News Nation Logo
Banner

BHU में फिर बवाल, सड़कों पर उतरे छात्र, प्रशासन के खिलाफ खोला मोर्चा

बनारस हिंदू विश्वविद्यालय (बीएचयू) के छात्रों ने निलंबित प्रोफेसर एस.के. चौबे को कथित तौर पर फिर से बहाल करने का विरोध किया है.

By : Dalchand Kumar | Updated on: 15 Sep 2019, 01:26:24 PM
बनारस हिंदू विश्वविद्यालय के छात्रों का प्रदर्शन (फोटो- News State)

बनारस हिंदू विश्वविद्यालय के छात्रों का प्रदर्शन (फोटो- News State)

वाराणसी:

बनारस हिंदू विश्वविद्यालय (बीएचयू) के छात्रों ने निलंबित प्रोफेसर एस.के. चौबे को कथित तौर पर फिर से बहाल करने का विरोध किया है. प्रोफेसर कुछ छात्राओं को शर्मसार करने वाले और भद्दी टिप्पणियां करने के मामले में दोषी पाए गए थे. चौबे की बर्खास्तगी की मांग को लेकर छात्राओं ने शनिवार रात को धरना शुरू कर दिया. तख्तियां लेकर छात्राओं ने बीएचयू प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी की. हालांकि, विश्वविद्यालय प्रशासन ने कहा कि प्रोफेसर वर्तमान में प्रतिबंधित हैं और जिम्मेदारी का कोई पद नहीं संभाल सकते हैं.

यह भी पढ़ेंः मंत्रियों की पाठशाला में सीएम योगी बोले- उत्तर प्रदेश को बनाएंगे 1 ट्रिलियन डॉलर इकॉनमी

बीएचयू के रजिस्ट्रार नीरज त्रिपाठी ने कहा कि उन्हें पहले निलंबित कर दिया गया था, लेकिन अब प्रतिबंधित कर दिया गया है. इस मामले को फिर से बीएचयू में निर्णय लेने वाले शीर्ष निकाय तक ले जाया जाएगा. त्रिपाठी ने कहा कि उपकुलपति ने शिकायत का संज्ञान लिया और उन्हें निलंबित कर दिया. एक जांच समिति ने बाद में एक रिपोर्ट दायर की और बीएचयू के निर्णय लेने वाले सर्वोच्च निकाय ने प्रोफेसर पर प्रतिबंध लगा दिया है. वह न तो बीएचयू में जिम्मेदारी का पद संभाल सकते हैं और न ही किसी कार्यक्रम में शामिल हो सकते हैं और न किसी अन्य कॉलेज या विश्वविद्यालय में आवेदन कर सकते हैं.

यह भी पढ़ेंः ड्राइविंग लाइसेंस के बाद अब आरसी भी स्मार्ट कार्ड में होगी तब्दील, UP सरकार उठाने जा रही है ये कदम

बता दें कि छात्राओं ने शिकायत की थी कि अक्टूबर 2018 में पुणे दौरे के दौरान चौबे ने कुछ लड़कियों पर आपत्तिजनक और भद्दी टिप्पणियां की थीं. छात्राओं ने दौरे से लौटने के बाद प्रोफेसर के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई. बीएचयू प्रशासन ने आरोपों की जांच के लिए एक समिति गठित की जिसके बाद प्रोफेसर को निलंबित कर दिया गया. समिति ने छात्राओं के बयानों के आधार पर अपनी रिपोर्ट तैयार की, उसमें चौबे को दोषी पाया गया.

यह वीडियो देखेंः 

First Published : 15 Sep 2019, 01:26:24 PM

For all the Latest States News, Uttar Pradesh News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.