News Nation Logo
Banner

योगी सरकार ने गरीब मजदूरों को दी बड़ी राहत, 27.15 लाख मजदूरों को भेजे 611 करोड़ रुपये

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सोमवार को अपने सरकारी आवास 5 कालिदास मार्ग पर मनरेगा योजना के तहत आयोजित कार्यक्रम में राज्य के 27.15 लाख श्रमिकों के बैंक खातों में सीधे 611 करोड़ रुपये भेज दिए हैं.

By : Kuldeep Singh | Updated on: 30 Mar 2020, 03:52:28 PM
Yogi Adityanath

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Photo Credit: फाइल फोटो)

लखनऊ:

कोरोना वायरस के मद्देनजर देशभर में 14 अप्रैल तक घोषित लॉकडाउन के चलते गरीब मजदूरों को उत्तर प्रदेश सरकार ने बड़ी राहत दी है. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सोमवार को अपने सरकारी आवास 5 कालिदास मार्ग पर मनरेगा योजना के तहत आयोजित कार्यक्रम में राज्य के 27.15  लाख श्रमिकों के बैंक खातों में सीधे 611 करोड़ रुपये भेज दिए हैं. इसके साथ ही सीएम योगी ने बहराइच, वाराणसी, सोनभद्र और देवरिया के 4 श्रमिकों से वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए बातचीत की और उन्हें योजना की जानकारी भी दी.

यह भी पढ़ेंः Lockdown: मजदूरों के पलायन पर सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र से मांगा जवाब, कल तक दाखिल करनी होगी रिपोर्ट

मुख्यमंत्री ने कहा कि जब पूरी दुनिया वैश्विक महामारी कोरोना से आतंकित हैं, उस वक्त ग्राम्य विकास विभाग और भारतीय स्टेट बैंक ने मिलकर एक साथ प्रदेश के 27 लाख 15 हजार से अधिक मनरेगा मजदूरों के खातों में 611 करोड़ की राशि भेजी है. उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का आभार जताते हुए कहा कि देश को कोरोना महामारी से बचाने और देश के उत्तम स्वास्थ्य, सुरक्षित भविष्य के लिए लॉकडाउन की कार्रवाई के साथ ही एक लाख 70 हजार करोड़ रुपये का आर्थिक पैकेज घोषित किया गया है. मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि लॉकडाउन के कारण पलायन कर रहे मजदूरों की स्थिति को देखकर सहज अनुमान लगा सकते हैं कि इस धनराशि का मजदूरों के लिए क्या महत्व है. वास्तव में आर्थिक स्वावलम्बन की ओर अग्रसर करने में स्वरोजगारपरक इन योजनाओं की बड़ी भूमिका है.

यह भी पढ़ेंः मस्जिदों-मदरसों में छिपे 'कोरोना बम' लॉकडाउन को लगा रहे पलीता, ऐसे 500 लोग निगरानी में

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि भारत सरकार उन्हें प्रतिमाह तीन महीने तक एक किलो दाल व 'उज्ज्वला योजना' के अंतर्गत रसोई गैस के सिलेंडर सभी परिवारों को तीन माह तक निःशुल्क उपलब्ध करवाने की भी कार्रवाई कर रही है. प्रदेश सरकार ने भी 80 लाख से अधिक मनरेगा श्रमिकों के लिए निःशुल्क खाद्यान्न की व्यवस्था की है. उन्होंने कहा कि 80 करोड़ गरीबों को पूरे देश में इन योजनाओं से लाभान्वित करने की दिशा में आज का यह कार्यक्रम बहुत महत्वपूर्ण है. मुख्यमंत्री ने कहा कि 'जनधन योजना' में जिन महिला लाभार्थियों के खाते हैं, उन सभी को 500 रुपये प्रतिमाह अतिरिक्त धनराशि मिलेगी. इसके अलावा वृद्धावस्था, निराश्रित महिला व दिव्यांगजन पेंशन में भारत सरकार एक हजार रुपये प्रतिमाह उन्हें तीन माह तक उपलब्ध कराएगी.

यह भी पढ़ें: हद हैः स्थिति सामान्य होते ही फिर हैवानियत पर उतारू चीनी, पढ़ें खास रिपोर्ट

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि विगत तीन वर्षों के दौरान उत्तर प्रदेश ने मनरेगा में 'मानव दिवस' के सृजन में बड़ी उपलब्धि हासिल की है. 2016-17 में कुल 15 करोड़ 69 लाख मानव दिवस सृजित किए गए थे, जबकि 2019-20 में 24 करोड़ 32 लाख 'मानव दिवस' मनरेगा के अंतर्गत रोजगार सृजन के लिए उपलब्ध करवाए गए हैं. उन्होंने कहा कि यह मानवीय संवेदना का वह पक्ष है जिसको लेकर बैंक के सभी अधिकारीगण पूरी तन्मयता के साथ इस महामारी के खिलाफ़ देश की इस लड़ाई को जीतने के लिए आगे बढ़कर युद्धस्तर पर कार्य कर रहे हैं. इस दौरान उन्होंने बैंक की शाखाएं चार बजे तक खोले जाने के लिए एसबीआई की मुख्यप्रबंधक को धन्यवाद दिया. मुख्यमंत्री ने कहा कि केंद्र और प्रदेश सरकार द्वारा गरीब कल्याण के लिए बनाई गई योजनाओं के माध्यम से कोरोना महामारी के खिलाफ उपलब्ध कराए गए पैकेज को समयबद्ध ढंग से सभी जरूरतमंद गरीबों, किसानों और सामान्य नागरिकों तक पहुंचाने में सरकार सफल होगी.

First Published : 30 Mar 2020, 03:34:43 PM

For all the Latest States News, Uttar Pradesh News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

×