logo-image
लोकसभा चुनाव

हनुमान चालीसा पाठ में शामिल होना इशरत जहां के लिए गुनाह हो गया, मोहल्‍ले में जीना हुआ मुहाल

हनुमान चालीसा पाठ में शामिल होने से नाराज मकान मालिक मनाजीर हुसैन ने इशरत को घर छोड़कर जाने को कहा है. बताया जा रहा है कि इशरत इस घटना से काफी डरी हुई हैं और पुलिस-प्रशासन से सुरक्षा की गुहार लगाई है.

Updated on: 18 Jul 2019, 08:58 AM

highlights

  • कट्टरपंथियों को आपत्‍ति, हिजाब पहनकर क्‍यों गई
  • बोले कट्टरपंथी, हमारा मुस्‍लिम समाज बदनाम हो रहा है
  • तीन तलाक का केस लड़ रही हैं इशरत जहां 

नई दिल्‍ली:

हनुमान चालीसा पाठ में शामिल होने पर इशरत जहां को मोहल्‍ला छोड़कर कहीं और जाने की धमकी दी गई है. इशरत जहां हावड़ा के डबसन रोड स्थित संकटमोचन हनुमान मंदिर में हनुमान चालीसा पाठ में शामिल हुई थीं. इशरत जहां तीन तलाक के खिलाफ लड़ाई लड़ रही हैं. हनुमान चालीसा पाठ में शामिल होने से नाराज मकान मालिक मनाजीर हुसैन ने इशरत को घर छोड़कर जाने को कहा है. बताया जा रहा है कि इशरत इस घटना से काफी डरी हुई हैं और पुलिस-प्रशासन से सुरक्षा की गुहार लगाई है.

यह भी पढ़ें : कोई चमत्‍कार ही बचा सकता है कुमारस्‍वामी सरकार को, आज अग्‍निपरीक्षा की घड़ी

इशरत जहां का कहना है कि बुधवार दोपहर अचानक सैकड़ों लोग घर के बाहर जमा हो गए और घर छोड़कर कही और जाने की धमकी दी. इशरत जहां हनुमान चालीसा पाठ में हिजाब पहनकर गई थीं. उनके घर पर जमा हुए सैकड़ों लोगों को इसी बात पर आपत्‍ति थी. लोगों ने इशरत से कहा, आपको हिजाब पहनकर पाठ में जाने की क्‍या जरूरत थी? इससे हमारे मुस्लिम समाज बदनाम हो रहा है.

यह भी पढ़ें : पाकिस्तान को पानी पी-पीकर कोस रहा खालिस्तान समर्थक नेता गोपाल चावला

इशरत जहां ने पुलिस-प्रशासन से समाज मे रहने देने के लिए उचित व्यवस्था करने की मांग की है. इशरत जहां को उनके शौहर ने तीन तलाक़ दे दिया था और वो तब से इस कुप्रथा के खिलाफ लड़ाई लड़ रही हैं. उस समय आसपास के लोगों ने उन्‍हें सरेआम अपमानित किया था. ससुरालियों के साथ मुस्लिम कट्टरपंथियों ने भी इशरत जहां का अपमान किया था. अब कट्टरपंथी ही इशरत को उस इलाके से बाहर कराने के लिए दबाव बना रहे हैं. इसी से घबराकर इशरत ने पुलिस-प्रशासन से सुरक्षा मांगी है और रहने देने की उचित व्‍यवस्‍था करने की मांग की है.