News Nation Logo

तीर्थ बटेश्वर में पहुंचे हजारों श्रद्धालु, हर-हर महादेव के जयकारों से गूंजा मंदिर

आगरा जनपद के बाह क्षेत्र के तीर्थ बटेश्वर में सावन माह में हर सोमवार को लगने वाले विशाल मेले में श्रद्धालु भोले के मंदिर में पहुंचते हैं. यहां वह भगवान शंकर पर गंगाजल से जलाभिषेक कर अपनी मनोकामना की कामना करते हैं.

News Nation Bureau | Edited By : Yogendra Mishra | Updated on: 05 Aug 2019, 06:55:55 PM
प्रतीकात्मक फोटो।

आगरा:

आगरा जनपद के बाह क्षेत्र के तीर्थ बटेश्वर में सावन माह में हर सोमवार को लगने वाले विशाल मेले में श्रद्धालु भोले के मंदिर में पहुंचते हैं. यहां वह भगवान शंकर पर गंगाजल से जलाभिषेक कर अपनी मनोकामना की कामना करते हैं. वहीं सावन के तीसरे सोमवार को तीर्थ बटेश्वर में विशाल मेला का आयोजन होता है जिसमें हजारों लाखों की संख्या में लोग दूरदराज से भगवान के दर्शनों के लिए आते हैं.

इसी क्रम में सावन माह के तीसरे सोमवार को रविवार रात से ही श्रद्धालुओं ने भगवान के दरबार में हजारों की संख्या में डेरा डाल रखा था. जहां भोले के भक्त मध्य प्रदेश, राजस्थान, उत्तर प्रदेश के निम्न शहर देहात से भारी संख्या में श्रद्धालु भगवान के दर्शनों को पहुंचे.

यह भी पढ़ें- धारा 370 हटते ही बीजेपी के इन जिलों में हाई अलर्ट, डीएम एसपी सड़क पर

वहीं सैकड़ों की संख्या में कांवड़िए सोरो घाट से गंगाजल भरकर पहुंचे जहां रविवार रात्रि 12:00 बजे से भगवान ब्रह्म लाल महाराज भोलेनाथ पर गंगाजल का जलाभिषेक शुरू हो गया. श्रद्धालुओं ने भगवान भोलेनाथ के मंदिर में गंगाजल का जलाभिषेक कर भगवान से अपने परिवार की सुख-समृद्धि और सुख जीवन की मनोकामना कर आशीर्वाद प्राप्त किया.

यह भी पढ़ें- उन्नाव रेप पीड़िता को एयरलिफ्ट करके दिल्ली लाने का आदेश, एम्स में होगा इलाज

बम भोले के जयकारों से तीर्थ बटेश्वर गुंजायमान हो गया. वहीं सावन के तीसरे सोमवार में बटेश्वर में श्रद्धालुओं का रेला उमड़ता है. जिसके लिए पुलिस द्वारा विशेष इंतजाम किए जाते हैं, लोकल में रहने वाले सभी ग्रामीण श्रद्धालु हजारों की संख्या में भगवान के दर पर दर्शन करने पहुंचते हैं. तो वहीं कांवरियों का भी रेला तीसरे सोमवार को अधिक रहता है.

यह भी पढ़ें- सख्ती से बचने के लिए हाईकोर्ट पहुंचे आजम, अग्रिम जमानत की याचिका दायर की 

पुलिस अधिकारियों द्वारा बटेश्वर में श्रद्धालुओं के लिए विशेष व्यवस्था की जाती है ताकि कोई अव्यवस्था ना फैले. भारी मात्रा में फोर्स भी तैनात किया जाता है. वाहनों के लिए विशेष तरीके से पार्किंग व्यवस्था की जाती है ताकि कोई जाम की स्थिति ना लग सके. जिसके लिए पुलिस द्वारा बैरिकेडिंग की व्यवस्था भी की जाती है और श्रद्धालुओं को एक-एक कर मंदिर में प्रवेश की अनुमति होती है.

यह भी पढ़ें- सपा से राज्यसभा सांसद संजय सेठ ने दिया इस्तीफा, ज्वाइन करेंगे बीजेपी 

यमुना के घाटों पर पीएससी गोताखोरों की तैनाती की गई थी ताकि यमुना में स्नान करने वाले लोग गहरे पानी में जाकर किसी अनहोनी का शिकार न हो सकें. जिसके लिए विशेष व्यवस्था की गई. मंदिर पुजारी श्री प्रकाश गोस्वामी के अनुसार जो भी भोले के दर आया उसे सब कुछ प्राप्त हुआ. निसंतान को संतान प्राप्त होती है, निर्धन को धन, साल भर में लाखों लोग भगवान के दरबार में दर्शन करने के लिए आते हैं और भगवान से प्रार्थना करते हैं.

First Published : 05 Aug 2019, 06:55:55 PM

For all the Latest States News, Uttar Pradesh News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो