News Nation Logo
Banner

अस्थाई मजदूरों ने ममता सरकार के खिलाफ खोला मोर्चा, जानें पीछे की वजह

पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव (West bengal Assembly Election) से पहले ममता सरकार (Mamata government) के तहत काम करने वाले अस्थाई श्रमिक अब उनके लिए एक बड़ी मुसीबत बनकर सामने आ गए हैं.

Written By : उदय प्रताप सिंह | Edited By : Nitu Pandey | Updated on: 28 Dec 2020, 05:51:06 PM
majdoor

अस्थाई मजदूरों ने ममता सरकार के खिलाफ खोला मोर्चा (Photo Credit: न्यूज नेशन ब्यूरो )

नई दिल्ली :

पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव (West bengal Assembly Election) से पहले ममता सरकार (Mamata government) के तहत काम करने वाले अस्थाई श्रमिक अब उनके लिए एक बड़ी मुसीबत बनकर सामने आ गए हैं. ममता सरकार के द्वारा चलाई जा रही सामाजिक सुरक्षा योजना के तहत कार्य करने वाले हजारों अस्थाई मजदूरों ने बकाया वेतन नही मिलने को लेकर आज कोलकाता के इंडोर स्टेडियम में जमकर बवाल किया है.

मजदूरों का ये आरोप है कि लॉकडाउन के समय से ही राज्य सरकार के अधीन कार्य कर रहे S.L.O अस्थाई मजदूरों का वेतन बंद हो गया था. जिसकी वो लगातार मांग कर रहे थे. आज उसी मांगों को लेकर कोलकाता के इंडोर स्टेडियम में श्रम और कानून मंत्री मलय घटक, नगर विकास मंत्री फिरहाद हकीम और साधन पाण्डे के नेतृत्व में एक बैठक हुई. हालांकि इस बैठक में श्रमिकों को लेकर कोई फैसला नहीं हुआ. जिससे नाराज श्रमिकों ने कार्यक्रम के दौरान ही बावल कर दिया. 

इसे भी पढ़ें:पीएम मोदी ने 100वीं किसान रेल को दिखाई हरी झंडी, अन्नदाता को लेकर कही ये बड़ी बातें

कार्यक्रम में बवाल होता देख सभी मंत्रियों को कार्यक्रम से जाना पड़ा. वहीं नाराज श्रमिकों ने स्टेडियम के बाहर लगे ममता की पोस्टर और बैनर को फाड़ डाला और राज्य सरकार के खिलाफ मोर्चा खोलते हुए जमकर प्रदर्शन किया. घटना के बाद से मौके पर तनावपूर्ण स्थिति है जिसको देखते हुए मौके पर भारी संख्या में पुलिस बल की तैनाती की गई है.

First Published : 28 Dec 2020, 05:51:06 PM

For all the Latest States News, West Bengal News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.