News Nation Logo

आठ माह से लापता जवान का शव आख़िरकार यहां से मिला

कश्मीर घाटी में आठ महीने पहले भारत-पाकिस्तान सीमा पर गश्त के दौरान लापता हुए सेना के हवलदार राजेंद्र सिंह नेगी का शव बरामद हो गया है. उनके परिजनों ने सोमवार को इसकी जानकारी दी.

PTI | Updated on: 17 Aug 2020, 02:36:39 PM
Indian Army

भारतीय सेना (Photo Credit: File)

देहरादून:

कश्मीर घाटी में आठ महीने पहले भारत-पाकिस्तान सीमा पर गश्त के दौरान लापता हुए सेना के हवलदार राजेंद्र सिंह नेगी का शव बरामद हो गया है । उनके परिजनों ने सोमवार को इसकी जानकारी दी .

नेगी के चचेरे भाई दिनेश नेगी ने बताया कि जवान का शव मिलने की जानकारी उनकी बटालियन के एक अधिकारी ने उनकी पत्नी को दी है. उन्होंने बताया कि दिवंगत जवान का शव उनके लापता होने के आठ महीने के बाद शनिवार को कश्मीर के गुलमर्ग के जंगलों में बरामद हुआ. इससे पहले माना जा रहा था कि 11 वीं गढवाल राइफल्स में तैनात नेगी आठ जनवरी को आए बर्फीले तूफान के दौरान फिसलकर पाकिस्तान की तरफ गिर गए. सेना ने नेगी का पता लगाने का काफी प्रयास किया लेकिन इसमें सफलता नहीं मिलने पर इस साल मई में उन्हें 'शहीद' का दर्जा देते हुए मृत घोषित कर दिया गया. हांलांकि, शनिवार को गुलमर्ग क्षेत्र से एक शव बरामद हुआ जिसकी पहचान हवलदार राजेंद्र सिंह नेगी के रूप में हुई.

ये भी पढ़ें: जम्मू और कश्मीर न्यूज़ सुरक्षाबलों ने लिया 3 जवानों की शहादत का बदला, 1 आतंकी ढेर

नेगी मूल रूप से चमोली जिले के आदिबद्री तहसील के पजियाणा गांव के रहने वाले थे.परिजनों ने बताया कि दिवंगत नेगी के शव की कोविड-19 जांच सहित सभी प्रक्रियाएं पूरी की जा रही हैं और 18 या 19 अगस्त तक उनका शव देहरादून पहुंचेगा. मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने रविवार की देर रात सोशल मीडिया पर किये गये पोस्ट में जवान को श्रद्धांजलि दी और कहा कि वह उन्हें सैल्यूट करते हैं. रावत ने दिवंगत आत्मा की शांति के लिये प्रार्थना की. इसके साथ ही उन्होंने कहा कि भगवान परिवार को इस कठिन समय को सहन करने की शक्ति दें. मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार उनके परिजनों के साथ खड़ी है. 

LIVE TV NN

NS

NS

First Published : 17 Aug 2020, 02:36:39 PM

For all the Latest States News, Uttarakhand News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.