News Nation Logo

मुफ्त कोचिंग 'अभ्युदय योजना' में चार लाख छात्रों से अधिक छात्रों ने रजिस्‍ट्रेशन कराया, जानें क्‍या है पूरी योजना

मुफ्त कोचिंग 'अभ्युदय योजना का शुभारंभ, चार लाख छात्रों ने कराया रजिस्‍ट्रेशन 

News Nation Bureau | Edited By : Sanjeev Mathur | Updated on: 15 Feb 2021, 11:57:30 AM
UP Mukhyamantri Abhyudaya Yojana 2021 914x1024

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Photo Credit: UP Govt)

highlights

  • 16 फरवरी को बसंत पंचमी के दिन मुख्यमंत्री योगी योजना को हरी झंडी दिखाएंगे.
  • सीडीएस, नीट और जे ई ई जैसी प्रतियोगिताओं की परीक्षा की तैयारी करने के लिए मुख्यमंत्री अभ्युदय योजना आरंभ की गई है.
  • सभी छात्रों को निशुल्क कोचिंग प्रदान की जाएगी

लखनऊ:

उत्तर प्रदेश में प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे छात्रों के लिए मुफ्त कोचिंग की सुविधा 'अभ्युदय योजना' के तहत पंजीकरण प्रक्रिया 10 फरवरी, 2021 से शुरू हो चुकी है. आर्थिक रूप से कमजोर छात्रों के लिए सरकार ने यह योजना आरंभ की है. 16 फरवरी को बसंत पंचमी के दिन मुख्यमंत्री योगी योजना को हरी झंडी दिखाएंगे. इस योजना के तहत चयनित छात्रों से वह बसंत पंचमी यानी 16 फरवरी को संवाद करेंगे. कोचिंग में पढ़ाई 16 फरवरी से शुरू होगी.  गरीब मेधावी छात्रों के लिए फ्री अभ्युदय कोचिंग योजना (Free Abhyuday Coaching Yojna) का शुभारंभ मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) 15फरवरी, सोमवार को करेंगे. इस दौरान वे पंजीकृत छात्रों से संवाद भी करेंगे. 16 फ़रवरी को बसंत पंचमी को अभ्युदय कोचिंग की पढ़ाई सभी 18 मंडलों में शुरू होगी. प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी के लिए सरकार की इस अहम योजनामें महज चार दिन में 4 लाख 84 हजार से अधिक छात्र अपना रजिस्‍ट्रेशन करा चुके है

मेरठ मंडल में 1382 विद्यार्थियों चयनित

हिंदुस्‍तान में छपी खबर के अनुसार मेरठ मंडल में 1382 युवक व युवतियों को फिजिकल निशुल्क कोचिंग के लिए चुना गया है, जिसके लिए 115 से अधिक अध्यापकों को भी पढ़ाने के लिए चयनित किया गया है. एनडीए व सीडीएस के लिए 55, यूपीएससी के लिए 943, जेईई के लिए 185 और एनईईटी के लिए 199 युवक व युवतियों को चुना गया है. गौरतलब है कि मेरठ मंडल में छः जनपद – मेरठ, बागपत, बुलंदशहर, गाजियाबाद, गौतबुद्धनगर, हापुड़ शामिल हैं, तथा इसका नेतृत्व मेरठ के मंडलायुक्त द्वारा किया जाता है.

यह भी पढ़ें: आलिया की सुबह की शुरूआत अब चाय और कॉफी के साथ क्‍यों नहीं होती

आर्थिक रुप से कमजोर छात्रों को मदद
उत्तर प्रदेश में कई सारे छात्र ऐसे हैं जो अपनी आर्थिक स्थिति कमजोर होने के कारण कोचिंग प्राप्त नहीं कर पाते हैं। ऐसे सभी छात्रों के लिए उत्तर प्रदेश सरकार ने मुख्यमंत्री अभ्युदय योजना आरंभ की है.

