्रॉस की एक शीर्ष अंतर्राष्ट्रीय समिति (आईसीआरसी) के अधिकारी ने यह जानकारी दी।

समाचार एजेंसी सिन्हुआ की रिपोर्ट के अनुसार, दक्षिण सूडान में आईसीआरसी प्रतिनिधिमंडल के प्रमुख पियरे डोरबेस ने कहा कि चैरिटी अन्य लापता व्यक्तियों का पता लगाने और उन्हें उनके तत्काल परिवारों के साथ फिर से जोड़ने के लिए मानवीय मामलों के मंत्रालय के साथ जुड़ना जारी रखेगी।

आईसीआरसी के अनुसार, दिसंबर 2013 में दक्षिण सूडान में नागरिक संघर्ष के फैलने के बाद हजारों नागरिक अपने परिवारों से अलग हो गए थे।

डोरबेस ने जुबा में जारी एक बयान में कहा, हम राष्ट्रीय एकता की संक्रमणकालीन सरकार से लापता लोगों का पता लगाने के प्रयासों का समर्थन करने का आग्रह करते हैं। जो परिवार अपने प्रियजनों को खो रहे हैं, उन्हें विशेष रूप से बुजुर्ग लोगों के समर्थन की आवश्यकता है।

मानवीय मामलों और आपदा प्रबंधन मंत्रालय में अवर सचिव कोट बोल नुआर ने कहा कि लापता व्यक्तियों का पता लगाने और उन्हें परिजनों से मिलाने के प्रयास तेज कर दिए गए हैं।

न्युअर ने कहा, हम यह सुनिश्चित करने के लिए प्रयास कर रहे हैं कि देश में सभी लापता व्यक्ति मिल जाएं और उनके परिवारों से मिल जाएं। यह शांति का समय है और प्रत्येक नागरिक अपने प्रियजनों के साथ इस रिश्तेदारी का आनंद लेने का हकदार है।

आईसीआरसी ने कहा कि संघर्ष और हिंसा से विस्थापित हुए लोगों के लापता होने के 4,000 से अधिक मामलों का पालन किया जा रहा है।

आईसीआरसी के अनुसार, लापता व्यक्तियों के परिवार अक्सर मानसिक और भावनात्मक आघात का अनुभव करते हैं, इसलिए उन्हें मनोसामाजिक सहायता प्रदान करने की आवश्यकता है।

फरवरी 2020 में समाप्त हुए संघर्ष के परिणामस्वरूप, 1,500,000 से अधिक नागरिक दक्षिण सूडान से भाग गए, जबकि 2,100,000 अन्य विस्थापित हुए थे।

इसके परिणामस्वरूप 400,000 से अधिक लोगों की मौत भी हुई थी।

डिस्क्लेमरः यह आईएएनएस न्यूज फीड से सीधे पब्लिश हुई खबर है. इसके साथ न्यूज नेशन टीम ने किसी तरह की कोई एडिटिंग नहीं की है. ऐसे में संबंधित खबर को लेकर कोई भी जिम्मेदारी न्यूज एजेंसी की ही होगी.

First Published : 02 Oct 2021, 04:55:01 PM

For all the Latest World News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.