News Nation Logo

यूपी एसटीएफ ने बैंक फ्रॉड करने वाले गिरोह का किया पर्दाफाश

उत्तर प्रदेश एसटीएफ की नोएडा यूनिट ने बैंक फ्रॉड करने वाले गैंग के सरगना समेत 4 लोगों को गिरफ्तार किया है. इन सभी पर आरोप है कि ये एक फर्जी कंपनी बना कर उसमें फर्जी दस्तावेजों के सहारे लोगों को नौकरी पर रखते थे.

News Nation Bureau | Edited By : Yogendra Mishra | Updated on: 07 Aug 2019, 05:05:44 PM
बरामद की गई सामग्री।

नोएडा:

उत्तर प्रदेश एसटीएफ की नोएडा यूनिट ने बैंक फ्रॉड करने वाले गैंग के सरगना समेत 4 लोगों को गिरफ्तार किया है. इन सभी पर आरोप है कि ये एक फर्जी कंपनी बना कर उसमें फर्जी दस्तावेजों के सहारे लोगों को नौकरी पर रखते थे. कुछ समय तक सैलरी रोटेट करने के बाद एम्पलॉइज के पर्सनल लोन/कार लोन लेकर फरार हो जाते थे.

यह भी पढ़ें- उत्तर प्रदेश में बारिश से पारा लुढ़का, आज भी बादल बरसने के आसार

इस तरीके से यह गैंग अब तक ICICI Bank से 2 करोड़ और सिटी बैंक से 10 लाख का फर्जी लोन करवा चुके हैं. नॉएडा में थाना फ़ेज़ 3 और थाना 20 में अभियोग पंजीकृत था. इसके अलावा ये दर्जनों फाइनेंस कंपनियों से भी फर्जी दस्तावेजों के सहारे करोड़ो रुपये का लोन ले चुके हैं. इस संगठित गिरोह के करीब 56 अकाउंट का खुलासा हुआ है. पुलिस ने पकड़े गए आरोपियों के करीब 22 लाख रुपये खातों में फ्रीज किया है. 60 हजार रुपये की नेपाली मुद्रा को जब्त किया गया है.

यह भी पढ़ें- उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ ने दी सुषमा स्वराज को श्रद्धांजलि

1 नेपाली पासपोर्ट, 2 नेपाली नागरिकता प्रमाणपत्र, 42 पैन कार्ड, 8 आधार कार्ड, 24 वोटर कार्ड, 56 ATM/ Debit कार्ड, 17 विभिन सरकारी डिपार्टमेंट और बैंको की मोहरें, 44 चेक बुक, 21 पास बुक, 4 गाड़ियाँ ( स्कॉर्पीओ, डस्टर, वैगनार, बाइक), 25 मोबाइल फ़ोन, 23,000 रुपये कैश, 3 रिक्त भारतीय ड्राइविंग लाइसेन्स बुक, 56 क्रेडिट कॉर्ड्ज़, टेकडेटा कम्पनी के 30 एम्प्लॉई कार्ड, अन्य महत्वपूर्ण काग़ज़ात भी जब्त किए गए हैं.

यह भी पढ़ें- UP में बकरों को बियर पिलाने का वीडियो वायरल, जानिए क्या है कारण 

एसटीएफ ने चार लोगों को गिरफ्तार किया है. सीतामढ़ी के मनोज कुमार, संजय ठाकुर, अनिमेश ठाकुर और अजीत शर्मा को गिरफ्तार किया गया है.

First Published : 07 Aug 2019, 05:05:44 PM

For all the Latest States News, Uttar Pradesh News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.