News Nation Logo

कोलकाता के एक पूजा पंडाल में मुख्यमंत्री ममता बनर्जी जैसी मूर्ति स्थापित

मूर्ति का प्रत्येक हाथ सरकार के लखी भंडार जैसी योजनाओं और उसके जैसी अन्य पहलों में से एक का प्रतिनिधित्व करता है.

News Nation Bureau | Edited By : Pradeep Singh | Updated on: 07 Oct 2021, 09:14:58 PM
Durga puja

नज़रूल पार्क उन्नयन समिति के पंडाल में ममता बनर्जी की मूर्ति (Photo Credit: TWITTER HANDLE)

highlights

  • कोरोना संक्रमण के मद्देनजर कलकत्ता उच्च न्यायालय ने कोविड प्रोटोकॉल का पालन करने का आदेश
  • हाईकोर्ट के निर्देशों को लागू करने के लिए कोलकाता पुलिस ने शुरू कर दी है अपनी गतिविधियां  
  • दुर्गा पूजा पंडालों में दुर्गा की मूर्ति के साथ महंगाई, भ्रष्टाचार और आतंकवाद से संबंधित मूर्तियों को भी लगाया जाता रहा है

कोलकाता:

पश्चिम बंगाल में दुर्गा पूजा आयोजकों ने इस बार कोलकाता के एक पूजा पंडाल में मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के चेहरे से मिलती-जुलती दुर्गा की मूर्ति स्थापित की है. मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के चेहरे से मिलती-जुलती यह मूर्ति बागुईआटी नज़रूल पार्क उन्नयन समिति ने लगायी है. बागुईआटी नज़रूल पार्क उन्नयन समिति के अध्यक्ष इंद्रनाथ बागुई कहते हैं, "मूर्ति का प्रत्येक हाथ सरकार के लखी भंडार जैसी योजनाओं और  उसके जैसी अन्य पहलों में से एक का प्रतिनिधित्व करता है." पूजा पंडाल में  ममता बनर्जी सरकार की योजनाओं और नीतियों का प्रचार किया जा रहा है. 

पश्चिम बंगाल में दुर्गा पूजा बड़े धूम-धाम से मनाया जाता है. दुर्गा पूजा पंडालों में देवी दुर्गा की मूर्ति के साथ  महंगाई, भ्रष्टाचार और आतंकवाद से संबंधित मूर्तियों को लगाया जाता रहा है. इसके पहले भी बंगाल के दुर्गा पूजा पंडालों में आतंक का महिषासुर आदि की मूर्तियां लगती रही हैं. लेकिन मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के रूप में मूर्ति को स्थापित करना निश्चित ही उनकी जनता में बढ़ती लोकप्रियता और राजनीतिक शाक्ति है.

यह भी पढ़ें: BJP की राष्ट्रीय कार्यकारिणी से मेनका-वरुण गांधी बाहर, सिंधिया और मिथुन शामिल

विधानसभा चुनाव में जिस तरह से ममता बनर्जी ने जिस तरह से बंगाल की अस्मिता, संस्कृति, भाषा, खान-पान और महापुरुषों का मुद्दा उठाया उससे बंगाली मानुष ममता बनर्जी के प्रति पहले से अधिक आकर्षित हुआ है.

कोलकाता पुलिस विभिन्न पूजा पंडालों का कर रही है दौरा

कोरोना वायरस के संक्रमण के मद्देनजर कलकत्ता उच्च न्यायालय ने पिछले साल की तरह त्योहार पर प्रतिबंध को बरकरार रखा है. कोर्ट ने दुर्गा पूजा पर पिछले साल के दिशा-निर्देशों को बरकरार रखा और कहा कि इस साल भी सभी कोविड प्रोटोकॉल के अनुसार त्योहार मनाया जाना चाहिए. इस बीच हाईकोर्ट के निर्देशों को लागू करने के लिए कटिबद्ध कोलकाता पुलिस ने अपनी गतिविधियां शुरू कर दी हैं. लालबाजार पुलिस कड़ी नजर रखे हुए है. ताकि कोई भी क्लब या पूजा समिति कोर्ट के आदेश का उल्लंघन न कर सके.

पश्चिम बंगाल की ऐतिहासिक दुर्गा पूजा के दौरान कोरोना नियमों का पालन सुनिश्चित करवाने के लिए कोलकाता पुलिस और अग्निशमन विभाग ने निरीक्षण शुरू की है.  कोलकाता पुलिस के संयुक्त आयुक्त (मुख्यालय) शुभंकर सिन्हा सरकार के नेतृत्व में पुलिस की टीम विभिन्न पंडालों का दौरा कर रही है. इसके अलावा कोलकाता में बिजली आपूर्ति करने वाली मुख्य कंपनी कोलकाता इलेक्ट्रिक सप्लाई कारपोरेशन (सीईएसई) की टीम भी विभिन्न क्षेत्रों में जाकर पंडाल में बिजली आपूर्ति और सुरक्षा की व्यवस्था परख रही है.  

First Published : 07 Oct 2021, 09:13:59 PM

For all the Latest States News, West Bengal News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो