News Nation Logo
Banner

Chandrayaan 2 : श्री हरिकोटा से हुआ सफल प्रक्षेपण, वैज्ञानिकों ने दी एक-दूसरे को बधाई

Updated : 22 July 2019, 04:39 PM

चंद्रयान-2 को पृथ्वी की कक्षा में पहुंचाने की जिम्मेदारी इसरो ने अपने सबसे शक्तिशाली रॉकेट जियोसिंक्रोनस सेटेलाइट लांच व्हीकल- मार्क 3 (जीएसएलवी-एमके 3) को दी है. इस रॉकेट को स्थानीय मीडिया से 'बाहुबली' नाम दिया है. 640 टन वजनी रॉकेट की लागत 375 करोड़ रुपये है. यह रॉकेट 3.8 टन वजन वाले चंद्रयान-2 को लेकर उड़ान भरेगा. चंद्रयान-2 की कुल लागत 603 करोड़ रुपये है. अलग-अलग चरणों में सफर पूरा करते हुए यान सात सितंबर को चांद के दक्षिणी ध्रुव की निर्धारित जगह पर उतरेगा. अब तक विश्व के केवल तीन देशों अमेरिका, रूस व चीन ने चांद पर अपना यान उतारा है

वीडियो