News Nation Logo
Agnipath Scheme: आज से Air Force में भर्ती के लिए रजिस्ट्रेशन शुरू होंगे 2002 Gujarat Riots: जाकिया जाफरी की याचिका पर सुप्रीम कोर्ट का फैसला आज Agnipath Scheme: एयरफोर्स के लिए अग्निवीरों का रजिस्ट्रेशन आज से शुरू, ऐसे करें आवेदनRead More » राष्ट्रपति चुनाव के लिए विपक्ष के उम्मीदवार यशवंत सिन्हा 27 जून को राष्ट्रपति चुनाव के लिए अपना नामा Coronavirus: भारत में 17000 से ज्यादा केस, 5 माह में सबसे ज्यादा मामलेRead More » यशवंत सिन्हा को केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल का 'जेड (Z)' श्रेणी का सशस्त्र सुरक्षा कवच प्रदान किया NCP प्रमुख शरद पवार से मिलने मुंबई के लिए शिवसेना नेता संजय राउत वाई.बी. चव्हाण सेंटर पहुंचे सुप्रीम कोर्ट ने एसआईटी जांच के खिलाफ जाकिया जाफरी की याचिका की खारिजRead More » महाराष्ट्र सियासी संकट पर सुप्रीम कोर्ट बुधवार को करेगा सुनवाई

रात के समय शव को नहीं छोड़ते अकेला, बेहद डरावनी है वजह

Updated : 24 June 2022, 01:00 PM

रात में यानी सूर्यास्त के बाद दाह संस्कार करने पर माना जाता है कि स्वर्ग के द्वार बंद हो जाते हैं और नर्क (death ritual) के द्वार खुल जाते हैं. ऐसे में जीव की आत्मा को नरक का कष्ट भोगना पड़ता है. आपने गौर किया ही होगा कि मृत्यु के बाद किसी भी इंसान के शव को अकेला भी नहीं छोड़ा जाता है. दरअसल, इसका संबंध गरुड़ पुराण (garuda purana) से है.

#GarudaPurana #GarudPuranDeadBody #CremationAfterDeath #NewsNationShraddha