logo-image
लोकसभा चुनाव

पश्चिम बंगाल: संदेशखाली केस का मास्टरमाइंड शाहजहां शेख गिरफ्तार, ED टीम पर हमले के बाद से चल रहा था फरार

पश्चिम बंगाल के संदेशखाली हिंसा के मुख्य आरोपी को बंगाल पुलिस ने 55 दिन बाद धर दबोचा है. पुलिस ने शाहजहां को गुरुवार की सुबह ही सरबेरिया इलाके से उठाया है.

Updated on: 29 Feb 2024, 08:47 AM

नई दिल्ली:

पश्चिम बंगाल के संदेशखाली हिंसा के मुख्य आरोपी और टीएमसी नेता शाहजहां शेख को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. बंगाल पुलिस ने 55 दिन बाद मुख्य आरोपी को पकड़ा है. पुलिस ने शाहजहां को गुरुवार की सुबह ही सरबेरिया इलाके से उठाया है. फिलहाल उसे बशीरहाट में पुलिस लॉकअप में रखा गया है.  कोलकाता हाई कोर्ट के आदेश के बाद बंगाल पुलिस ने गिरफ्तार किया है. संभावना जताई जा रही है कि बंगाल पुलिस उसे आज ही कोर्ट में पेश करेगी. 

शाहजहां शेख संदेशखाली यूनिट का टीएमसी अध्यक्ष रहा है. इसपर बंगाल राशन वितरण घोटाले का आरोप है. 5 जनवरी को ईडी की टीम शाहजहां से इस मामले में पूछताछ करने पहुंची थी, उस समय उसके गुर्गों ने ईडी की टीम पर हमला कर दिया था. इसमें ईडी के अधिकारी बुरी तरह से जख्मी हो गए थे. वहीं, घटना के बाद से शाहजहां शेख फरार चल रहा था. ईडी लगातार पूछताछ के लिए शाहजहां शेख को समन जारी कर रही थी, लेकिन वह कोई जवाब नहीं दे रहा था. पिछले दिनों कोलकाता हाईकोर्ट ने शाहजहां शेख को गिरफ्तार करने का आदेश जारी किया.. तब जाकर बंगाल पुलिस ने सरबेरिया इलाके से उसे आज तड़के गिरफ्तार किया. 

हाईकोर्ट ने दिया था गिरफ्तार करने का आदेश

बता दें कि पश्चिम बंगाल के संदेशखाली में महिलाओं से कथित यौन शोषण और हिंसा के मामले ने देश को झकझोर कर रख दिया. इस मामले को लेकर  कलकत्ता हाई कोर्ट ने सख्त आदेश जारी किया था. हाई कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश ने शेख शाहजहां के नाम को संदेशखाली मामले में जोड़ने का आदेश जारी किया था. मुख्य न्यायाधीश ने कहा था कि संदेशखाली मामलों में कोई स्थगन आदेश नहीं है और शेख शाहजहां को गिरफ्तार न करने का कोई कारण नहीं है. उसे तत्काल रूप से गिरफ्तार किया जाए. 

जमीन हड़पने और महिलाओं के साथ यौन शौषण के आरोप

शाहजहां शेख पर संदेशखाली के लोगों की जमीन हड़पने और महिलाओं के साथ यौन शौषण करने के भी कई गंभीर आरोप हैं. संदेशखाली की पीड़ित महिलाओं और लोगों ने टीएमसी नेता शाहजहां शेख के खिलाफ कई बार विरोध प्रदर्शन किया है. इसके साथ ही बंगाल में मुख्य विपक्षी दल भाजपा ने भी पीड़ितों के समर्थन में शेख के खिलाफ प्रदर्शन कर सख्त कार्रवाई की मांग की.