News Nation Logo
Banner

यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ से मिले मीट कारोबारी, जल्द खत्म हो सकती है हड़ताल

सिद्धार्थ नाथ सिंह ने बताया, 'मीट व्यापारियों के प्रतिनिधि ने सीएम का समर्थन किया है और कहा है कि भारत का नागरिक होने के नाते हमारा फर्ज है कि कुछ भी गैरकानूनी नहीं हो।'

News Nation Bureau | Edited By : Vineet Kumar | Updated on: 31 Mar 2017, 06:47:45 AM
सिराजुद्दीन कुरैशी (Photo-ANI)

सिराजुद्दीन कुरैशी (Photo-ANI)

नई दिल्ली:

उत्तर प्रदेश में पिछले पांच दिनों हड़ताल पर बैठे मीट कारोबारियों जल्द ही काम पर लौट सकते हैं। गुरुवार को मीट कारोबारियों के एक प्रतिनिधिमंडल और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के बीच एक मुलाकात के बाद तस्वीर बदलती नजर आ रही है।

मुख्यमंत्री से मुलाकात के बाद मीट कारोबारियों के प्रतिनिधि सिराजुद्दीन कुरैशी ने कहा, 'मैं सभी से काम पर लौटने की अपील करता हूं। मेरी अपील है कि वे काम पर लौटे और लाइसेंस के साथ अपना काम शुरू करें। यूपी सरकार इसमें आपकी मदद करेगी।'

योगी आदित्यनाथ से मुलाकात पर कुरैशी ने बताया, 'मुख्यमंत्री के साथ हमारी मुलाकात सफल रही। उन्होंने भरोसा दिलाया कि लाइसेंस वाले बूचड़खानों को परेशान नहीं किया जाएगा।'

यूपी सरकार में मंत्री स्वास्थ्य मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह ने भी मीट कारोबारियों से मुलाकात पर कहा कि सभी व्यापारियों ने भरोसा दिया है कि कोई गैरकानूनी काम नहीं होगा।

यह भी पढ़ें: यूपी के बाद झारखंड में भी कई बूचड़खानों पर लगा ताला, 72 घंटे का दिया था अल्टीमेटम

सिद्धार्थ नाथ सिंह ने बताया, 'मीट व्यापारियों के प्रतिनिधि ने सीएम का समर्थन किया है और कहा है कि भारत का नागरिक होने के नाते हमारा फर्ज है कि कुछ भी गैरकानूनी नहीं हो।'

यह भी पढ़ें: यूपी: सीएम योगी आदित्यनाथ के फैसले का असर, चाय बेच रहे हैं मीट दुकानदार

गौरतलब है कि योगी आदित्यनाथ के सीएम बनते ही अवैध बूचड़खानों के खिलाफ सख्ती के बाद उत्तर प्रदेश में मीट कारोबारी हड़ताल पर चले गए थे।

बूचड़खाने बंद होने से इससे जुड़े करीब तीन करोड़ से अधिक लोगों के समक्ष रोजगार का संकट आ गया था। वहीं, पांच दिनों में इस करोबार के बंद होने से हर रोज करीब 1400 करोड़ रुपये का नुकसान भी होता रहा।

First Published : 30 Mar 2017, 09:07:00 PM

For all the Latest States News, Uttar Pradesh News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

×