जानें, क्‍या है पूरी योजना
उप्र मुख्यमंत्री अभ्युदय योजना UP Mukhyamantri Abhyudaya Yojana 2021 त्तर प्रदेश के 71 वें स्थापना दिवस पर उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा आईएएस, आईपीएस, पीसीएस, एनडीएस, सीडीएस, नीट और जे ई ई जैसी प्रतियोगिताओं की परीक्षा की तैयारी करने के लिए मुख्यमंत्री अभ्युदय योजना आरंभ की गई है. इस योजना के अंतर्गत ऐसे सभी छात्रों को निशुल्क कोचिंग प्रदान की जाएगी जो इन परीक्षाओं की तैयारी करना चाहते हैं लेकिन अपनी आर्थिक स्थिति के कारण नहीं कर पाते हैं. इस योजना के अंतर्गत मंडल स्तर पर छात्रों को सिलेबस एवं क्वेश्चन बैंक भी उपलब्ध करवाया जाएगा.
UP Mukhyamantri Abhyudaya Yojana 2021 का कार्यान्वयन मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की निगरानी में किया जाएगा. इस योजना के अंतर्गत छात्रों को ऑनलाइन स्टडी मटेरियल के साथ ऑफलाइन कक्षाएं भी प्रदान की जाएगी।यह कोचिंग पूरी तरह से निशुल्क होगी. इस योजना के अंतर्गत वरिष्ठ अधिकारियों द्वारा छात्रों को मार्गदर्शन भी प्रदान किया जाएगा.

आला प्रशासनिक अधिकारियों द्वारा पढ़ाया जाएगा

कोचिंग में कमिश्नर द्वारा फिजिक्स तथा डीएम द्वारा इतिहास पढ़ाया जाएगा. इसी के साथ कई अन्य आला प्रशासनिक अधिकारियों द्वारा भी पढ़ाया जाएगा.  छात्रों को मध्यमिक स्कूल और प्राइवेट कोचिंग के उत्कृष्ट शिक्षा विषय विशेषज्ञ भी कोचिंग प्रदान करेंगे. कोचिंग के लिए स्मार्ट कक्षाओं का भी प्रयोग किया जाएगा. सभी छात्रों को क्वेश्चन बैंक, ऑनलाइन स्टडी मैटेरियल आदि भी प्रदान किया जाएगा. 

मुख्यमंत्री अभुदय योजना के अंतर्गत छात्रों का मार्गदर्शन
Abhyudaya Yojana 2021 के अंतर्गत केवल कोचिंग ही नहीं बल्कि आईएएस, आईपीएस और पीसीएस की तैयारी करने वाले छात्रों को मार्गदर्शन भी प्रदान किया जाएगा. ऑफलाइन कक्षाओं में विभिन्न अवसर छात्रों का मार्गदर्शन करेंगे. आईएएस, पीसीएस परीक्षा के छात्रों के लिए प्रशिक्षु आईएएस, आईपीएस, आईएफएस(वन सेवा), पीसीएस अधिकारी और एनडीए और सीडीएस के छात्रों के लिए सैनिक स्कूल के प्राचार्य मार्गदर्शन प्रदान करेंगे.

