News Nation Logo
Banner

BRICS में पीएम नरेंद्र मोदी की 7 बातें, जानें किसे बताया विकास का आधार

ब्राजील, रूस, भारत, चीन और दक्षिण अफ्रीका के नेताओं ने प्रतिष्ठित इटामारटी पैलेस में 11वें ब्रिक्स शिखर सम्मेलन की शुरूआत की जिसमें होने वाली चर्चा के व्यापार, निवेश और आतंकवाद निरोध जैसे प्रमुख मुद्दों पर केंद्रित रहने की उम्मीद है.

By : Drigraj Madheshia | Updated on: 14 Nov 2019, 08:23:09 PM
ब्रिक्‍स सम्‍मेलन में पीएम नरेंद्र मोदी

ब्रिक्‍स सम्‍मेलन में पीएम नरेंद्र मोदी (Photo Credit: Twitter)

ब्रासीलिया:

ब्राजील, रूस, भारत, चीन और दक्षिण अफ्रीका के नेताओं ने प्रतिष्ठित इटामारटी पैलेस में 11वें ब्रिक्स शिखर सम्मेलन की शुरूआत की जिसमें होने वाली चर्चा के व्यापार, निवेश और आतंकवाद निरोध जैसे प्रमुख मुद्दों पर केंद्रित रहने की उम्मीद है. ब्राजील के राष्ट्रपति जायर बोलसोनारो ने भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, चीन के राष्ट्रपति शी चिनफिंग, रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन, दक्षिण अफ्रीका के राष्ट्रपति सिरिल रामाफोसा का महल में स्वागत किया जो कि ब्राजील के विदेश मंत्रालय का मुख्यालय है. इस सम्‍मेलन को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि..

  1. इस समिट की थीम - “Economic growth for an इनोवेटिव future”, बहुत सटीक है.Innovation हमारे विकास का आधार बन चुका है. इसलिए, आवश्यक है कि हम innovation के लिए BRICS के अंतर्गत सहयोग मज़बूत करें
  2. अब हमें अगले दस सालों में BRICS की दिशा, तथा आपसी सहयोग को और प्रभावी बनाने पर विचार करना होगा. कई क्षेत्रों में सफलता के बावजूद कुछ क्षेत्रों में प्रयास बढ़ाने की काफी गुंजाइश है
  3. हमें आपसी व्यापार और निवेश पर विशेष ध्यान देने की ज़रूरत है. Intra-BRICS व्यापार, विश्व-व्यापार का सिर्फ 15% है, जबकि हमारी सम्मिलित आबादी दुनिया की आबादी की 40% से ज्यादा है
  4. हाल ही में भारत में हमने ‘Fit India Movement’ शुरू किया है. मैं चाहता हूं कि Fitness और स्वास्थ्य के क्षेत्र में हमारे बीच संपर्क और आदान-प्रदान बढ़े
  5. शहरी क्षेत्रों में sustainable water management और sanitation महत्वपूर्ण चुनौतियां हैं. मैं भारत में ब्रिक्स Water Ministers की पहली बैठक आयोजित करने का प्रस्ताव करता हूँ
  6. मुझे ख़ुशी है कि BRICS Strategies for Countering Terrorism पर पहला Seminar आयोजित किया गया. हम आशा करते हैं कि ऐसे प्रयासों और पाँच working groups की गतिविधियाँ आतंकवाद और दूसरे organized crimes के खिलाफ़ सशक्त BRICS Security Cooperation बढ़ाएँगी
  7. वीजा, social security agreement और qualifications के mutual recognition से हम पाँच देशों के लोगों को परस्पर यात्रा और काम के लिए और अनुकूल माहौल मिलेगा

बता दें शिखर सम्मेलन से पहले ब्रिक्स नेताओं ने एक संयुक्त तस्वीर खिंचवाई. विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने ट्वीट किया, ‘‘हमारी विविधता हमारी ताकत है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ब्रिक्स के अन्य नेताओं के साथ इस मौके पर एक तस्वीर खिंचवाई.’’ 11वें ब्रिक्स शिखर सम्मेलन का विषय ‘नवप्रवर्तनशील भविष्य के लिए आर्थिक प्रगति’ है. ब्रिक्स में ब्राजील, रूस, भारत, चीन और दक्षिण अफ्रीका शामिल हैं. प्रधानमंत्री मोदी के कार्यालय ने एक ट्वीट में कहा कि नेता बहुपक्षीय सहयोग बढ़ाने को लेकर अपनी चर्चा जारी रखेंगे.

यह भी पढ़ेंः रोचक तथ्‍यः टेलीविजन पर सबसे ज्‍यादा यह देखते हैं दर्शक, वह भी पूरा परिवार एक साथ

अधिकारियों के अनुसार व्यापार एवं निवेश संवर्धन एजेंसियों के बीच एक ब्रिक्स सहमतिपत्र पर हस्ताक्षर किए जाएंगे और शिखर सम्मेलन के समापन पर नेता एक संयुक्त घोषणापत्र जारी करेंगे. ब्राजील इस समूह का वर्तमान में अध्यक्ष है जो कि 3.6 अरब लोगों या विश्व की आधी जनसंख्या का प्रतिनिधित्व करता है और इनका सम्मिलित सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) 16,600 अरब अमेरिकी डालर है. 

इनपुट ः भाषा

First Published : 14 Nov 2019, 08:10:30 PM

For all the Latest World News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

×