News Nation Logo

अखिलेश यादव के ऑफर पर केशव प्रसाद मौर्या ने दिया ये करारा जवाब

News Nation Bureau | Edited By : Deepak Pandey | Updated on: 07 Sep 2022, 07:30:14 PM
akhilesh keshav

उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य और अखिलेश य़ादव (Photo Credit: News Nation)

लखनऊ:  

उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्या ने बुधवार को बाराबंकी में अधिकारियों के साथ बैठक करके विकास कार्यों की समीक्षा की है. इस दौरान उन्होंने कहा कि सीएम योगी के नेतृत्व में उत्तर प्रदेश नए-नए कीर्तिमान स्थापित कर रहा है. प्रदेश में बड़े पैमाने पर निवेश आ रहा है. साथ ही केशव प्रसाद मौर्य ने भाजपा के नेताओं और कार्यकर्ताओं से मुलाकात करके उनमें मिशन 2024 को लेकर जोश भरा. इस दौरान उन्होंने अखिलेश यादव की उस बात का भी जवाब दिया, जिसमें उन्होंने डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य को 100 विधायक लाकर सीएम बनने का ऑफर दिया था.

यह भी पढ़ें : जम्मू-कश्मीर से कैदी बाहर की जेलों में शिफ्ट, आतंकी गतिविधि और नार्को टेरर में हैं बंद 

उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्या ने सपा के अध्यक्ष अखिलेश यादव को जवाब देते हुए कहा कि जिस तरह से पानी से निकलने के बाद मछली तड़पती है, उसी तरह अखिलेश यादव सत्ता के बिना तड़प रहे हैं. उन्होंने कहा कि समाजवादी पार्टी अब समाप्त वादी पार्टी हो गई है. उनके 100 विधायक खुद ही भारतीय जनता पार्टी में शामिल होने के लिए तैयार हैं, लेकिन हमें उन्हें तोड़ने की आवश्यकता नहीं है, क्योंकि हमारी सरकार पूर्ण बहुमत में अच्छे से चल रही है. उन्होंने कहा कि अखिलेश यादव केशव प्रसाद मौर्य के समर्थक नहीं है, वह भाजपा और पिछड़ों के विरोधी हैं. वह इस तरह की बयानबाजी करके मीडिया की सुर्खियों में बने रहना चाहते हैं.

केशव प्रसाद ने कहा कि अखिलेश यादव ने विधानसभा सत्र के दौरान भी मुझसे बेहद निंदनीय भाषा में बात की थी. जिस तरह से अखिलेश यादव बोले थे, वह किसी नेता की भाषा नहीं होती है. उन्होंने कहा कि अखिलेश यादव किसी भी पिछड़े वर्ग के नेता को नहीं चाहते कि वह आगे बढ़े और बड़ा बने. वह केवल फूट डालो और राज करो के सिद्धांत पर काम करना चाहते हैं, जबकि उनकी सत्ता में आने की यह मंशा 25 सालों तक पूरी नहीं होने वाली है.

यह भी पढ़ें : सोनाली फोगाट के परिवार से मुलाकात कर बोले CM- CBI जांच से सच आएगा सामने

2024 में होने वाले लोकसभा चुनाव के लिए बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की तैयारियों को लेकर भी केशव प्रसाद मौर्या ने बयान दिया. उन्होंने कहा कि 2019 के लोकसभा चुनाव में नीतीश कुमार की जेडीयू प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के चेहरे पर चुनाव लड़ी. 17 सीटों पर बीजेपी और 17 पर जेडीयू ने चुनाव लड़ा था, इसलिए जेडीयू के कुछ सांसदों की संख्या बिहार में दिखाई पड़ रही है. इससे पहले उन्होंने भारतीय जनता पार्टी का साथ छोड़कर चुनाव लड़ा था और तब दो सांसद ही जीत कर सामने आए थे.

उन्होंने कहा कि 2024 के लोकसभा चुनाव में जेडीयू अगर राष्ट्रीय जनता दल के साथ गठबंधन करके चुनाव लड़ेगी तो केवल पांच से ज्यादा सांसद नहीं जीत पाएंगे, लेकिन नीतीश कुमार को मुंगेरीलाल के सपने देखने से कोई नहीं रोक सकता. वह चाहे जितने दलों से मिले, लेकिन भानुमती का उनका कुनबा जुड़ने वाला नहीं है. उन्होंने कहा कि जब उनका कुनबा सामने आएगा तो एक दर्जन से ज्यादा लोग प्रधानमंत्री पद के दावेदार बनेंगे. ऐसे में पहले वो लोग तय कर लें कि उनकी तरफ से पीएम पद का दावेदार कौन बनेगा? 

यह भी पढ़ें : Jammu-Kashmir: अनंतनाग में पुलिस को मिली बड़ी सफलता, दो आतंकवादी ढेर

केशव प्रसाद ने कहा कि भाजपा की लहर नहीं आंधी चल रही है. 2014 से ज्यादा सांसद 2019 में जीते थे. 2019 से ज्यादा अकेले भाजपा के सांसद 2024 के लोकसभा चुनाव में जीतेंगे. हम अपने गठबंधन के साथ 2024 के लोकसभा चुनाव में ऐतिहासिक जीत दर्ज करेंगे.

First Published : 07 Sep 2022, 07:28:33 PM

For all the Latest States News, Uttar Pradesh News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.