News Nation Logo
Banner

शाहीन बाग में दादी और नानी को बैठाने वाले राक्षस, उमा भारती का बड़ा बयान

उमा भारती ने कहा कि राम मंदिर ट्रस्ट में पिछड़े वर्ग को प्रतिनिधित्व नहीं मिला है. ये बात मैं पहले भी कह चुकी हूं और आज भी इस बात से इनकार नहीं है

News Nation Bureau | Edited By : Sushil Kumar | Updated on: 29 Feb 2020, 02:37:03 PM
uma bharti

उमा भारती (Photo Credit: न्यूज स्टेट)

अयोध्या:

पूर्व केंद्रीय मंत्री और बीजेपी नेता उमा भारती (Uma Bharti) शनिवार को रामलला के दर्शन करने अयोध्या पहुंचीं. इस दौरान उन्होंने कहा कि मैं शुरू से इस आंदोलन से जुड़ी हूं. आज मेरा सपना पूरा हो रहा है. मुझे रामचंद्र परमहंस जी की याद आ रही है, जब ये कार्य सिद्ध हो गया है. जिन लोगों ने भी आंदोलन में भागीदारी की है, उनका अभिनन्दन होना चाहिए. मुझे भी बाबरी विध्वंस में आरोपी बनाया गया. मेरे खिलाफ भी मुकदमा चल रहा है. इससे साबित होता है कि मेरी सरकार राम के आदर्शों पर चल रही है. उन्होंने कहा कि रामलला सबके हैं. राम मंदिर ट्रस्ट (Ram Mandir trust) में पिछड़े वर्ग को प्रतिनिधित्व नहीं मिला है. ये बात मैं पहले भी कह चुकी हूं और आज भी इस बात से इनकार नहीं है.

यह भी पढ़ें- बेवफा हो रही हैं महिलाएं, पतियों को धोखा देकर कर रही हैं ये काम

रामलला से आंख मिला पाऊंगी- उमा भारती

उन्होंने कहा कि मेरा जीवन धन्य हो गया है, भव्य रामन्दिर का निर्माण देखने को मिलेगा. आज रामलला से आंख मिला पाऊंगी. इसके बाद उन्होंने शाहीन बाग में चल रहे धरना प्रदर्शन को लेकर उन्होंने कहा कि शाहीनबाग में बैठीं दादी और नानी देवियां हैं. लेकिन साजिशन उन्हें सड़क पर बैठाने वाले राक्षस हैं. बता दें कि अयोध्या में राम मंदिर निर्माण की कवायद शुरू हो चुकी है. इसके निर्माण और तारीख की घोषणा के लिए राम जन्मभूमि निर्माण ट्रस्ट (Ram Mandir Nirman Samiti) के भवन निर्माण समिति के चेयरमैन नृपेंद्र मिश्रा (Nripendra Mishra) शनिवार को हनुमानगढ़ी पहुंच गए. उन्होंने रामलला के दर्शन कर उनका आशीर्वाद लिया. उन्होंने अयोध्या में राम जन्मभूमि के जमीन समतलीकरण के काम का जायजा भी लिया. नृपेंद्र मिश्रा ने शुक्रवार ही मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मुलाकात की थी. इन दौरान दोनों के बीच अयोध्या में राम मंदिर निर्माण को लेकर चर्चा की गई.

यह भी पढ़ें- राजद्रोह मामले की फास्ट ट्रैक कोर्ट में हो सुनवाई : कन्हैया कुमार

नृपेंद्र मिश्रा, गोपाल दास व ट्रस्ट के अन्य सदस्यों के साथ बैठक करेंगे

राम मंदिर का निर्माण कैसे और किस कंपनी के द्वारा कराया जाए इस पर भी बातचीत की जा सही है. बैठक में मंदिर के भवन निर्माण के लिए उसके मॉडल, डिजाइन, निर्माण की अवधि, लागत आदि के बारे में विस्तार से चर्चा होने की संभावना है. अयोध्या दौरे पर नृपेंद्र मिश्रा राम मंदिर तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के अध्यक्ष महंत नृत्य गोपाल दास व ट्रस्ट के अन्य सदस्यों के साथ बैठक करेंगे. इसी बैठक में यह भी तय होगा कि मंदिर निर्माण शुरू करने के लिए भूमि पूजन आगामी 2 अप्रैल को राम नवमी के दिन करवाया जाए या फिर अप्रैल के अंत में पड़ने वाली अक्षय तृतीया को.

यह भी पढ़ें- मुख्यमंत्री के ट्वीट के बाद फिरे दिन, पहले गोभी का पत्ता और भात खाकर गुजारा कर रहे थे

रामलला को नए अस्थायी भवन में शिफ्ट करने की योजना को फाइनल रूप दिया जाएगा

माना जा रहा है कि नृपेंद्र मिश्र के अयोध्या आगमन के बाद ही रामलला को नए अस्थायी भवन में शिफ्ट करने की योजना को फाइनल रूप दिया जाएगा. वे राममंदिर निर्माण से जुड़ी अन्य व्यवस्थाओं की भी समीक्षा करेंगे, जिसको लेकर अधिकारियों ने तैयारी भी शुरू कर दी है. उधर, अस्थाई राममंदिर के लिए गुरुवार को भी परिसर में काम जारी रहा. ट्रस्ट की ओर से पीडब्लूडी से अस्थाई राममंदिर के लिए साफ-सफाई व्यवस्था व अन्य कार्यों के लिए कर्मचारियों की मांग की गई है.

First Published : 29 Feb 2020, 02:23:53 PM

For all the Latest States News, Uttar Pradesh News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

×