News Nation Logo

इन लोगों के लिए बुरी खबर, रेलवे नहीं देगा सरकारी नौकरी

अगर आपने भी कहीं न कहीं पिछले 6 माह में रेलवे ट्रैक (railway track)पर प्रदर्शन किया है. या कहीं न कहीं रेलवे की संपत्ति को नुकसान पहुंचाया है तो आपको यह खबर झटका देने वाली है. क्योंकि रेलवे ने ऐसे लोगों के लिए बाकायदा नोटिस जारी कर ऐलान किया है.

News Nation Bureau | Edited By : Sunder Singh | Updated on: 24 Jun 2022, 02:58:40 PM
Railway sarvive

सांकेतिक तस्वीर (Photo Credit: News Nation)

highlights

  • आजीवन नौकरी रहेगी रेलवे व अन्य विभागों में बैन 
  • अग्निपथ योजन के विरोध में रेलवे को उठाना पड़ा हजारों करोड़ का नुकसान  

नई दिल्ली :  

अगर आपने भी कहीं न कहीं पिछले 6 माह में रेलवे ट्रैक (railway track)पर प्रदर्शन  किया है. या कहीं न कहीं रेलवे की संपत्ति को नुकसान पहुंचाया है तो आपको यह खबर झटका देने वाली है. क्योंकि रेलवे ने ऐसे लोगों के लिए बाकायदा नोटिस जारी कर ऐलान किया है. रेलवे के मुताबिक रेलवे ट्रैक पर देशभर में कहीं भी प्रदर्शन करने वाले युवाओं को जिंदगीभर सरकारी नौकरी (Government Job)नहीं मिलेगी. रेलवे के अलावा अन्य विभाग में भी उसके लिए सरकारी नौकरी(Government Job) के दरवाजे बंद रहेंगे. क्योंकि रेलवे ट्रैक पर प्रदर्शन (demonstration on railway track)करना एक गंभीर क्राइम है.  आपको बता दें कि इस समय कई राज्यों में अग्निपथ योजना को लेकर प्रर्दशन चल रहे हैं. कई राज्यों में युवाओं ने रेलवे ट्रैक को नुकसान पहुंचाया है. साथ ही रेल को भी आग के हवाले कर दिया है. इससे पहले भी रेलवे भर्ती बोर्ड परीक्षा (RRB NTPC)को लेकर इन दिनों कई जगहों पर विरोध प्रदर्शन के चलते रेलवे को काफी नुकसान उठाना पड़ा था.

आजीवन रहेगा प्रतिबंद
दरअसल, इन दिनों अग्निपथ योजना का कड़ा विरोध चल रहा है. बिहार में दर्जनों ट्रेनों को युवाओं ने आग के हवाले कर दिया. जिस कारण रेलवे को हजारों करोड़ रुपए का नुकसान हुआ. इससे पहले भी रेलवे भर्ती बोर्ड की एनटीपीसी (RRB NTPC) के लिए देशभर में करीब 1.25 करोड़ प्रतिभागियों ने आवेदन किया था. यह नॉन टेक्‍नीकल नौकरियों होती हैं. इसके लिए सीबीटी 1 की परीक्षा हो चुकी है. हालांकि नोटिस के अनुसार 2019 में प्रक्रिया पूरी होनी थी, लेकिन कोरोना की वजह से प्रक्रिया में विलंब हो गया है. इसे लेकर अब पटना समेत कई जगह विरोध प्रदर्शन शुरू हुआ है. प्रतिभागियों ने रेलवे ट्रैक पर प्रदर्शन कर रेल का संचालन पूरी तरह से ठप कर दिया. इसके अलावा रेलवे की संपत्ति को नुकसान पहुंचाया है. इसी को लेकर रेलवे बोर्ड सख्‍त हो गया है. बोर्ड ने नो‍टिस जारी कर ऐसे छात्रों पर रेलवे या किसी अन्‍य सरकारी नौकरी के लिए आजीवन प्रतिबंध लगाने की बात कही है.

नोटिस में आगे उल्लेख किया गया है कि रेलवे भर्ती बोर्ड (आरआरबी) सत्यनिष्ठा के उच्चतम मानकों को बनाए रखते हुए निष्पक्ष और पारदर्शी भर्ती प्रक्रिया संचालित करने के लिए प्रतिबद्ध हैं. रेलवे नौकरी के इच्छुक उम्मीदवारों/उम्मीदवारों को सलाह दी जाती है कि वे गुमराह न हों या ऐसे तत्वों के प्रभाव में न आएं जो अपने स्वार्थ को पूरा करने के लिए उनका इस्तेमाल करने की कोशिश कर रहे हैं. रेलवे ने प्रदर्शनकारियों को चिंहित करने के लिए एजेंसी का साहरा लेने की बात भी कही है. हालाकि विपक्ष इसे दमनकारी नीति करार दे रहा है. क्योंकि विरोध प्रदर्शन लोकतंत्र का ही हिस्सा है. लेकिन रेलवे का मानना है कि रेलवे ट्रैक पर विरोध प्रदर्शन गंभीर आरोप है. इसलिए इसमें संलिप्त पाये जाने वाले लोगों को आजीवन नौकरी नहीं मिलेगी.

First Published : 24 Jun 2022, 02:58:40 PM

For all the Latest Utilities News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.