News Nation Logo
Banner

अयोध्या में राम मंदिर के निर्माण के साथ अब भूगोल गढ़ने की तैयारी, जानना आपके लिए जरुरी

नई अयोध्या नगरी में वन क्षेत्र भी विकसित करने की योजना है. नए अयोध्या नगर में देवालय स्थापित किये जायेंगे. तो वही  इक्ष्वाकु वंश के राजाओं के नाम से बने भवन भी लोगों को भावविभोर कर देंगे.

News Nation Bureau | Edited By : Shailendra Kumar | Updated on: 07 Feb 2021, 09:05:24 PM
Ram Mandir in Ayodhya

अयोध्या में राम मंदिर के निर्माण के साथ अब भूगोल गढ़ने की तैयारी (Photo Credit: News Nation)

अयोध्या:

अयोध्या में राम मंदिर के निर्माण के साथ अब नई अयोध्या की भूगोल गढ़ने की तैयारी शुरु हो चुकी है. योगी सरकार अब अयोध्या में नई अयोध्या बसाने जा रही है. करीब 1200 एकड़ में बनने वाली नई अयोध्या का मास्टर प्लान तैयार कर लिया गया है. नई अयोध्या के लिए ज़मीनों का अधिग्रहण भी शुरू हो चुका है. अयोध्या में विकसित होने वाली नई अयोध्या को नव्य अयोध्या या फिर इक्ष्वाकु नगरी के नाम के साथ बसाया जा सकता है. अयोध्या में मंदिर निर्माण के साथ साथ नई अयोध्या बसाने की कवायद भी शुरू हो गई. वैदिक और स्मार्ट सिटी के समन्वय के साथ नई अयोध्या बसाई जाएगी. नई अयोध्या के लिए आवास-विकास परिषद ने सैकडोम एकड़ भूमि भी चिन्हित कर ली है. सूत्रों के मुताबिक नई अयोध्या के लिए अयोध्या का सीमा विस्तार भी किया जाएगा. नई अयोध्या के लिए जमीन अधिग्रहण का काम भी शुरू कर दिया गया है. रविवार को अयोध्या में सीएम की बैठके में भी नई अयोध्या के निर्माण को लेकर चर्चा की गई.

यह भी पढे़ं : मथुरा के शाही ईदगाह को हटाने के लिए दायर याचिका, कोर्ट ने जारी किया नोटिस

प्रस्तावित नई अयोध्या में आपको कही वैदिक मंत्रोच्चार सुनाई देगी तो कही यज्ञशाला और गुरुकुल दिखाई देगा. नई अयोध्या नगरी में वन क्षेत्र भी विकसित करने की योजना है. नए अयोध्या नगर में देवालय स्थापित किये जायेंगे. तो वही  इक्ष्वाकु वंश के राजाओं के नाम से बने भवन भी लोगों को भावविभोर कर देंगे. सूत्रों के मुताबिक प्रस्तावित योजना में  सरयू नदी के किनारे बनने वाली नई अयोध्या में निर्मित क्षेत्रफल 10 से 20 फीसद ही होगा. नए अयोध्या का विकास पूर्व एशियाई हिंदू वास्तुशैली और भारत की तीनों मंदिर वास्तुशैली नागर, द्रविड़ और बेसर के आधार पर विकसित करने की योजना है. साथ ही नई अयोध्या नगरी में जिन भवनों का निर्माण किया जाएगा उनमें भी भारतीय प्राचीन शैलियों का इस्तेमाल किया जाएगा. इसके साथ ही कुछ पैवेलियन बनाए जाएंगे. सरकार की योजना है कि 1200 एकड़ में बनने वाली नई अयोध्या में देश के सभी राज्यों का एक स्टेट गेस्ट हाउस भी हो.

यह भी पढे़ं : 'भारत माता की जय' के नारे पर 'दीदी' नाराज हो जाती हैं : पीएम मोदी

सरयू किनारे और लखनऊ अयोध्या हाइवे के किनारे बनने वाली नई अयोध्या में सरयू किनारे रिवरफ्रंट बनाने की भी योजना है. नई अयोध्या में इक्ष्वाकु वंश के राजाओं, खासतौर पर राम के जीवन से जुड़ी घटनाओं और वैश्विक स्तर पर उनकी उपस्थिति से जुड़े ऐतिहासिक तथ्यों को प्रदर्शित करने के लिए म्यूजियम भी बनेगा. नई अयोध्या सीएम योगी का ड्रीम प्रोजेक्ट है,जिसके लिए सरकारी तैयारियां अंतिम चरण में है.

First Published : 07 Feb 2021, 07:33:57 PM

For all the Latest States News, Uttar Pradesh News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.