News Nation Logo

बंगाल चुनाव से पहले ओवैसी की पार्टी में फूट के आसार, बंगाल पार्टी प्रसिडेंट ने दिया ये बायान

बिहार विधानसभा चुनाव के बाद अब असदुद्दीन ओवैसी (Asaduddin Owaisi) की पार्टी  ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (AIMIM) पश्चीम बंगाल में भी चुनाव लड़ने के लिए ताल ठोंक रही है.

News Nation Bureau | Edited By : Avinash Prabhakar | Updated on: 03 Mar 2021, 06:40:56 PM
asw

Asaduddin Owaisi (Photo Credit: File)

कोलकाता:

बिहार विधानसभा चुनाव के बाद अब असदुद्दीन ओवैसी (Asaduddin Owaisi) की पार्टी  ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (AIMIM) पश्चीम बंगाल में भी चुनाव लड़ने के लिए ताल ठोंक रही है. लेकिन पश्चीम बंगाल में  AIMIM  चुनाव लड़ने से पहले ही लड़खड़ाती दिख रही है.  असदुद्दीन ओवैसी (Asaduddin Owaisi) के बंगाल में एंट्री के बाद से लगातार पार्टी से अलग अलग बयान आ रहे हैं. बंगाल पहुंचने के बाद ओवैसी ने सबसे पहले फुरफुराशरीफ के पीरजादा अब्बास सिद्दीकी (Abbas Siddiqui) से मुलाकात की थी. लेकिन अब्बास ओवैसी का साथ छोड़ कांग्रेस (Congress) और लेफ्ट (Left) का दामन थाम चुके हैं.
 
ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (AIMIM) के प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने दावा किया था कि वह बंगाल में तृणमूल और भाजपा दोनों को हराने के लिए अपने उम्मीदवार खड़े करेंगे. इसके लिए उन्होंने बंगाल के पदाधिकारियों से सलाह-मशविरा किये बगैर अपनी पार्टी की बागडोर फुरफुरा शरीफ के पीरजादा अब्बास सिद्दीकी के हाथों में सौंप दी. लेकिन अब्बास ओवैसी का साथ छोड़ कांग्रेस (Congress) और लेफ्ट (Left) का दामन थाम चुके हैं.

लेकिन अब खुद उनकी ही पार्टी के बंगाल ईकाई के प्रेसिडेंट जमीरुल हसन (Jamirul Hasan) कह रहे हैं कि AIMIM चुनाव में टीएमसी को नुकसान नहीं पहुंचाएंगे. ओवैसी को किसी ने misguide किया है. उन्होंने साफ कहा कि वह किसी भी कीमत पर बीजेपी को फायदा होने नहीं देंगे. जमीरुल हसन का कहना है कि तृणमूल कांग्रेस जहां भी कमजोर है, वहां उनकी पार्टी अपने उम्मीदवार उतारकर या तृणमूल की हर प्रकार से मदद करके भाजपा को सत्ता से दूर रखने में मदद करेगी. राज्य की सत्ता पर तृणमूल ही तीसरी बार काबिज हो, इस रणनीति के तहत एआइएमआइएम काम कर रही है.

जमीरुल हसन कह रहे हैं कि तृणमूल कांग्रेस जहां भी मजबूत स्थिति में है, वहां भी एआइएमआइएम उसकी जीत के अंतर को बढ़ाने में मदद करेगी. हसन ने कहा, ‘दीदी हमें जितना भी झटकें, हम उनसे चिपककर रहेंगे. वाम, कांग्रेस और फुरफुरा शरीफ के पीरजादा अब्बास सिद्दीकी की पार्टी आइएसएफ गठबंधन तृणमूल का वोट काटकर भाजपा की जीत सुनिश्चित करेगी. 
हसन ने कहा कि एआइएमआइएम ने उन सीटों की पूरी सूची तैयार कर ली है, जहां तृणमूल कांग्रेस कमजोर है. पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी इस मुद्दे पर समीक्षा के बाद 25 से 30 सीटों पर अपना उम्मीदवार उतारेंगे.

LIVE TV NN

NS

NS

First Published : 03 Mar 2021, 06:40:56 PM

For all the Latest States News, West Bengal News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.