मुख्यमंत्री अभ्युदय योजना के अंतर्गत विषय के विशेषज्ञों को गेस्ट फैकल्टी के तौर पर भी बुलाया जाएगा. मंडल स्तर पर इस योजना के अंतर्गत परीक्षा की तैयारी कर रहे छात्रों को सिलेबस तथा परीक्षा पैटर्न की जानकारी भी निशुल्क प्रदान की जाएगी. आधिकारिक वेबसाइट पर क्वेश्चन बैंक की डिटेल भी छात्र प्राप्त कर सकेंगे. इसके अलावा मुख्यमंत्री अभ्युदय योजना के अंतर्गत उच्च स्तरीय कोचिंग संस्थाओं के स्टडी मैटेरियल भी छात्रों को प्रदान किए जाएंगे.
मुख्यमंत्री अभ्युदय योजना के अंतर्गत स्टडी मैटेरियल प्रदान करने की जिम्मेदारी उत्तर प्रदेश प्रशासन एवं प्रबंधन एकेडमी (उपाम) को सौंपी गई है. मंडल स्तर पर प्रशिक्षण केंद्रों के संचालन व सम्मानवन की भी उपाम द्वारा निगरानी की जाएगी. यदि इस योजना के अंतर्गत छात्र ने प्रारंभिक परीक्षा उत्तीर्ण कर ली है तो मुख्य परीक्षा की तैयारी करवाने की जिम्मेदारी भी उपाम को सौंपी गई है. अपाम के द्वारा क्वेश्चन बैंक, प्रश्नोत्तरी आदि भी वेबसाइट पर उपलब्ध करवाई जाएगी. मुख्यमंत्री अभ्युदय योजना के माध्यम से अब आप घर बैठे ही प्रतियोगिताओं की परीक्षा की कोचिंग प्राप्त कर पाएंगे. इसके लिए आपको फीस भरने की भी आवश्यकता नहीं पड़ेगी. UP Mukhyamantri Abhyudaya Yojana 2021 के पहले चरण में 18 मंडल मुख्यालय को शामिल किया गया है. इन 18 मंडल मुख्यालयों में अभ्युदय कोचिंग सेंटर आरंभ किए जाएंग. यह कोचिंग सेंटर राज्य विश्वविद्यालय एवं महाविद्यालयों में संचालित किए जाएंगे.

मुख्यमंत्री अभ्युदय योजना के अंतर्गत प्रदान की जाने वाली कोचिंग

संघ लोक सेवा आयोग
यूपी लोक सेवा आयोग
अधीनस्थ सेवा चयन आयोग
अन्य भर्ती बोर्ड संस्थाओं द्वारा आयोजित परीक्षाएं
जे ई ई
नीट
एनडीए
सीडीएस
अर्धसैनिक
केंद्रीय पुलिस बल
बैंकिंग
एसएससी
बीएड
टीईटी
National Apprenticeship Training

मुख्यमंत्री अभ्युदय योजना ई प्लेटफार्म
पदेश सरकार के अनुसार, प्रतिवर्ष उत्तर प्रदेश से करीब 4 से 5 लाख छात्र यूपीएससी, विभिन्न राज्य पीएससी, जे ई ई, नीट आदि परीक्षाओं में शामिल होते हैं. इसमें से ज्यादातर बच्चे आर्थिक रूप से कमजोर परिवारों से आते हैं. ऐसे सभी बच्चों के लिए यह योजना बहुत लाभकारी साबित होगी।.मंडलायुक्त लखनऊ के अंतर्गत ई लर्निंग कॉन्टेंट प्लेटफार्म विकसित किया जाएगा. जिसके अंतर्गत छात्रों को स्टडी मटेरियल उपलब्ध करवाया जाएगा.

वीडियो के माध्यम से अनुभव साझा

इस ई लर्निंग प्लेटफॉर्म पर विभिन्न अधिकारियों द्वारा परीक्षा की तैयारी के लिए वीडियो के माध्यम से अपना अनुभव साझा किया जाएगा. इस प्लेटफार्म पर लाइव सेशन तथा सेमिनार भी आयोजित की जाएंगी. इस प्लेटफार्म पर छात्र प्रश्न भी पूछे जा सकते हैं. मुख्यमंत्री अभ्युदय योजना के अंतर्गत विद्यार्थी कोचिंग सेंटर पर उपलब्ध होने के साथ-साथ घर बैठे भी कोचिंग प्राप्त कर सकेंगे.

