News Nation Logo

कानून-व्यवस्था पर खतरा बनने वालों का कर देंगे जीना मुश्किल: CM YOGI

IANS | Edited By : IANS | Updated on: 19 Oct 2022, 04:39:38 PM
CM YOGI

(source : IANS) (Photo Credit: (source : IANS))

देवरिया:  

यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि कोई भी यदि प्रदेश के सौहार्द व महिलाओं की सुरक्षा पर खतरा बनेगा तो उसके लिए पुलिस खतरा बन जाएगी. कोई भी गफलत में न रहे. यदि कोई अपराधी गफलत में है तो उसे गफलत छोड़ देनी होगी. हम कानून व्यवस्था पर खतरा बनने वालों का जीना मुश्किल कर देंगे.

सीएम योगी मंगलवार को देवरिया जिले के पथरदेवा स्थित आचार्य नरेंद्र देव इंटर कॉलेज परिसर में जनसंघ के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष व प्रदेश सरकार के पूर्व मंत्री स्व. रवींद्र किशोर शाही की 40वीं पुण्यतिथि पर आयोजित तीन दिवसीय एग्रो क्लाइमेटिक जोन स्तरीय वृहद किसान मेला के शुभारंभ एवं 477.46 करोड़ रुपये की विकास परियोजनाओं के शिलान्यास-लोकार्पण समारोह को संबोधित कर रहे थे. मुख्यमंत्री ने कहा कि केंद्र व प्रदेश की डबल इंजन सरकार विकास की राह पर चलते हुए युवा उत्थान, महिला सुरक्षा, अन्नदाता किसानों के कल्याण समेत समाज के हर वर्ग को लाभान्वित करने के व्यापक संकल्पों के साथ आगे बढ़ रही है. उन्होंने कहा कि 477 करोड़ों रुपए के विकास कार्य दिवाली का लघु उपहार हैं. इससे बड़ा उपहार देने हम फिर आएंगे. कहा कि पिछले साढे पांच सालों में उत्तर प्रदेश की कानून व्यवस्था सु²ढ़ हुई है और इसका लाभ विकास के रूप में मिला है. अपराध और अपराधियों के खिलाफ सरकार जीरो टॉलरेंस की नीति पर कायम है.

मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार विकास प्रक्रिया को आगे बढ़ाने के साथ आपदा का मजबूती से सामना करने के लिए संकल्पित है. जब सरकार आपके साथ में खड़ी है तो कोई भी आपदा आपका बाल बांका नहीं कर पाएगी. हर बाढ़ पीड़ित तक राशन किट उसके घर तक पहुंचाया जा रहा है भरपूर सहायता करते हुए डबल इंजन की सरकार किसानों को हुई फसलों की क्षति का सर्वे कराकर मुआवजा भी देने जा रही है.

सीएम योगी ने कहा कि हम थोड़ा सा प्रयास कर लें तो देवरिया, कुशीनगर, गोरखपुर व महाराजगंज की धरती सोना उगलने का काम कर सकती है. उत्तर प्रदेश की भूमि पूरे देश की सबसे उर्वरा भूमि है. यहां का जल संसाधन भी सबसे अच्छा है. देवरिया, कुशीनगर में तो 10 फीट पर पानी मिल जाता है. बस आवश्यकता है उचित नियोजन व समयानुकूल तकनीकी को अपनाने की.

मुख्यमंत्री ने कहा कि आने वाले समय में विश्व के सामने खाद्यान्न संकट हो सकता है. इसे देखते हुए हमें प्राकृतिक खेती की ओर उन्मुख होने की आवश्यकता है. प्राकृतिक खेती गो आधारित खेती है और इससे कम लागत में अधिक उत्पादन मिलता है. विषमुक्त प्राकृतिक खेती को बढ़ावा मिलेगा तो भारतीय कृषि उत्पाद पूरी दुनिया में छा जाएंगे. कृषि उत्पादों का निर्यात बढ़ेगा तो देश की तो आमदनी होगी किसान भी आर्थिक रूप से समुन्नत होंगे.

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने राष्ट्रीय शिक्षा नीति (एनईपी) की चर्चा करते हुए कहा कि इस नीति के तहत हर जिले में विश्वविद्यालय बनने हैं. राष्ट्रीय शिक्षा नीति में सभी प्रकार के पाठ्यक्रमों को एक साथ आगे बढ़ाने का प्रावधान किया गया है. राष्ट्रीय शिक्षा नीति से युवाओं को स्किल डेवलपमेंट, खाद्यान्न उत्पादन व पशुपालन के क्षेत्र में भी आगे बढ़ने को अनेक अवसर मिलेंगे.

First Published : 19 Oct 2022, 04:39:38 PM

For all the Latest States News, Uttar Pradesh News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.