News Nation Logo

रिलायंस जियो (Reliance Jio) के ग्राहकों को मिलेगी सबसे तेज इंटरनेट स्पीड, कंपनी ने उठाया ये कदम

रिलायंस जियो (Reliance Jio) ने सबमरीन केबल प्रणाली के लिए दुनिया की कई प्रमुख कंपनियों और विश्वस्तरीय सबमरीन केबल सप्लाई करने वाली सबकॉम के साथ समझौता किया है.

News Nation Bureau | Edited By : Dhirendra Kumar | Updated on: 18 May 2021, 09:15:22 AM
रिलायंस जियो (Reliance Jio)

रिलायंस जियो (Reliance Jio) (Photo Credit: IANS )

highlights

  • मौजूदा समय में रिलायंस जियो ने अगली पीढ़ी की दो सबमरीन केबल डालने की योजना बनाई है.
  • इंटरनेट डेटा की जरूरतों को पूरा करने के लिए अंतर्राष्ट्रीय सबमरीन केबल प्रणाली बिछाने की योजना

नई दिल्ली:

देश के अग्रणी उद्योगपति मुकेश अंबानी (Mukesh Ambani) की कंपनी रिलायंस इंडस्ट्रीज (Reliance Industries) की दूरसंचार इकाई रिलायंस जियो (Reliance Jio) इंटरनेट की जरूरतों को पूरा करने के लिए बड़ा कदम उठाया है. रिलायंस जियो भारत और आसपास के क्षेत्रों में इंटरनेट डेटा की जरूरतों को पूरा करने के उद्देश्य से अंतर्राष्ट्रीय सबमरीन केबल प्रणाली बिछा रही है. रिलायंस जियो ने सबमरीन केबल प्रणाली के लिए दुनिया की कई प्रमुख कंपनियों और विश्वस्तरीय सबमरीन केबल सप्लाई करने वाली सबकॉम के साथ समझौता किया है. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक रिलायंस जियो का कहना है कि मौजूदा समय में कंपनी ने अगली पीढ़ी की दो सबमरीन केबल डालने की योजना बनाई है. 

यह भी पढ़ें: Indian Railway: कई रूटों पर चलाई गईं 34 ट्रेन, यहां चेक कीजिए पूरी लिस्ट

जियो ने अगली पीढ़ी की दो सबमरीन केबल डालने की योजना बनाई
मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक कंपनी के इस कदम से थाईलैंड, मलेशिया, सिंगापुर, इटली, पश्चिम एशिया और उत्तरी अफ्रीका क्षेत्रों के रास्ते एशिया प्रशांत बाजारों से भारत जुड़ जाएगा. कंपनी का कहना है कि जियो भारत और आसपास के क्षेत्रों के इंटरनेट की जरूरतों को पूरा करने के उद्देश्य से अंतर्राष्ट्रीय सबमरीन केबल प्रणाली तैयार कर रहा है. कंपनी का कहना है कि इस क्षेत्र में इंटरनेट डेटा की भारी मांग को देखते हुए जियो ने अगली पीढ़ी की दो सबमरीन केबल डालने की योजना बनाई है. रिलायंस जियो का कहना है कि भारत एशिया एक्सप्रेस (आईएएक्स) प्रणाली भारत को सिंगापुर और उससे आगे जोड़ेगी. वहीं दूसरी ओर भारत यूरोप एक्सप्रेस (आईईएक्स) प्रणाली भारत को पश्चिम, पश्चिम एशिया और यूरोप से जोड़ने में सहायक होगी. 

यह भी पढ़ें: बाइक पर बच्चों को बैठाया तो भरना पड़ेगा मोटा चालान, जानिए क्या है नियम

कंपनी का कहना है कि आईएएक्स और आईईएक्स के जरिए भारत और भारत से बाहर इंटरनेट डेटा और क्लाउड सेवाओं को पहुंचाने की क्षमता बढ़ेगी. इसके अलावा उपभोक्ताओं को इसके जरिए बेहतर सेवाएं भी मिलेंगी. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक कंपनी की इस सुविधा के जरिए 16,000 किलोमीटर से अधिक की दूरी तक 200 टीबीपीएस (टेरा बिट प्रति सेकेंड) से अधिक की स्पीड मिलेगी. रिलायंस जियो के अध्यक्ष मैथ्यू ओमन का कहना है कि कोरोना वायरस महामारी के बीच इस काम को अंजाम तक पहुंचाना एक बड़ी चुनौती है.

LIVE TV NN

NS

NS

First Published : 18 May 2021, 09:15:22 AM

For all the Latest Utilities News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.