News Nation Logo

गणेश गोदियाल ने शिक्षा के लिए किया ये काम, जिसे सुन हो जाएंगे विपक्षी हैरान

कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष गणेश गोदियाल (Ganesh Godiyal) उत्तराखंड की राजनीति में एक जाना-पहचाना नाम हैं. कई बड़े नेताओं को पछाड़ने के बाद जिस तरह से अध्यक्ष (President)पद की कुर्सी पर उनकी ताजपोशी हुई है.उसे सुन सभी को हैरानी हुई है .

News Nation Bureau | Edited By : Vaishnavi Dwivedi | Updated on: 14 Oct 2021, 11:09:24 AM
Ganesh Godiyal

Ganesh Godiyal (Photo Credit: News Nation)

हरिद्वार:

कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष गणेश गोदियाल (Ganesh Godiyal) उत्तराखंड की राजनीति में एक जाना-पहचाना नाम हैं. कई बड़े नेताओं को पछाड़ने के बाद जिस तरह से अध्यक्ष (President)पद की कुर्सी पर उनकी ताजपोशी हुई है.उसे सुन सभी को हैरानी हुई है .जिनकी राजनीति में दिलचस्पी है वो गोदियाल के बारे में जानकारी हासिल  करने लगे है.गणेश गोदियाल  (Ganesh Godiyal) उत्तराखंड राज्य में भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस से भारतीय राजनेता हैं .वर्तमान में वह उत्तराखंड प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष (President)के पद पर कार्यरत हैं .गणेश ने तीसरी उत्तराखंड विधान सभा में श्रीनगर विधानसभा क्षेत्र का प्रतिनिधित्व किया.वर्ष 2002 - 2007 पहली उत्तराखंड विधानसभा के लिए निर्वाचित किये गए .वहीं 2012 - 2017 पहली उत्तराखंड विधानसभा के लिए निर्वाचित किए गए .गणेश गोदियाल मूल रूप में पौड़ी जिले के बहेड़ी गांव पैठाणी इलाके के रहने वाले हैं.

यह भी जानें -काजी निजामुद्दीन का अर्श से फर्श तक का सफर, देखें यहां...

 व्यक्तिगत जीवन में उन्होंने जी-तोड़ मेहनत कर सफलता  हासिल की.उन्होंने किसी भी काम को छोटा बड़ा नहीं समझा. गायें पालने से लेकर मुंबई की सड़कों पर सब्जी-फल तक बेचने तक का काम किया. और  मायानगरी में एक सफल व्यवसायी का खिताब भी हासिल किया.  अपनी मेहनत और योग्यता के दम पर  महानगरों में कामयाबी हासिल की .और अपनी पैतृक भूमि में लौट आए .. जब पौड़ी जिले को पिछड़े में मापा जाता था . तब उन्होंने उसे ही अपनी कर्मभूमि बनाया.बतादें जब इस क्षेत्र में कोई महाविद्यालय न होने के कारण राठ के ज्यादातर युवाओं को इंटरमीडिएट के बाद पढ़ाई छोड़नी पड़ी थी. उसी दौरान गोदियाल ने पैठाणी में राठ महाविद्यालय की स्थापना की.जिसपर उनके विरोधियों ने ये कहकर उनका मजाक बनाया था .कि इस दूरस्थ क्षेत्र में बगैर सरकारी सहायता के कैसे डिग्री कॉलेज बन पाएगा? लेकिन उन्होंने यह कर दिखाया ..आज राठ महाविद्यालय राठ क्षेत्र में उच्च शिक्षा का सबसे बड़ा केंद्र बनकर उभरा है..और यह संभव हो पाया है मात्र गणेश गोदियाल की वजह से .

First Published : 14 Oct 2021, 11:09:24 AM

For all the Latest States News, Uttarakhand News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.