यह भी पढ़ें: FASTag पर वाहन चालकों को 15 फरवरी से क्‍यों PNB दे रहा है खास चांस 

मुख्यमंत्री अभ्युदय योजना का उद्देश्य
UP Mukhyamantri Abhyudaya Yojana 2021 का मुख्य उद्देश्य आईएएस, आईपीएस, पीसीएस, एनडीए, सीडीएस, नीट जैसी प्रतियोगिताओं के लिए छात्रों को निशुल्क कोचिंग प्रदान करना है. इस योजना के माध्यम से वह सभी छात्र जो अपनी आर्थिक स्थिति खराब होने के कारण कोचिंग नहीं प्राप्त कर पाते उन सभी छात्रों को निशुल्क कोचिंग प्रदान की जाएगी. कोचिंग प्राप्त करने के लिए छात्रों को किसी दूसरे राज्य में जाने की आवश्यकता नहीं पड़ेगी. वह अपने राज्य एवं अपने जिले से कोचिंग प्राप्त कर सकते हैं. इस योजना के माध्यम से प्रदेश के होनहार छात्रों को आगे बढ़ने का अवसर प्राप्त होगा और वह अच्छी से अच्छी कोचिंग प्राप्त करके परीक्षा में बैठ पाएंगे. इस योजना के माध्यम से प्रदेश के छात्र भी आत्मनिर्भरता की तरफ आगे बढ़ेंगे.

 योजना के कार्यान्वयन की प्रक्रिया
उत्तर प्रदेश के छात्रों को प्रतिस्पर्धी परीक्षाओं की कोचिंग प्रदान करने के लिए प्रदेश के छात्रों को प्रदेश में ही ऑफलाइन तथा ऑनलाइन माध्यम से प्रतिस्पर्धी परीक्षाओं के लिए कोचिंग प्रदान की जाएगी. जिससे कि उन्हें कोचिंग प्राप्त करने के लिए किसी दूसरे नगर या फिर राज्य में ना जाना पड़े.
मुख्यमंत्री अभ्युदय योजना के माध्यम से अब वह लोग भी कोचिंग प्राप्त कर पाएंगे जो अपनी आर्थिक स्थिति खराब होने के कारण कोचिंग नहीं प्राप्त कर सकते थे।क्योंकि सरकार द्वारा यह कोचिंग निशुल्क प्रदान की जाएगी.
इस योजना के अंतर्गत प्रदेश के छात्रों को प्रदेश तथा देश के सर्वश्रेष्ठ फैकल्टी कोचिंग प्रदान करने के लिए उपलब्ध करवाए जाएंगे.
प्रत्येक मंडल मुख्यालय पर युवाओं के मार्गदर्शन के लिए कोचिंग संस्थान संचालित की जाएंगी.
इसी के साथ उन्हें वर्चुअल माध्यम से भी जोड़ा जाएगा. जिससे कि वह छात्र भी कोचिंग प्राप्त कर सके जो मंडल मुख्यालयों तक नहीं पहुंच सकते हैं.
मुख्यमंत्री अभ्युदय योजना के अंतर्गत आरंभ की गई कोचिंग संस्थाएं तकनीकी सुविधाओं से संपन्न होंगी तथा इनमें सर्वश्रेष्ठ फैकल्टी भी होंगे.
प्रदेश के योग्य अधिकारियों, आईएएस, आईपीएस, आईएफएस, पीसीएस आदि द्वारा कोचिंग संस्थानों में कोचिंग प्रदान की जाएगी.
कोचिंग प्रदान करने में विषय विशेषज्ञ भी शामिल होंगे.
मेडिकल एवं इंजीनियरिंग की कोचिंग प्रदान करने के लिए इस क्षेत्र से जुड़े शिक्षक छात्रों को उपलब्ध करवाए जाएंगे.

 योजना के अहम बिंदु
इस योजना के अंतर्गत विषय विशेषज्ञों से गेस्ट लेक्चर का प्रबंध भी कराया जाएगा.
मुख्यमंत्री अभ्युदय योजना के अंतर्गत परीक्षा पैटर्न की जानकारी भी छात्रों को प्रदान की जाएगी.
इस योजना के अंतर्गत उच्च स्तरीय कोचिंग संस्थानों के स्टडी मेटेरियल भी छात्रों को प्रदान किए जाएंगे.
इस योजना के अंतर्गत उत्तर प्रदेश प्रशासन एवं प्रबंधन अकैडमी को स्टडी मैटेरियल का प्रबंध करने की जिम्मेदारी सौंपी गई है.
छात्रों द्वारा प्रारंभिक परीक्षा उत्तीर्ण करने के बाद मुख्य परीक्षा की तैयारी करवाने की जिम्मेदारी भी उपाम को सौंपी गई है.
इस योजना के प्रथम चरण में 18 मंडल मुख्यालयों को शामिल किया गया है.
इस योजना के अंतर्गत एक ई प्लेटफार्म भी विकसित किया जाएगा.
ई प्लेटफार्म के माध्यम से छात्रों को e-content प्रदान किया जाएगा. इस ई प्लेटफार्म के माध्यम से छात्र कोचिंग भी प्राप्त कर सकते हैं. ई प्लेटफार्म पर छात्र अपने प्रश्न भी पूछ सकते हैं.

