News Nation Logo
Banner

योगी के घर पहुंचे भाई-बहन को मिला इंसाफ, सीएम के आदेश के बाद चंद घंटों में पुलिस ने आरोपी को धर दबोचा

दोनों भाई-बहन का आरोप है कि अमित ठाकुर नाम के शख्स ने आपसी रंजिश में उनके पिता की हत्या कर दी, जिसके वो दोनों गवाह हैं।

News Nation Bureau | Edited By : Sonam Kanojia | Updated on: 28 Mar 2017, 12:13:00 AM
धरने पर बैठे दोनों भाई बहन

धरने पर बैठे दोनों भाई बहन

बुलंदशहर:

यूपी के नए मुख्यमंत्री बनने के बाद सीएम आदित्यनाथ राज्य में कानून-व्यवस्था की हालत में सुधार लाने के लिए लगातार फैसले ले रहे हैं। लेकिन लखनऊ में उनके अस्थायी आवास के सामने ही दो-भाई बहने अपने पिता के हत्यारों के खिलाफ न्याय की आस लिए धरने पर बैठे हुए थे। हालांकि जब सीएम आदित्यनाथ को इस बात की जानकारी मिली तो वो दोनों से मिले और इसके बाद पुलिस फुर्ती दिखाते हुए चंद घंटे में आरोपी को गिरफ्तार कर लिया।

जानकारी के मुताबिक, दोनों भाई बहन प्राची और शुभम शर्मा बुलंदशहर के रहने वाले हैं। शुभम और प्राची सोमवार को इंसाफ मांगने के लिए लखनऊ पहुंचे और योगी के घर के बाहर ही धरने पर बैठ गए। दोनों भाई-बहन का आरोप है कि अमित ठाकुर नाम के शख्स ने आपसी रंजिश में उनके पिता की हत्या कर दी, जिसके वो दोनों गवाह हैं। लेकिन इसके बावजूद उन्हें इंसाफ नहीं मिल रहा है।

ये भी पढ़ें: यूपी सरकार का स्पष्टीकरण, वैध बूचड़खानों के खिलाफ कार्रवाई नहीं, सरकार NGT के निर्देश का कर रही पालन

योगी ने दोनों भाई-बहन से मिलकर उन्हें न्याय का भरोसा दिलाया। वहीं, इस खबर को न्यूज नेशन और न्यूज स्टेट ने कवर किया, जिसका काफी बड़ा असर पड़ा। इसके बाद जब बुलंदशहर पुलिस पर दबाव पड़ा तो कुछ ही घंटों में पुलिस ने आरोपी को धर दबोचा। उसके साथ 3 सह अभियुक्त को भी गिरफ्तार किया गया है।

ये भी पढ़ें: केजरीवाल को झटका, आप छोड़ BJP में शामिल हुए बवाना विधायक वेद प्रकाश

पुलिस का कहना है कि मुख्य आरोपी अभी भी फरार है। उस पर 15 हजार का ईनाम भी है। आरोपी की तलाश जारी है।

ये भी पढ़ें: पाकिस्तानी परिवार ने 10 भारतीयों को किया माफ, बच सकते हैं फांसी से

First Published : 28 Mar 2017, 12:08:00 AM

For all the Latest States News, Uttar Pradesh News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

×