News Nation Logo
Banner

किसान आंदोलनः टिकैत के मंच से बोलने वाले नाहिद हसन का जाटों पर बयान फिर Viral

वायरल वीडियो में सपा विधायक लोगों से अपील कर रहे थे कि जाटों की दुकानों से सामान खरीदना बंद कर दें. गांव और आस-पास के लोगों को एकता दिखाते हुए थोड़े दिनों तक जाटों से लेन-देन बंद कर दें मैं बस यही मैसेज आप लोगों को देना चाह रहा था. 

News Nation Bureau | Edited By : Ravindra Singh | Updated on: 30 Jan 2021, 10:12:32 PM
nahid hassan

नाहिद हसन (Photo Credit: सोशल मीडिया)

नई दिल्ली:

टिकैत के मंच से शनिवार को कैराना से समावादी पार्टी के विधायक चौधरी नाहिद हसन ने नए कृषि कानूनों को लेकर सरकार पर हमला बोला. आपको बता दें कि उनके मंच से दिए गए भाषण के बाद उनका एक पुराना वीडियो फिर से सोशल मीडिया में वायरल हो गया है.  इस वायरल वीडियो में वो लोगों से जाटों को लेकर बयान बाजी करते हुए दिखाई दे रहे हैं. वायरल वीडियो में सपा विधायक लोगों से अपील कर रहे थे कि जाटों की दुकानों से सामान खरीदना बंद कर दें. गांव और आस-पास के लोगों को एकता दिखाते हुए थोड़े दिनों तक जाटों से लेन-देन बंद कर दें मैं बस यही मैसेज आप लोगों को देना चाह रहा था. 

वहीं किसान आंदोलन में टिकैत के मंच से सपा विधायक ने पीएम मोदी सहित केंद्र सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि, बीजेपी की सरकार किसानों के साथ लगातार अत्याचार कर रही है. कृषि कानून को रद्द कराने की मांग को लेकर कड़ाके की ठंड में किसान लगातार आंदोलन कर रहे हैं और देश की केंद्र सरकार किसानों की मांगें नहीं मान रही है. अब एक योजना के तहत किसानों को सरकार परेशान कर रही है तथा जबरदस्ती आंदोलन खत्म कराना चाहती है. आने वाले समय में सरकार को इसका खामियाजा भुगतना पड़ेगा. जल्द ही सरकार तीनों कृषि कानून रद्द कर किसानों की मांगें माने.

किसानों और सरकार के बीच लगभग 10 दौर की वार्ता असफल रही
आपको बता दें कि अभी हाल में ही केंद्र सरकार द्वारा लाए गए तीन नए कृषि कानूनों के खिलाफ उत्तर प्रदेश, पंजाब और हरियाणा के किसानों का दिल्ली की सीमाओं पर आंदोलन किया ये आंदोलन पिछले लगभग 2 महीनों से भी ज्यादा समय से जारी है. इस बीच सरकार ने किसान नेताओं से लगभग 10 बार वार्ता भी की लेकिन सब विफल रहा.  इसके बाद किसानों ने 26 जनवरी को ट्रैक्टर परेड निकालने की मांग की थी. वहीं 26 जनवरी को किसानों की ट्रैक्टर परेड के दौरान कुछ असामाजिक तत्वों ने लाल किले पर तिरंगे झंडे से अलग अन्य झंडा फहराया दिया था. जिसके बाद से किसानों के आंदोलन की दिशा को भटकाने की कोशिश की गई.
 

First Published : 30 Jan 2021, 10:12:32 PM

For all the Latest Viral News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.