पात्रता व दस्‍तावेज 
मुख्यमंत्री अभ्युदय योजना के अंतर्गत आवेदन करने के लिए पात्रता तथा महत्वपूर्ण दस्तावेज हैः
आवेदक उत्तर प्रदेश का स्थाई निवासी होना अनिवार्य है।
आधार कार्ड
राशन कार्ड
जन्म प्रमाण पत्र
पासपोर्ट साइज फोटोग्राफ
मोबाइल नंबर

यह पंजीकरण प्रक्रिया 10 फरवरी 2021 से आरंभ कर दी गई है. इस योजना को उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री ने कोरोनावायरस संक्रमण के दौरान दूसरे राज्य में फंसे छात्रों की परेशानी को देखते हुए आरंभ किया है. इस योजना के सफलतापूर्वक कार्यान्वयन के लिए सरकार द्वारा 6 सदस्य राज्य स्तरीय समिति का भी गठन किया गया है

आवेदन करने की प्रक्रिया
सर्वप्रथम आपको मुख्यमंत्री अभ्युदय योजना की आधिकारिक वेबसाइट मुख्यमंत्री अभ्युदय योजना पर जाना होगा।

जब आपके सामने होम पेज खुल कर आए तो होम पेज पर आपको रजिस्टर नाउ के लिंक पर क्लिक करना होगा.अब आपको परीक्षा का चयन करना होगा. इसके पश्चात आपके सामने इनरोलमेंट फॉर्म खुलकर आएगा.
आपको इस फॉर्म में पूछी गई सभी महत्वपूर्ण जानकारी जैसे कि आपका नाम, फोन नंबर, ईमेल आई डी, डिवीजन, क्वालिफिकेशन, एड्रेस आदि दर्ज करना होगा.
इसके पश्चात आपको सबमिट के बटन पर क्लिक करना होगा.
अब आपके सामने एक नया पेज खुल कर आएगा जिसमें आपको संबंधित जानकारी दर्ज करके अपने अकाउंट को वेरीफाई करना होगा.
इस बाद आपको कंफर्म के बटन पर क्लिक करना होगा.
इस प्रकार आप मुख्यमंत्री अभ्युदय योजना के अंतर्गत आवेदन कर पाएंगे.

ऑनलाइन परीक्षा आवेदन प्रक्रिया
सर्वप्रथम आपको मुख्यमंत्री अभ्युदय योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा.
अब आपके सामने होम पेज खुल कर आएगा.
होम पेज पर आपको सक्षम कक्षाओं के लिए चयन हेतु ऑनलाइन परीक्षा के लिए यहां क्लिक करें के लिंक पर क्लिक करना होगा.
इसके पश्चात आपके सामने एक नया पेज खुल कर आएगा जिसमें आपको अपना यूजर आईडी, पासवर्ड तथा कैप्चा कोड दर्ज करना होगा.
अब आपके सामने आवेदन फॉर्म खुलकर आएगा.
आपको आवेदन फॉर्म में पूछी गई सभी महत्वपूर्ण जानकारी जैसे कि आपका नाम, मोबाइल नंबर, एड्रेस आदि दर्ज करना होगा.
इसके पश्चात आपको सबमिट के बटन पर क्लिक करना होगा.
इस प्रकार आप सक्षम कक्षाओं के लिए चयन हेतु ऑनलाइन परीक्षा के लिए आवेदन कर पाएंगे.

LIVE TV NN

NS

NS

First Published : 15 Feb 2021, 11:41:26 AM

For all the Latest Utilities News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो