News Nation Logo
Banner

आजम खान ने कहा, आरक्षण विधेयक से मुसलमानों को लाभ नहीं मिला तो इसका कोई मतलब नहीं

News Nation Bureau | Edited By : Sunil Mishra | Updated on: 08 Jan 2019, 01:34:59 PM
आजम खान (फाइल फोटो)

रामपुर:  

सवर्णों को 10 फीसदी आरक्षण देने के फैसले पर समाजवादी पार्टी के नेता और उत्‍तर प्रदेश के पूर्व मंत्री आजम खान ने कहा, ये 5 राज्यो में हार के बाद का फैसला है. इसमे जानना ये है कि इस 10% आरक्षण में आर्थिक रूप पिछड़े सवर्ण मुसलमानों को कितना मिलेगा. आज़म खान ने 10% में 5% आरक्षण मुसलमानों को देने की मांग की. उन्‍होंने कहा, मुसलमानों के पास 5 ग़ज़ जमीन भी नहीं है, इसलिए उनका हक अधिक बनता है.

LOKSABHA LIVE : सभी धर्मों के सवर्णों को आरक्षण के लिए मोदी सरकार ने पेश किया बिल, 2 बजे होगी चर्चा

आज़म खान ने कहा, अगर इस संवैधनिक बदलाव में देश की दूसरी बड़ी आबादी के बारे में विचार नहीं हो रहा है तो इस आरक्षण विधेयक का कोई मतलब नहीं है. चुनाव के वक्‍त एक बार फिर सरकार की ओर से कम्‍युनल कार्ड खेला जा रहा है.

यह भी पढ़ें : आर्थिक आधार पर आरक्षण देने की राह काफी मुश्किल, जानें कब-कब हुआ है खारिज

आज़म खान ने कहा, ये कोई मास्‍टरस्‍ट्रोक नहीं है. हमारी मांग है कि विधेयक में हमारे लिए भी प्रावधान दिया जाए और हमें भी 5% दिया जाए. आज़म खान ने कहा कि अगर आरक्षण देना ही था तो शुरू में देते, अब तो वक्त गुज़र गया. हमे भी आरक्षण दिया जाए. हमारी हालात वंचितों से भी बदतर है. हमें वंचितों की कैटागरी में रख दिया जाए.

First Published : 08 Jan 2019, 01:34:53 PM

For all the Latest States News, Uttar Pradesh News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.