logo-image
लोकसभा चुनाव

Uttarakhand: उत्तराखंड में पर्यटकों को मिलने जा रही है बड़ी सुविधा, शुरू होगी जाइरोक्रॉप्टर की सैर

Uttarakhand: उत्तराखंड पर्यटन विभाग की ओर से शुरू की जा रही बड़ी सुविधा, जल्द ही पर्यटक जाइरोकॉप्टर सफारी का ले सकेंगे लुत्फ

Updated on: 18 Dec 2023, 04:18 PM

highlights

  • उत्तराखंड पर्यटक विभाग का बड़ा फैसला
  • सैलानियों के लिए शुरू होगी जाइरोकॉप्टर सफारी
  • जर्मनी से ट्रेंड पायलट इन खास तरह के विमानों को करेंगे संचालित

New Delhi:

Uttarakhand: देश के पहाड़ी राज्य उत्तराखंड से बड़ी खबर सामने आई है. पर्यटकों से लेकर श्रद्धालुओं के लिए उत्तराखंड का अपना खास महत्व है. देवभूमि होने के साथ-साथ पर्यटन के लिहाज से भी उत्तराखंड सैलानियों की सूची में काफी ऊपर माना जाता है. भारत के पर्यटन स्थलों में उत्तराखंड की अपनी पहचान है, यही वजह है कि यहां पर पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए उत्तराखंड पर्यटन विभाग की ओर से समय-समय पर कदम उठाए जाते हैं. इसी कड़ी में हाल में पर्यटन विभाग ने एक बड़ा कदम उठाया है. 

पर्यटकों मिलेगी एयर सफारी की सुविधा
उत्तराखंड की सैल करने वाला सलैनियों के लिए पहाड़ों के साथ-साथ अब सफारी भी काफी पसंद की जा रही है. जिम कॉरबेट जैसे जंगल सफारी के बढ़ते क्रेज को देखते हुए अब उत्तराखंड के पर्यटन विभाग ने हिमालयी एयर सफारी की शुरुआत करने की तैयार की है. इसके तहत उत्तराखंड आने वाले पर्यटकों को खास तरह की सैर करने का मौका मिलेगा. 

उत्तराखंड पर्यटक विभाग जल्द ही जाइरोकॉप्टर सफारी की शुरू करने जा रहा है. बताया जा रहा है कि देश में जाइरोकॉप्टर सफारी अपने तरह की पहली सुविधा होगी. जो किसी राज्य में दी जा रही है. 

यह भी पढ़ें - हल्द्वानी में संप्रेक्षण गृह में 15 साल की लड़की से दुष्कर्म, सेंटर की महिलाओं पर गंभीर आरोप

पहला टेस्ट रहा सफल
जाइरोकॉप्टर सफारी को लेकर एक टेस्ट भी हाल में किया गया है. शनिवार को इस टेस्ट हरिद्वार में किया गया. बताया जा रहा है कि ये टेस्ट पूरी तरह कामयाब रहा. इसके साथ ही जाइरोकॉप्ट की सुविधा शुरू करने के लिए सिविल एविएशन मिनिस्ट्री की ओर से भी मंजूरी ले ली गई है. 

जर्मनी से लाए गए जाइरोकॉप्टर
पर्यटकों को लुभाने और उत्तराखंड को और नजदीक से जानने के लिहाज से शुरू की जाने वाले जाइरोकॉप्टर सुविधा को लेकर बता दें कि ये जाइरोकॉप्टर जर्मनी से लाए गए हैं. जर्मनी टेक्नोलॉजी पर बेस्ड इन जोइरोकॉप्टर को उत्तराखंड के उन अनछुए पहलुओं से जोड़ा जाएगा जहां तक लोग आसानी से पहुंच नहीं पाते. या अब तक जो स्थल लोगों ने अब तक देखे नहीं हैं. इस जाइरोकॉप्टर को भी फिलहाल जर्मनी से ट्रेंड पायलट ही चलाएंगे. फिलहाल जाइरोकॉप्टर के लिए खास तरह की हवाई पट्टियां तैयार करने पर काम चल रहा है. 

हिमालयी एयर सफारी भी होगी शुरू
इसके साथ ही पर्यटक विभाग की ओर से दी गई जानकारी के मुताबिक, जल्द ही हिमालयी एयर सफारी भी शुरू की जाएगी. इसके तहत पर्यटक एक स्थान से दूसरे स्थान तक एयर टैक्सी के जरिए आ जा सकेंगे साथ ही हिमालय रेंज और शांत नदियों के दृश्यों का भी अलग व्यू से आनंद ले सकेंगे. 

क्या है जाइरोकॉप्टर
जाइरोकॉप्टर को ऑटोगाइरोस या फिर जाइरोप्लेन के नाम भी पहचाना जाता है. दरअसल ये हवाई जहाज और एयरोप्लेन से मिलते जुलते होते हैं. इस यान में एक शक्तिशाली रोटर लगा होता है जो विमान को उड़ाने में मदद करता है. इसे ओपन कॉकपिट से कंट्रोल किया जाता है. 

जाइरोकॉप्टर से क्या होगा फायदा
- जाइरोकॉप्टर के जरिए पर्यटक हवा से पहाड़ों के मनोरम दृश्य देख सकेंगे
- इसके जरिए नदियों के ऊपर से भी उड़ान भरी जाएगी, जो काफी मनोरम दृश्य होंगे
- इसके अलावा जंगल की सैर भी इन जाइरोकॉप्टर के जरिए पर्यटक आसानी से कर सकेंगे
- कम वक्त में पहाड़ों के खूबसूरत नजारों को पर्यटक अपने कैमरे में कैद कर सकेंगे. वो भी अलग ही एंगल से.