logo-image
लोकसभा चुनाव

इस गांव में चलता है भूतों का राज! यहां जाने से पहले दस बार सोचते हैं लोग

जैसलमेर के कुलधरा गांव में भूतों का वास है. इसके पीछे एक कहानी है. कई लोगों का दावा है कि यह गांव पिछले 200 सालों से पूरी तरह वीरान पड़ा है.

Updated on: 03 May 2023, 12:54 PM

नई दिल्ली:

हम में से कई लोग बचपन से भूतों की कहानियां सुनते आ रहे हैं. आज भी जब हमें किसी भूत की कहानी सुनने को मिलती है तो हम एकदम से हैरान हो जाते हैं. कुछ कहानियां ऐसी होती हैं जिन्हें जानने के बाद दिमाग काम करना पूरी तरह से बंद कर देता है. रात को कोई सुनाए तो नींद भी चली जाती है. अब आप सोचिए कि अगर किसी गांव में सिर्फ भूत रहते हैं तो उस गांव में रहने वालों की क्या हालत होती होगी? राजस्थान में एक ऐसा गांव है, जहां भूतों का राज है. 

सलीम सिंह की बुरी नजर गांव के पुजारी की बेटी पर पड़ी थी
जैसलमेर के कुलधरा गांव में भूतों का वास है. इसके पीछे एक कहानी है. कई लोगों का दावा है कि यह गांव पिछले 200 सालों से पूरी तरह वीरान पड़ा है. इस गांव में एक भी व्यक्ति नहीं रहता है. हालांकि एक समय था जब इस गांव में काफी लोग रहा करते थे. इस गांव में पालीवाल ब्राह्मणों की जनसंख्या अधिक थी. आसपास के लोगों का मानना ​​है कि कुलधरा रियासत के दीवान सलीम सिंह की बुरी नजर गांव के पुजारी की बेटी पर पड़ी थी. दीवान चाहता था कि उस लड़की की शादी हो जाए. उसने पंडित को धमकी भी दी. दीवान अपनी जिद पर अड़ा था लेकिन पंडित भी अहंकारी था. गांव वालों के स्वाभिमान की बात सामने आई थी, जिससे परेशान होकर पंडित गांव छोड़कर चला गया.

यहां दिन-रात अजीबोगरीब आवाजें सुनाई देती हैं
जाते समय पंडित ने क्षेत्र को श्राप दिया कि इस गांव में कोई भी नहीं रह पाएगा. इस गांव में सिर्फ भूतों का वास होगा. इस स्थान से सभी पंडित अपने सम्मान के लिए गांव छोड़कर चले गए. कहा जाता है कि तब इस गांव में कोई नहीं आया. आज भी इस गांव में कोई रहने का नाम नहीं लेता है. इस गांव पर है भूतों का साया, यहां दिन-रात अजीबोगरीब आवाजें सुनाई देती हैं. हालांकि आपको बता दें कि हम इस दावे की पुष्टि नहीं करते हैं.