News Nation Logo

वरुण गांधी ने 2 बहनों की मौत को लेकर डीजीपी को लिखा पत्र

पीलीभीत से भारतीय जनता पार्टी के सांसद वरुण गांधी ने उत्तर प्रदेश के पुलिस महानिदेशक को पत्र लिखकर 18 और 20 वर्षीय दो बहनों की हत्या की निष्पक्ष जांच की मांग की है. 22 मार्च को जसोली गांव में इन दोनों बहनों की हत्या कर दी गई थी.

IANS | Updated on: 28 Mar 2021, 05:41:56 PM
BJP MP Varun Gandhi

वरुण गांधी ने 2 बहनों की मौत को लेकर डीजीपी को लिखा पत्र (Photo Credit: IANS)

highlights

  • पीलीभीत से सांसद वरुण गांधी ने यूपी डीजीपी को लिखा पत्र
  • 18 और 20 वर्षीय दो बहनों की हत्या की निष्पक्ष जांच की मांग की
  • 22 मार्च को जसोली गांव में इन दोनों बहनों की हत्या कर दी गई थी

पीलीभीत:

पीलीभीत से भारतीय जनता पार्टी के सांसद वरुण गांधी ने उत्तर प्रदेश के पुलिस महानिदेशक को पत्र लिखकर 18 और 20 वर्षीय दो बहनों की हत्या की निष्पक्ष जांच की मांग की है. 22 मार्च को जसोली गांव में इन दोनों बहनों की हत्या कर दी गई थी. वरुण ने पत्र में लिखा कि उन्हें बिलासपुर के निवासियों ने घटना के बारे में सूचित किया और मामले में उनसे हस्तक्षेप करने की मांग की है. पुलिस ने इसे ऑनर किलिंग का मामला बताया है और मामले में मां और दो भाईयों के अलावा दो अन्य को नामजद किया है. स्थानीय निवासियों का दावा है कि परिवार के लोग निर्दोष हैं और उन्हें पुलिस द्वारा फंसाया जा रहा है.

किसी भी भाई का कोई आपराधिक इतिहास नहीं है. बड़ा भाई पिछले कुछ महीनों से अपनी बहन की शादी के लिए पैसे इकट्ठा कर रहा था. इससे पहले, पुलिस को एक शिकायत में, लड़कियों के छोटे भाई ने आरोप लगाया था कि ईंट भट्ठा मालिक, प्रबंधक और ठेकेदार ने उनकी बड़ी बहन को उनके साथ शारीरिक संबंध बनाने के लिए मजबूर किया था.

शिकायत के अनुसार, "उन्होंने उसके साथ दुष्कर्म किया होगा. उस रात, मेरी छोटी बहन ने उन तीनों को आपत्तिजनक स्थिति में देखा. आरोपी ने उसका गला घोंट दिया. उसके बाद सबूतों को नष्ट करने के लिए मेरी बड़ी बहन को पेड़ से लटका दिया."

दोनों बहनों के मृत पाए जाने के एक दिन बाद लड़कियों के परिवार ने कहा कि उन पर हत्या की बात कबूल करने का दबाव था. एक को पेड़ से लटका दिया गया और दूसरे को वहीं खेत में छोड़ दिया गया. लड़कियों की मां और छोटे भाई को 'ऑनर किलिंग' के लिए हिरासत में ले लिया गया. बड़ा भाई फरार है. विडंबना यह है कि ठेकेदार रामदास, जिन्हें परिवार द्वारा एक अभियुक्त के रूप में उल्लेख किया गया था, को मामले में एक चश्मदीद गवाह बनाया गया है.

तत्कालीन पीलीभीत के पुलिस अधीक्षक जय प्रकाश यादव ने ट्रांसफर किए जाने से पहले कहा था, "यह ऑनर किलिंग का मामला है. हमने इसे साबित करने के लिए सबूत एकत्र किए हैं." उन्होंने कहा था, "शव परीक्षण रिपोर्ट से पता चलता है कि छोटी बहन की मौत फांसी से हुई और बड़ी बहन की गला घोंटकर हत्या की गई है."

भाजपा सांसद ने स्थानीय पत्रकारों से कहा, "यह एक बहुत ही भयावह और दुखद मामला है और मैंने जिला प्रशासन को तुरंत न्याय दिलाने के लिए कहा है. तथ्यों को हटाना आसान नहीं है क्योंकि जो हुआ या जो हो सकता था उसके दो अलग-अलग पहलू हैं. मैंने तुरंत इस मामले की दोबारा जांच करने के लिए कहा है. नए पुलिस अधीक्षक ने पीलीभीत में कामकाज शुरु कर दिया है, और मैं उनसे अनुरोध करूंगा कि वह इस मामले को प्राथमिकता दें."

LIVE TV NN

NS

NS

First Published : 28 Mar 2021, 05:41:56 PM

For all the Latest States News, Uttar Pradesh News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.