logo-image
लोकसभा चुनाव

Indian Railway: भारतीय रेलवे को बदलने की तैयारी, जानें क्या है सरकार का 100 डे प्लान

Indian Railway: जल्द होने वाला है भारतीय रेलवे में बदलाव, जानें यात्रियों को क्या होगा फायदा

Updated on: 17 Apr 2024, 06:41 PM

New Delhi:

Indian Railways: भारतीय रेलवे का हमारी जिंदगी में खासा महत्व है. क्योंकि देश में यात्रा के लिए सबसे ज्यादा इस्तेमाल ट्रेनों का ही होता है. कहीं भी जाना हो तो ज्यादातर लोग ट्रेनों को ही प्राथमिकता देते हैं. इसकी बड़ी वजह होती है हवाई सफर के मुकाबले सस्ता और आरामदेयक. यही वजह है कि सरकार लगातार भारतीय रेलवे को अपडेट करने में जुटी रहती है. इस बीच भारतीय रेलवे से जुड़ी बड़ी खबर सामने आई है. दरअसल इंडियन रेलवे को बदलने की तैयारी की जा रही है. लेकिन यहां बदलने से मतलब उसे हटाने से नहीं बल्कि इसमें कुछ बड़े अपडेट करने से है. 

भारतीय रेलवे को बदलेगी मोदी सरकार
मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक एक एजेंसी को दिए साक्षात्कार में रेलवे के अधिकारी ने साफ तौर पर कहा है कि मोदी सरकार के तीसरे कार्यकाल के शुरुआत 100 दिनों में ही रेलवे का कायाकल्प किया जाएगा. इस कायाकल्प के तहत भारतीय रेलवे को और सुदृढ़ और सुविधाजनक बनाया जाएगा. 

यह भी पढ़ें - Dubai Flood: दुबई ही नहीं इन देशों में भी भारी बारिश से मची तबाही, जानें भारत पर इसका असर!

किस तरह के होंगे बदलाव
नई सरकार के गठन के साथ ही सरकार भारतीय रेलवे में बदलाव शुरू कर देगी. इसके तहत 24 घंटे के अंदर ही टिकट रिफंड स्कीम को लागू कर दिया जाएगा. इसके अलावा रेलवे की तमाम सुविधाओं को सख्ती से लागू किया जाएगा. ताकि यात्रियों को किसी भी तरह की समस्या न हो. इसके लिए भारतीय रेलवे के सुपर एप को भी लॉन्च किया जाएगा. 

इनके अलावा तीन इकोनॉमिक कॉरिडोर और नई वंदे भारत के जरिए भारतीय रेलवे में ट्रेनों के बेड़े को और बढ़ाया जाएगा. यानी लग्जरी ट्रेनों के साथ-साथ लोगों को आधुनिक सुविधाएं, समय पर मुहैया कराने के मकसद से भारतीय रेलवे में अहम बदलाव किए जाएंगे. खास बात यह है कि यह सबकु शुरुआत 100 दिन यानी तीन महीनों में ही करने का टारगेट है. जून में नई सरकार का गठन होगा तो माना जा रहा है कि सितंबर से अक्टूबर तक ये बदलाव पूरी तरह लागू कर दिए जाएंगे. 

क्या है भारतीय रेलवे का Super App
दरअसल एक एप तैयार कर रहा है. सुपर एप में टिकट बुकिंग से लेकर कैंसिल करने तक, ट्रेनों की लाइव लोकेशन, ट्रैकिंग और ट्रेन में खाने-पीने के लिए बुकिंग तक सबकुछ एक क्लिक पर उपलब्ध होगा. इसका मकसद भी यात्रियों के सफर को सुविधाजनक और सुगम बनाना है. इसी एप को सरकार गठन के 100 दिन के अंदर लॉन्च कर दिया जाएगा. 

5 साल में 12 लाख करोड़ के निवेश की तैयारी
आने वाले पांच वर्ष में रेलवे को अलग स्तर पर ले जाने की तैयारी है. इसमें आधुनिक, विश्व स्तरीय सुविधाओं के साथ-साथ 10 से 12 लाख करोड़ रुपए तक के निवेश शामिल हैं. इस दौरान लग्जरी ट्रेनों की संख्या भी बढ़ाई जाएगी. साथ ही टूरिंग पैकेज भी लॉन्च किए जाएंगे. 

यह भी पढ़ें - RBI Guidelines: ग्राहक को पूरी जानकारी देने के बाद ही दें लोन, कुछ भी छुपाने पर होगी कार्रवाई

वंदे भारत की सीरीज होगी लॉन्च
आगामी वर्षों में भारतीय रेलवे वंदे भारत की सीरीज भी लॉन्च करेगी. इसमें 100 किमी से कम रास्तों पर वंदे मेट्रो चलाई जाएगी, जबकि 100 से 550 किमी के रास्ते के लिए वंदे चेयर कार ट्रेनें चलाई जाएंगी, इसके अलावा 550 किलोमीटर से ज्यादा की दूरी वाले रास्तों पर शुरू होगी वंदे स्लीपर ट्रेनें. यानी हर रूट के लिए लोगों को खास तरह की ट्रेन की सुविधा मिलेगी.