News Nation Logo

Mission 2019: अगर मान गई कांग्रेस तो उत्‍तर प्रदेश में बनेगा एक और गठबंधन

उत्तर प्रदेश में समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) और बहुजन समाजपार्टी (Bahujan Samaj Party) के बीच गठबंधन के बाद अब सियासी पारा चढ़ने लगा है.

News Nation Bureau | Edited By : Drigraj Madheshia | Updated on: 14 Jan 2019, 12:45:11 PM
लोहड़ी के मौके पर शिवपाल सिंह यादव का सम्‍मान करता सिख समाज

लोहड़ी के मौके पर शिवपाल सिंह यादव का सम्‍मान करता सिख समाज

लखनऊ:

लोकसभा चुनाव (Lok Sabha Election 2019 ) में बीजेपी और मोदी सरकार को मात देने के लिए उत्तर प्रदेश में समाजवादी पार्टी (SP) और बहुजन समाजपार्टी (BSP) के बीच गठबंधन के बाद अब सियासी पारा चढ़ने लगा है. गठबंधन के बाद अब समाजवाजी पार्टी से अलग हुए वरिष्ठ नेता शिवपाल यादव (Shivpal Yadav) ने राज्य में कांग्रेस के साथ मिलकर एक नया गठबंधन बनाने की इच्छा जताई है. उन्होंने कहा है कि अगर कांग्रेस चाहे तो वह उनके साथ गठबंधन के लिए तैयार हैं. बता दें कांग्रेस ने रविवार को ऐलान किया कि वो यूपी में अकेले चुनाव लड़ेगी.

यह भी पढ़ेंः इस फॉर्मूले पर सपा और बसपा के बीच बना महागठबंधन, बीजेपी को मात देने की तैयारी

बता दें कि शिवपाल यादव (Shivpal Yadav) ने पिछले साल समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) से अलग अपनी एक अलग पार्टी बनाई थी. वहीं, सपा-बसपा गठबंधन के सामने आने के बाद कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने अपनी प्रतिक्रिया देते हुए कहा था कि मैं मायावती जी (Mayawati) और अखिलेश जी (Akhilesh Yadav) का सम्मान करता हूं. गठबंधन को लेकर उन्होंने जो फैसला लिया है मैं उसपर कुछ नहीं बोलना चाहता लेकिन इतना जरूरी है कि हमारी पार्टी यूपी में पूरी ताकत के साथ लोकसभा चुनाव में उतरेगी.

यह भी पढ़ेंः सपा विधायक हरिओम यादव ने दिया ऐसा बयान, जिससे बढ़ सकती हैं महागठबंधन की मुश्‍किलें

बता दें शनिवार को सपा प्रमुख अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) और बसपा प्रमुख मायावती (Mayawati) ने संयुक्त प्रेस कॉन्फ्रेंस कर सपा-बसपा गठबंधन का ऐलान किया था. उन्होंने इस गठबंधन से कांग्रेस को बाहर रखा था. लोकसभा चुनाव में सपा और बसपा 38-38 सीटों पर लड़ेगी. सपा-बसपा गठबंधन ने चार सीटें छोड़ दी हैं, जिसमें दो सीटें सहयोगियों के खाते में जाएगी वहीं, दो सीटें कांग्रेस के लिए अमेठी और रायबरेली छोड़ दी गई हैं.

यह भी पढ़ेंः याेगी आदित्‍यनाथ बोले- हमारे लिए अब आसान होगा SP-BSP के गठबंधन को निपटना

मायावती (Mayawati) ने कहा था कि बोफोर्स की वजह से कांग्रेस की सरकार गई थी, अब राफेल की वजह से बीजेपी की सरकार जाएगी. राफेल बीजेपी को ले डूबेगी. अगर हम कांग्रेस से गठबंधन करते हैं तो हमें घाटा होगा. क्योंकि कांग्रेस के समय में भी भ्रष्टाचार हुआ. जैसे हमने मिलकर उपचुनावों में बीजेपी को हराया है, उसी तरह हम लोकसभा चुनाव में भाजपा को हराएंगे.

First Published : 14 Jan 2019, 12:44:58 PM

For all the Latest States News, Uttar Pradesh News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.