News Nation Logo
Banner

योगी सरकार ने पत्रकारों के लिए किए 2 बड़े ऐलान, 5 लाख रु. तक का हेल्थ और मिलेगा ये...

योगी सरकार ने पत्रकारों के लिए दो बड़े ऐलान किये हैं. यूपी के अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश कुमार अवस्थी ने बताया कि आज मुख्यमंत्री ने पत्रकारों के लिए दो घोषणाएं की है.

Written By : रतिश त्रिवेदी | Edited By : Nitu Pandey | Updated on: 25 Sep 2020, 05:08:26 PM
CM Yogi

सीएम योगी आदित्यनाथ (Photo Credit: फाइल फोटो)

नई दिल्ली :

योगी सरकार ने पत्रकारों के लिए दो बड़े ऐलान किये हैं. यूपी के अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश कुमार अवस्थी ने बताया कि आज मुख्यमंत्री ने पत्रकारों के लिए दो घोषणाएं की है.पहली जिस भी पत्रकार की मौत कोरोना (Coronavirus) की वजह से होगी उन्हें 10 लाख रुपए तक की सहायता राशि दी जाएगी. दूसरी हर साल पत्रकारों को 5 लाख रु. तक का हेल्थ कवर दिया जाएगा.

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शुक्रवार को पंडित दीनदयाल की जयंती पर लखनऊ में पंडित दीनदयाल उपाध्याय सूचना भवन का लोकार्पण किया. इस अवसर पर उन्होंने पत्रकारों को बड़ा तोहफा दिया. सीएम योगी आदित्यनाथ ने प्रदेश के सूचना तथा जनसम्पर्क विभाग के सभी अधिकारियों व कर्मचारियों को नया कार्यालय मिलने पर बधाई दी.

इस मौके पर सीएम योगी ने कहा कि शासन का काम योजनाएं बनाना है. प्रशासन योजना लोगों तक पहुंचाता है. इसके बाद मीडिया सेतु के रूप में काम करता है. मीडिया तो सरकार और जनता के बीच सेतु का काम करता है.

इसे भी पढ़ें: एमपी में उप-चुनाव की तारीख का ऐलान टलने से सियासी दलों को राहत

इसके साथ ही उन्होंने कहा कि व्यक्ति की जैसी सोच होती है वैसा ही काम करता है, आज़ादी के बाद से कई सरकार आई और जो भी लोकमंगल के काम उन्होंने किए उसका जनता समय समय पर अपना निर्णय देती है.

योगी आदित्यनाथ ने कहा कि दीनदयाल उपाध्याय जी एक लोक मंगलकारी प्रणेता और स्वतंत्रता संग्राम सेनानी रहे है, अंत्योदय योजना जो उनका स्वप्न था इक साधुवादी सोच का परिचायक है. जो लोग गरीबी हटाओ के नाम पर बड़ी-बड़ी बाते करते रहे वो गरीबी को वास्तविकता में दूर नहीं कर सकते थे. उनकी इच्छा शक्ति नहीं थे, दीनदयाल उपाध्याय जी के सपने को प्रधानमंत्री मोदी जी ने पूरा किया. आज एक एक परिवार को लाभ मिल रहा है.

और पढ़ें: शास्त्री लाये थे एमएसपी, NDA सरकार इसे कमजोर कर रही: दिग्विजय सिंह

सीएम योगी ने आगे कहा कि जब मैं पहली बार सांसद बना तो JE से भयानक मौते होती थी, 1977 में पहली बार ये बीमारी आई पूर्वी यूपी में में पर किसी भी सरकार ने उसका संज्ञान नहीं लिया. हमारी सरकार ने इसको न्यूनतम स्तर पर ले गए.

उन्होंने आगे कहा कि सभी टीमों ने अपने-अपने स्तर पर कोविड की लड़ाई लड़ी. स्वच्छ भारत मिशन से हमको JE ओर Covid 19 से लडने में बड़ी सफलता मिली. मीडिया कर्मियों के लिए भी बड़ा काम किया जा सके इसके लिए संवाद बना रहना चाहिए.

First Published : 25 Sep 2020, 05:08:26 PM

For all the Latest States News, Uttar Pradesh News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो