logo-image
लोकसभा चुनाव

इस योजना के तहत महिलाओं को मिलते हैं 5,000 रुपए, आसान है आवेदन का प्रोसेस

Pradhan Mantri Matru Vandana Yojana: केन्द्र सरकार हर वर्ग को ध्यान में रखते हुए योजनाएं लॅान्च करती है. यहां जिस योजना की बात कर रहे हैं उसका नाम प्रधानमंत्री मातृत्व वंदना योजना है.

Updated on: 13 May 2024, 04:04 PM

highlights

  • खास तौर से कमजोर वर्ग की महिलाओं के लिए शुरू की गई थी योजना
  • जानकारी के अभाव में जरूरतमंद महिलाएं नहीं ले पा रही योजना का लाभ
  • इन डॅाक्यूमेंट्स को जमा करने के बाद हो जाती हैं 5,000 रुपए की हकदार

 

नई दिल्ली :

Pradhan Mantri Matru Vandana Yojana:  केन्द्र सरकार हर वर्ग को ध्यान में रखते हुए योजनाएं लॅान्च करती है. यहां जिस योजना की बात कर रहे हैं उसका नाम प्रधानमंत्री मातृत्व वंदना योजना है. जिसकी शुरूआत 2017 में की गई  थी. इसके पीछे सरकार का उद्देश्य उन गर्भवती महिलाओं को पोषण युक्त भोजन उपलब्ध कराना था. जो गरीबी रेखा से नीचे जीवन यापन करती है. यानि जिनके पास गर्भवती महिलाओं को मिलने वाला पोषणयुक्त भोजन तक नहीं है. हालांकि योजना का लाभ आज भी लाखों महिलाऐं ले रही हैं. 

5,000 रुपए का मिलता है आर्थिक लाभ
दरअसल, देश में ऐसी अभी भी लाखों महिलाएं हैं. जिनके पास खाने तक के लाले होते हैं. समस्या को ध्यान में  रखते हुए सरकार ने ऐसी महिलाओं के लिए प्रधानमंत्री मातृत्व योजना की शुरूआत की थी. जिसके तहत पात्र महिलाओं को 5,000 रुपए की आर्थिक मदद की जाती है. इस योजना के तहत सरकार महिलाओं को सीधा आर्थिक लाभ देते हुए पांच हजार रुपये अकाउंट में भेजती है.  योजना का लाभ लेने के लिए  आवेदक को कुछ जरूरी डॅाक्यूमेंटेशन करना होता है. 

ऐसे मिलते हैं पैसे
1 हजार रुपए की पहली किस्त महिलाओं को तब दी जाती है जब वह योजना के तहत रजिस्ट्रेशन कराती है.  साथ ही 2000 रुपए की दूसरी किस्त गर्भावस्था के 6 माह के बाद अकाउंट में भेजी जाती है.  बची हुई आखिरी 2000 रुपये की किस्त बच्चों के जन्म के बाद दी जाती है. योजना के आवेदन के लिए आधार कार्ड, आय प्रमाणपत्र, बैंक अकाउंट नंबर आदि दस्तावेजों का होना जरूरी है.. साथ ही आवेदक महिला की उम्र कम से कम 21 साल होना जरूरी है.  ज्यादा जानकारी के लिए आधिकारिक वेबसाइट https://pmmvy.wcd.gov.in/ पर  विजिट कर  सकते हैं... 

रजिस्ट्रेशन का तरीका
अधिकारिक वेबसाइट पर जाकर रजिस्टर्ड नंबर दर्ज करें. इसके बाद आपके रजिस्टर्ड नंबर पर ओटीपी आएगा. जिसे दर्ज करके आप आगे बढ़ें.  डाटा एंट्री पर क्लिक करके बेनिफिशियरी रजिस्ट्रेशन पर क्लिक करना होगा. इसके बाद लाभार्थी को दर्ज करना होगा कि बच्चा पहला है अथवा दूसरा है.  इसके बाद आधार कार्ड नंबर, डेट ऑफ बर्थ, उम्र और कैटेगरी सेलेक्ट करनी होगी. इसके बाद मोबाइल नंबर और एक आईडी प्रूफ के साथ एड्रेस प्रूफ जमा करना होगा. आखिर में दी गई सब जानकारी दर्ज करने के बाद फॉर्म सबमिट कर दें.