News Nation Logo
Banner

लंदन आने जाने वालों के लिए खुशखबरी, SpiceJet 4 दिसंबर से शुरू करेगी सीधी उड़ान सेवा

स्पाइसजेट (SpiceJet) ने कहा है कि ये फ्लाइट्स ब्रिटेन सरकार के साथ हुए एअर बबल एग्रीमेंट के तहत ऑपरेट होंगी. कम्पनी एक बयान जारी करते हुए कहा है कि वह इस रूट पर एअरबस ए330-900 नियो एअरक्राफ्ट का उपयोग करेगी.

News Nation Bureau | Edited By : Dhirendra Kumar | Updated on: 06 Oct 2020, 08:31:20 AM
SpiceJet

स्पाइसजेट (SpiceJet) (Photo Credit: IANS )

नई दिल्ली:

भारत के अग्रणी बजट एअरलाइन स्पाइसजेट (SpiceJet) ने भारत और लंदन के बीच 4 दिसम्बर से सीधी उड़ान शुरू करने की घोषणा की. कम्पनी के मुताबिक दिल्ली एवं मुम्बई को लंदन के हीथ्रो एअरपोर्ट से जोड़ने के लिए वह नॉन-स्टॉप फ्लाइट्स ऑपरेट करेगा. इस तरह स्पाइसजेट लंदन के लिए फ्लाइट ऑपरेट करने वाला भारत का पहला लो-कास्ट एअरलाइन बन जाएगा. कम्पनी ने कहा है कि ये फ्लाइट्स ब्रिटेन सरकार के साथ हुए एअर बबल एग्रीमेंट के तहत ऑपरेट होंगी. कम्पनी एक बयान जारी करते हुए कहा है कि वह इस रूट पर एअरबस ए330-900 नियो एअरक्राफ्ट का उपयोग करेगी.

यह भी पढ़ें: मुआवजे पर नहीं बन सकी सहमति, जीएसटी परिषद की 12 अक्टूबर को फिर से होगी बैठक

दिल्ली से लंदन का एक तरफ का टिकट 25,555 रुपये
371 सीटों और दो इंजन वाले इस विमान में 353 इकोनॉमी और 18 बिजनेस क्लास सीटें हैं। स्पाइसजेट को ब्रिटेन और अमेरिका के लिए उड़ान भरने की योग्यता मिल गई है. एअरलाइन ने आगे कहा कि दिल्ली-लंदन-दिल्ली तथा मुम्बई-लंडन-मुम्बई रूट के लिए उसने रिटर्न टिकट की कीमत 53,555 रुपये रखी है. दिल्ली से लंदन का एक तरफ का टिकट 25,555 रुपये है जबकि मुम्बई से लंदन एक तरफ का टिकट 29,555 रुपये है.

यह भी पढ़ें: स्टील की कीमतों में जोरदार उछाल, जानिए क्यों बढ़ रहे हैं दाम

घरेलू हवाई यात्रियों की संख्या में सितंबर में सुधार जारी : इक्रा

घरेलू हवाई यात्रियों की संख्या में सितंबर में सुधार जारी रहा। मासिक आधार पर अगस्त के मुकाबले इसमें 37 से 39 प्रतिशत की बढ़त दर्ज की गयी. रेटिंग एजेंसी इक्रा के अनुसार हालांकि सालाना आधार पर सितंबर में घरेलू यात्रियों की संख्या में करीब 60 प्रतिशत की गिरावट देखी गयी. इक्रा के मुताबिक घरेलू विमानन कंपनियों ने भी अपनी क्षमता में विस्तार किया है. सितंबर में कंपनियों ने करीब 46 प्रतिशत क्षमता के साथ काम किया जो अगस्त में 33 प्रतिशत थी. नागर विमानन मंत्रालय ने जून में कंपनियों को अपनी क्षमता 45 प्रतिशत तक बढ़ाने की अनुमति दी थी. यह 27 जून से प्रभावी हुई. उसके बाद दो सितंबर को इसे बढ़ाकर 60 प्रतिशत कर दिया गया.

यह भी पढ़ें: मंडी शुल्क घटाने की मांग को लेकर 12 दिन से हड़ताल पर हैं इस राज्य के व्यापारी

इसके अलावा मंत्रालय ने अगस्त के अंत में विमानन कंपनियों के लिए कई और राहतों की घोषणा की. इसमें यात्रियों को यात्रा के दौरान भोजन देना, पैकेज्ड खाना और पेय पदार्थ देना और मनोरंजन सेवाएं उपलब्ध कराने की भी अनुमति दे दी. इक्रा के उपाध्यक्ष किंजल शाह ने कहा कि लॉकडाउन के बाद 25 मई से जब घरेलू उड़ानों का परिचालन शुरू किया गया तो पहले दिन 416 उड़ानों चली। 28 सितंबर को यह संख्या बढ़कर 1,488 हो गयी। सितंबर में प्रतिदिन औसत 1,311 उड़ानें परिचालित हुईं। यह अगस्त 2020 के 930 रोजाना उड़ानों से बेहतर लेकिन सितंबर 2019 के 2,874 की औसत दैनिक उड़ानों से कमतर स्थिति है. (इनपुट एजेंसी)

First Published : 06 Oct 2020, 07:38:37 AM

For all the Latest Utilities News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो