News Nation Logo
Quick Heal चुनाव 2022

श्रमिकों के खाते में जमा होंगे 2000 रुपए, योगी सरकार की बड़ी घोषणा

उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के मजदूरों के लिए ये खबर कुछ राहत भरी है. प्रदेश की योगी सरकार (Yogi government) ने असंगठित क्षेत्र में काम कर रहे श्रमिकों को 2000 रुपए (2000 rupees) देने की योजना बनाई है.

News Nation Bureau | Edited By : Sunder Singh | Updated on: 22 Dec 2021, 04:50:20 PM
yogi

file photo (Photo Credit: News Nation)

highlights

  • भत्ता भरण-पोषण के तहत दो किस्तों में भेजे जाएंगे पैसे
  • नए साल क अवसर पर पहली किस्त जारी करने की तैयारी 
  • विधानमंडल शीतकालीन सत्र में 4 हजार करोड़ के बजट की हुई व्यवस्था 

नई दिल्ली :

उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के मजदूरों के लिए ये खबर कुछ राहत भरी है. प्रदेश की योगी सरकार  (Yogi government) ने असंगठित क्षेत्र में काम कर रहे श्रमिकों को 2000 रुपए (2000 rupees) देने की योजना बनाई है. ये पैसें मजदूरों को दो किस्तों में वितरित किए जाएंगे. जानकारी के मुताबिक नए साल के अवसर पर यानि जनवरी में मजदूरों के खाते में पहली किस्त के रूप 1000 रुपए ट्रांसफर करने की योजना है. श्रम विभाग ने इसकी पूरी तैयारी कर ली है. 31 दिसंबर तक उत्तर प्रदेश असंगठित कर्मकार सामाजिक सुरक्षा बोर्ड में पंजीकृत होंगे. दो माह के लिए मजदूरों को भत्ते की पहली किस्त के तौर पर एक हजार रुपये जनवरी में देने की तैयारी की जा रही है. हालाकि मजदूर इसे बहुत बड़ी मदद नहीं मान रहे हैं.

ये भी पढ़ें : इन महिलाओं के खाते में आए 4000 रुपए, Modi सरकार ने दिया नए साल का गिफ्ट

आपको बता दें कि उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने विधानमंडल के शीतकालीन सत्र के दौरान पेश किये गए चालू वित्तीय वर्ष के दूसरे अनुपूरक बजट में असंगठित क्षेत्र के मजदूरों को 2000 रुपये भरण-पोषण भत्ता देने के लिए 4000 करोड़ रुपये की व्यवस्था की है. उत्तर प्रदेश असंगठित कर्मकार सामाजिक सुरक्षा बोर्ड में अब तक लगभग 2.5 करोड़ मजदूर पंजीकृत हो चुके हैं. मजदूरों के बैंक खातों में यह रकम सीधे भेजी जाएगी. फोरी तौर सरकार ने इसके निर्देश श्रम विभाग को दे दिए गए हैं. जानकारी के मुताबिक श्रम विभाग अगले माह मजदूरों के खाते में पहली किस्त ट्रांसफर कर देगा. 

तीसरी लहर की आशंका
फिलहाल बोर्ड के सचिव को मजदूरों को आधार से लिंक करने के लिए कहा गया है. जिन असंगठित कामगारों को बोर्ड की ओर से किसान सम्मान निधि या अन्य किसी माध्यम से भरण-पोषण भत्ता दिया जा रहा है, उन्हें कोई धनराशि नहीं दी जाएगी. सरकार ने संक्रमण की तीसरी लहर को देखते हुए मजदूरों की मदद के लिए यह धनराशि देने का बजट तैयार किया है. क्योंकि सरकार का मानना है कि हो सकता है आने वाले समय में राज्य में लॅाकडाउन लगाना पड़े.

First Published : 22 Dec 2021, 04:50:20 PM

For all the Latest Utilities News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.