News Nation Logo

पेट्रोल-डीजल के दिन खत्म, आज लॅान्च होगी पहली fuel flex car

News Nation Bureau | Edited By : Sunder Singh | Updated on: 11 Oct 2022, 05:28:42 PM
nitin gadkari

file photo (Photo Credit: News Nation)

highlights

  • Toyota कंपनी ने मैदान में उतारी पहली बिना पेट्रोल-डीजल की कार
  • केन्द्रीय मंत्री नितिन गडकरी करेंगे लॅान्च, पहले ही कार्यक्रम में दे चुके थे सूचना 
  • पेट्रोल-डीजल की निर्भरता के के अलावा पॅाल्यूशन भी होगा कम 

नई दिल्ली :  

fuel flex car: आज यानि 11 अक्टूबर को पेट्रोल-डीजल (petrol-diesel price) की कीमतों से त्रस्त आ चुके लोगों को खुशखबरी मिलने वाली है. क्योंकि वो दिन आ गया है जब पेट्रोल-डीजल पर लोगों की निर्भरता (petrol diesel dependency) कम करने के लिए पहला कदम सरकार उठाने जा रही है. जी हां देश में पहली बिना पेट्रोल-डीजल (without petrol and diesel) के चलने वाली कार लॅान्च होने वाली है.  (Toyota) कंपनी की इस कार की लॅान्चिंग स्वयं परिवहन मंत्री नितिन गडकरी (Transport Minister Nitin Gadkari) करने वाले हैं. आपको बता दें कि इसकी सूचना नितिन गडकरी कई कार्यक्रमों में पहले ही दे चुके हैं. देश की पहली fuel flex car लॅान्च होने से जहां एक और पेट्रोल-ड़ीजल का खेल खत्म होने की ओर पहला कदम होगा, वहीं पॅाल्यूशन लेवल  (pollution level)में भी काफी सुधार होगा.

यह भी पढ़ें : 17 अक्टूबर को आएगी किसान सम्मान निधि की 12वीं किस्त, ये लोग रह जाएंगे वंचित

आपको बता दें कि टोयोटा जापानी कंपनी है, जो फ्लेक्सि फ्यूल स्ट्रांग हाइब्रिड इलेक्ट्रिक व्हीकल (FFV-SHEV) परियोजना पर काम कर रही है. आज यानि 11 अक्टूबर को जो कार लॅान्च होगी वो देश की पहली फ्यूल फ्लेक्स कार होगी. ये कार कौनसी होगी इसकी घोषणा तो अभी नहीं हुई है. लेकिन बताया जा रहा है कि कोरोला या कैमरी में से ये पहली कार हो सकती है. सफल लॅान्चिंग के बाद देश में फ्यूल फ्लेक्स कार व्यापार को बढ़ावा मिलेगा. एक्सपर्ट के मुताबिक इस कार को चलाने का खर्च भी पेट्रोल-डीजल की अपेक्षा आधा ही होगा. आपको बता दें कि "ऑटोमोटिव कंपोनेंट मैन्युफैक्चरर्स एसोसिएशन (एसीएमए) के 62वें वार्षिक सत्र में ही नितिन गडकरी ने ये सूचना देश की जनता के साथ साझा की थी"

आखिर क्या है flex-fuel?
एक्सपर्ट के मुताबिक "फ्लेक्स-फ्यूल गैसोलीन और मेथनॉल या एथनॉल के संयोजन से बना एक वैकल्पिक ईंधन है" मूल रूप से इसे एक फ्लेक्स-मानक पेट्रोल इंजन भी कहा जात सकता है, इसमें कुछ एक्स्ट्रा घटक होते हैं जो एक से अधिक मिश्रण पर चलते हैं. आपको बता दें कि इस फ्यूल फ्लेक्स इंजन में प्रति किमी कॅास्ट भी कम आने वाली है. साथ ही पॅाल्यूशन लेवल भी घटेगा. केन्द्रीय पेट्रोलियम मंत्री कई कार्यक्रमों में इसकी घोषणा कर चुके हैं. आंकड़ों के मुताबिक इस ईंधन से आपकी गाड़ी आधे से भी कम रेट पर चलने की संभावना है. हालाकि ज्यादा जानकारी लॅान्चिंग के बाद ही पता चल पाएगी. फ्यूल फ्लेक्स इंजन कितना सफल होता है.

First Published : 11 Oct 2022, 10:34:37 AM

For all the Latest Utilities News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.