News Nation Logo
Banner

Indian Railway: अब स्टेशन से घर पहुंचने की चिंता हुई खत्म, रेलवे ने किया ये खास इंतजाम

News Nation Bureau | Edited By : Sunder Singh | Updated on: 30 Jul 2022, 08:43:13 AM
Indian railway

सांकेतिक तस्वीर (Photo Credit: News Nation)

highlights

  • IRCTC ने जारी किया ई-बाइक रेंटल सेवा का किराया व टाइमिंग 
  • पहले केवल एक ही स्टेशन से शुरू की गई ई-बाइक रेंटल सेवा 
  • पायलट प्रोजेक्ट के बाद अन्य स्टेशनों पर भी दी जाएगी सुविधा

नई दिल्ली :  

Indian Railway: अक्सर लोगों को रेलवे स्टेशन से अपने गणत्व्य तक पहुंचने में बहुत परेशानी होती है. ये परेशानी तब और बढ़ जाती है जब टाइम देर शाम हो . समस्या के निदान के लिए रेलवे ने स्टेशन (Indian Railway) से यात्रियों को घर पहुंचाने के लिए भी खास इंतजाम किया है. हालाकि ये इंतजाम अभी एक ही स्टेशन से शुरू किया है. ट्रायल सफल होने के बाद देश के अन्य स्टेशनों से भी ई-बाइक सेवा शुरू करने की  पूरी तैयारी आईआरसीटीसी की है. ताजा खबर तिरुचि रेलवे स्टेशन (Tiruchi Railway Station) से सामने आई हैं. बताया गया है कि यहां IRCTC ई-बाइक रेंटल सेवा शुरु करने जा रहा है. जिससे यात्रियों को काफी फायदा होगा. ट्रेन छोड़ने के पहले ही यात्री ई-बाइक सेवा बुक करके अपने गणत्व्य स्थान पर पहुंच जाएंगे. 

यह भी पढ़ें : सिर्फ 1499 रुपये में लीजिये ​हवाई सफर आनंद, टिकट बुकिंग का मौका सिर्फ आज

हालाकि सेवा को शुरू करने की बात तो 2021 से चल रही थी. लेकिन सेवा को हाल ही में सुचारू करने की सूचना है. आपको बता दें कि तिरुचि रेलवे स्टेशन पर ई-बाइक रेंटल सेवा शुरू हो चुकी है. इस सुविधा का लोगों की तरफ से अच्छा फीडबैक मिल रहा है, जिसके बाद से ही इसे एक बड़ा हिट माना जा रहा है. न्यूज एजेंसी आईएएनएस के मुताबिक, फिलहाल यह सेवा सुबह नौ बजे से रात नौ बजे तक उपलब्ध है. वहीं, तिरुचि जिले में यह एकमात्र ई-बाइक रेंटल सेवा है. सदर्न रेलवे (Southern Railway)से जुड़ी रेंटल कंपनी के मुताबिक, यह फिलहाल प्रति घंटा, हर रोज और साप्ताहिक आधार पर ई-बाइक रेंटल सर्विस उपलब्ध कराई रही हैं.
ये रहेगा किराया 
फिलहाल ई-बाइक सेंटर 50 रुपये प्रति घंटे के हिसाब से ई-बाइक लोगों को किराए पर उपलब्ध करा रहा है. लेकिन ग्राहकों को 1000 रुपये सुरक्षा के तौर पर भी जमा कराने होंगे. इसके अलावा इसमें आधार कार्ड के साथ-साथ ड्राइविंग लाइसेंस की कॉपी भी देनी होगी. बता दें, ई-बाइकों में इनबिल्ट जीपीएस सुविधा है, जिसकी मदद से किसी भी स्थिति में इनका आसानी से पता लगाया जा सकता है. यही नहीं इस सुविधा का लाभ उठाने के लिए आपको रेल यात्री होना आवश्यक नहीं है और ना ही ट्रेन का सफर करना जरूरी है. एक नॉर्मल व्यक्ति भी ई-बाइक सुविधा का इस्तेमाल कर सकता है. बस इसके लिए कुछ शर्त रखी गई है. जैसे कोई भी सेवा का लाभ लेने वाला व्यक्ति इसे जिले से बाहर नहीं ले जाएगा.

First Published : 30 Jul 2022, 08:43:13 AM

For all the Latest Utilities News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.