News Nation Logo
Banner

बिना बताए रेड डालने पर उत्तराखंड पुलिस ने यूपी पुलिस पर दर्ज किया हत्या का केस

IANS | Edited By : IANS | Updated on: 13 Oct 2022, 05:09:01 PM
village crowd

(source : IANS) (Photo Credit: (source : IANS))

काशीपुर:  

उत्तराखंड में उधमसिंह नगर के कुंडा थाना क्षेत्र के भरतपुर गांव में बुधवार देर शाम सादी वर्दी में दबिश देने आई यूपी पुलिस की कारवाई के दौरान हुई फायरिंग में जसपुर ब्लाक के प्रमुख की पत्नी की गोली लगने से मौत हो गई. मौत से आक्रोशित करीब 400 ग्रामीणों ने कुंडा थाने के सामने फोरलेन जाम कर दिया. जाम की सूचना पर भारी पुलिस फोर्स मौके पर पहुंचा. इस दौरान यूपी पुलिस के 3 जवान समेत 5 लोगों के भी घायल होने की बात सामने आ रही है. काशीपुर पुलिस ने ब्लॉक प्रमुख की तहरीर पर इस मामले में यूपी पुलिस के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज कर लिया है.

वहीं घटना का पता लगते ही उधमसिंह नगर पुलिस महकमे में हड़कंप मच गया. तत्काल डीआईजी कुमाऊं नीलेश आनंद भरणे घटनास्थल पर पहुंचे. उन्होंने कहा कि यूपी के मुरादाबाद से पुलिस की टीम बिना उत्तराखंड पुलिस को बताए रेड डालने आई थी. भरणे ने कहा कि यूपी पुलिस वर्दी में नहीं थी. हम जांच कर रहे हैं कि मुरादाबाद पुलिस ने ऐसा क्यों किया. डीआईजी ने कहा कि विभिन्न धाराओं समेत हत्या और षडयंत्र का मुकदमा दर्ज किया है.

डीआईजी नीलेश आनंद भरणे ने कहा कि यूपी पुलिस के लोग उधमसिंह नगर पुलिस की अभिरक्षा से भागे हैं. इसकी भी जांच की जा रही है. उन्होंने कहा कि यूपी के घायल पुलिस कर्मियों को जब एलडी भट्ट अस्पताल में भर्ती कराया गया तो वो लोग वहां से भाग गए. ये भी शिकायत है कि सूर्या चौकी में जब यूपी पुलिस को रोकने की कोशिश की गई तो वो बैरीकेड तोड़कर भाग गए. डीआईजी ने कहा कि यूपी पुलिस से पूछा गया है कि अगर वो मुजरिम को पकड़ने आने वाले थे तो उन्होंने पहले क्यों नहीं बताया.

इस घटना की जानकारी लगते ही स्थानीय विधायक अरविंद पांडे भी तत्काल घटनास्थल पर पहुंचे. उन्होंने कहा कि उत्तराखंड पुलिस ने तत्काल जांच शुरू की. हमें अपनी पुलिस पर पूरा भरोसा है. अरविंद पांडे ने कहा कि ब्लॉक प्रमुख ने काफी सहनशीलता का परिचय दिया है. उन्होंने कहा कि जनता गुस्से में थी. कोई भी बड़ी घटना हो सकती थी. अरविंद पांडे ने कहा कि यूपी पुलिस के नाम पर जिन्होंने ये गुंडागर्दी की है ये असहनीय है. हमने मुख्यमंत्री से बात की है. हमें विश्वास है कि पुलिस इस घटना का खुलासा करेगी और न्याय मिलेगा.

इस बड़ी घटना में उधमसिंह नगर के एसएसपी और कुमाऊं डीआईजी के बयानों में विरोधाभास भी नजर आया है. एसएसपी मंजूनाथ टीसी का कहना है कि हमें मुरादाबाद पुलिस से आपातकालीन सूचना मिली थी कि वे वांछित अपराधी की गिरफ्तारी के लिए आएंगे. लेकिन स्थानीय लोगों के साथ झड़प हुई. दोनों पक्षों ने गोलीबारी की. जब हम पहुंचे तो देखा कि एक महिला की गोली मारकर हत्या कर दी गई है. मुरादाबाद के 3 पुलिस अधिकारी घायल हैं.

उधमसिंह नगर के एसएसपी मंजूनाथ टीसी ने कहा कि यह संवेदनशील मामला है. पीड़ित महिला के परिवार ने तहरीर दी है. मामला दर्ज कर लिया है. आगे की जांच केवल बयानों पर नहीं, बल्कि तथ्यों पर आधारित होगी. जांच के लिए फॉरेंसिक और सीसीटीवी साक्ष्य इस्तेमाल होंगे.

First Published : 13 Oct 2022, 05:09:01 PM

For all the Latest States News, Uttarakhand News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.